भुवनेश्वर, जेएनएन। Lok Sabha Election 2019 ओडिशा के केंद्रपाड़ा में रविवार को एक चुनावी रैली में ओडिशा के सीएम नवीन पटनायक ने बीजू जनता दल (बीजद) की महिला प्रत्याशियों के लिए लोकसभा चुनाव की सीटों में 33 फीसद आरक्षण की घोषणा की। ऐसा पहली बार हुआ है जब किसी राजनीतिक दल ने महिलाओं को सीटों पर आरक्षण दिया है। बीजद अध्यक्ष ने कहा कि यह कदम महिलाओं के सशक्तीकरण में ऐतिहासिक साबित होगा। पटनायक के फैसले का मतलब है कि 21 लोकसभा सीटों में से पार्टी 7 पर महिलाओं को प्रत्याशी बनाएगी। मौजूदा समय में ओडिशा से तीन महिलाएं लोकसभा सांसद हैं। बीजद ने 2014 में 21 में से 20 सीटों पर जीत हासिल की थी। 

आम चुनाव की घोषणा होने से ठीक पहले ओडिशा के मुख्यमंत्री नवीन पटनायक ने महिला कार्ड खेलते हुए विरोधी दलों के सामने कड़ी चुनौती पेश कर दी है। केंद्रपाड़ा जिला के बारुआ स्थित सिद्धमठ मैदान में रविवार को आयोजित मिशन शक्ति सम्मेलन में भाग लेते हुए ओडिशा के मुख्यमंत्री तथा बीजद सुप्रीमो नवीन पटनायक ने कहा है कि बीजू जनता दल ओडिशा में महिला प्रत्याशियों के लिए लोकसभा चुनाव की सीटों में 33 फीसद आरक्षण देगा।

मुख्यमंत्री ने कहा कि महिला सशक्तिकरण के क्षेत्र में ओडिशा पूरे देश को रास्ता दिखाने का काम कर रहा है। महिला सशक्तिकरण के क्षेत्र में राष्ट्रीय दल जो कहते हैं, उन्हें उसका पालन करना चाहिए। केंद्रपाड़ा की धरती बीजू बाबू की धरती है। महिला सशक्तिकरण पर बीजू बाबू ने सदैव फोकस रखा था। इस सम्मेलन में कटक जिला से 4 एवं केंद्रपाड़ा जिला से 9 ब्लाक की लाखों की संख्या में महिलाओं ने भाग लिया था।

मुख्यमंत्री ने इस अवसर पर केंद्रपाड़ा में मिशन शक्ति के प्रशासनिक कार्यालय निर्माण के लिए एक करोड़ रुपया प्रदान किया। इसके साथ ही मछली पालन करने वाले स्वयंसहायक गोष्ठी को मुख्यमंत्री ने इस सम्मेलन में सम्मानित करने के साथ ब्लाक स्तरीय महासंघ को 25-25 लाख रुपये भी प्रदान किए। 

 

गौरतलब है कि राहुल गांधी के ओडिशा दौरे के एक दिन बाद ही कांग्रेस को सूबे में एक और बड़ा झटका लगा है। वरिष्ठ कांग्रेस नेता सह पूर्व मुख्यमंत्री हेमानंद विश्वाल की बेटी सुनीता विश्वाल शनिवार को बीजू जनता दल (बीजद) में शामिल हो गई। भुवनेश्वर स्थित नवीन निवास में मुख्यमंत्री नवीन पटनायक की उपस्थिति में आयोजित समारोह में सुनीता ने बीजद की सदस्यता ग्रहण की। इस अवसर पर हाल ही में कांग्रेस छोड़कर बीजद में शामिल हुए झारसुगुड़ा के पूर्व विधायक नवकिशोर दास भी उपस्थित थे।

इस मौके पर सुनीता ने कहा कि कांग्रेस के साथ उनकी कोई समस्या नहीं थी। नवीन के नेतृत्व के प्रति आकर्षित होकर वह बीजद में शामिल हुई हैं। वहीं मुख्यमंत्री नवीन पटनायक ने कहा कि इससे पार्टी और मजबूत होगी। सुनीता सुंदरगढ़ जिला कांग्रेस की कार्यकारी अध्यक्ष थी। ऐसे में उनके कांग्रेस छोड़ने के बाद पार्टी को चुनाव से पहले एक और झटका माना जा रहा है।

ओडिशा की अन्य खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

Posted By: Sachin Mishra

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस