अलीगढ़ (जेएनएन)। चुनाव को लेकर प्रशासनिक तैयारियों जोरों पर चल रही हैं। इस बार 15 हजार से अधिक कार्मिकों की ड्यूटी इसमें लगाई गई है। इसके लिए इन कर्मचारियों को जानकारी भी दे दी गई है। ऐसे में अब ड्यूटी कटवाने के लिए सिफारिशों का दौर भी शुरू हो गया है। हर रोज दर्जनों लोग सीडीओ व डीएम के पास पहुंच रहे हैं। हालांकि अभी अफसर भी इन्हें आश्वासन देकर टरका ही रहे हैं।

एक बूथ पर चार लोग

निर्वाचन विभाग में अफसर व कर्मचारियों की श्रेणी के हिसाब से ड्यूटी लगाई गई है। इसमें एआरओ, सेक्टर मजिस्ट्रेट, जोनल मजिस्ट्रेट के साथ ही पोलिंग पार्टियां शामिल हैं। एक पोलिंग पार्टी में कुल चार लोग होंगे। इसमें एक पीठासीन अधिकारी के साथ ही तीन अन्य होंगे। ऐसे में कुल 3020 बूथों पर चुनाव संपन्न कराने के लिए 15 हजार कर्मचारी लगाए गए गए हैं।

21 अप्रैल को है शादी

शहर के अतरौली निवासी राम कुमार शर्मा राजस्व विभाग में तैनात हैं। दो साल पहले ही इनकी नौकरी लगी थी। पिछले दिनों शादी भी तय हो गई। अब 21 अप्रैल को शादी है, लेकिन निर्वाचन विभाग से चुनाव में इनकी डयूटी लगा दी है। ऐसे में अब डयूटी कटवाने के लिए परेशान हैं। शनिवार को डीएम के यहां भी इन्होंने एक ज्ञापन दिया।

बेटी की है शादी

अकराबाद निवासी प्रेमलता कुमारी (51 साल) शिक्षक हैं। बुजुर्ग होने के चलते इनकी तबियत भी खराब रहती है। इसके साथ ही अप्रैल महीने में इनके घर में बेटी की शादी भी है। इसके बाद भी निर्वाचन विभाग की ओर से इनकी ड्यूटी चुनाव में लगा दी गई है। अब यह ड्यूटी कटवाने के लिए परेशान हैं।

अहम बातें

-ड्यूटी कटवाने के लिए कलक्ट्रेट में अफसरों के चक्कर लगा रहे कर्मचारी

-15 हजार से अधिक कर्मचारियों को लगाया जा रहा है चुनाव में

आपात स्थिति में ही कटेगी डयूटी

सहायक निर्वाचन अधिकारी कौशल कुमार बताते हैं कि चुनाव को लेकर आयोग इस बार बेहद सख्त है। ऐसे में आपात स्थिति में ही ड्यूटी कटेंगी।

Posted By: Mukesh Chaturvedi

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस