रांची, राज्य ब्यूरो। Jharkhand Lok Sabha Election 2019 - झारखंड में लोकसभा चुनाव के तहत दूसरे चरण की चारों सीटों रांची, खूंटी, कोडरमा तथा हजारीबाग में हुए मतदान में शुरू में मतदाताओं का काफी उत्साह दिखा। सभी सीटों पर बड़ी संख्या में मतदाता अपने-अपने घरों से निकलकर वोट देने निकले। हालांकि बाद में इसमें कमी आ गई। मतदान के आंकड़े बताते हैं कि दोपहर एक बजे तक मतदान फीसद तेजी से बढ़ा। इसके बाद मतदान सुस्त हो गया।

इसका एक कारण तापमान का बढऩा बताया जाता है। हालांकि गर्मी उतनी नहीं थी जिससे मतदाता अपने घरों से नहीं निकल सके। एक कयास यह भी लगाया जा रहा है कि  बाद में सीबीएसई दसवीं के परिणाम जारी होने का असर भी मतदान पर पड़ा। कहा जा रहा है कि दोपहर बाद बड़ी संख्या में मतदाता पहले तो अपने बच्चों के रिजल्ट के इंतजार में रहे, बाद में रिजल्ट निकलने के बाद अच्छे परिणाम के जश्न में जुट गए। इसी कारण, सभी सीटों पर एक बजे तक प्रत्येक दो घंटे पर जारी हो रहे मतदान फीसद में एक समान बढ़ोत्तरी दर्ज की गई। इसके बाद मतदान फीसद में उतनी वृद्धि दर्ज नहीं हुई। 

कब कितना फीसद हुआ मतदान

  • सीट - 9 बजे  - 11 बजे -  01 बजे  - 3 बजे  - 4 बजे (फाइनल)
  • रांची  15.69  30.05  44.69  55.34  63.38
  • खूंटी  12.85  27.21  45.88  57.77  65.22
  • कोडरमा  11.94  30.08  48.70  60.21  65.70
  • हजारीबाग 8.10  29.05  44.56  61.32  62.91
  • कुल  12.22  29.49  45.98 58.63  64.23

शांतिपूर्ण रहा दूसरे चरण का मतदान, 71 फीसद से अधिक दिव्यांग मतदाताओं ने दिए वोट
मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी एल खियांग्ते तथा पुलिस नोडल पदाधिकारी आशीष बत्रा के अनुसार, सोमवार को चार सीटों पर कोई भी मतदान केंद्र ऐसा नहीं रहा, जहां विधि व्यवस्था की कमी या नक्सल समस्या से मतदान बाधित हुआ। कहीं-कहीं सिर्फ ईवीएम या वीवीपैट में खराबी से ही मतदान प्रभावित हुआ, लेकिन उन्हें समय पर ठीक कराकर मतदान शुरू कराया गया। दोनों पदाधिकारी मतदान समाप्ति के बाद मीडिया से रूबरू हो रहे थे। मौके पर अपर मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी विनय कुमार चौबे और अमिताभ कौशल भी उपस्थित थे।

लगातार दूसरे चरण में भी पूरी तरह शांतिपूर्ण मतदान होने से उत्साहित पदाधिकारियों ने कहा कि दूसरे चरण में भी कई क्षेत्र नक्सल कारणों से अतिसंवेदनशील थे। लेकिन तमाड़ में दो ट्रैक्टरों के जलाने के अलावा कोई अन्य घटना की सूचना नहीं है। पूरी तरह भयमुक्त और सुरक्षित वातावरण में मतदाताओं ने अपने मताधिकार का प्रयोग किया। पदाधिकारियों ने कहा कि अगले चरण में गिरिडीह और बोकारो जिले में कई मतदान केंद्र नक्सल प्रभावित क्षेत्रों में हैं। वहीं चौथे व अंतिम चरण में भी संताल परगना की तीनों सीटों पर कुछ बूथ अति संवेदनशील हैं। उनके अनुसार, इन क्षेत्रों में भी सुरक्षा की पुख्ता व्यवस्था की जाएगी और उम्मीद है कि दोनों चरणों में भी शांतिपूर्ण मतदान होगा।

इधर, मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी ने बताया कि चारों सीटों पर मतदान फीसद में बढ़ोतरी हुई है। पीठासीन पदाधिकारियों की अंतिम रिपोर्ट आने के बाद मतदान फीसद (64.23) में कुछ और वृद्धि होने की उम्मीद है। उनके अनुसार, 71 फीसद से अधिक दिव्यांग मतदाताओं ने अपने मताधिकार का प्रयोग किया। रांची में कुल 7,729 दिव्यांग मतदाताओं में 79.09, खूंटी में 6,809 दिव्यांग मतदाताओं में 70.83, कोडरमा में 7,501 ऐसे मतदाताओं में 72.39 तथा हजारीबाग में 11,946 दिव्यांग मतदाताओं में 62.07 फीसद ने मतदान किया।

लोकसभा चुनाव और क्रिकेट से संबंधित अपडेट पाने के लिए डाउनलोड करें जागरण एप

Posted By: Alok Shahi

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप