लखनऊ [अजय श्रीवास्तव]। एक दिन पहले ही रात में कार्यक्रम फाइनल हो जाता है। पंकज सिंह कहां जाएंगे और नीरज सिंह कहां। केंद्रीय गृहमंत्री व लखनऊ संसदीय सीट से भाजपा उम्मीदवार राजनाथ सिंह के दोनों बेटे चुनाव प्रबंधन से लेकर प्रचार का जिम्मा संभाले हैं। उनके दिन भर के कार्यक्रम तय रहते हैं और दोपहर में ही पेट पूजा का मौका मिलता है। बेटों के साथ ही राजनाथ सिंह की पत्नी सवित्री सिंह को भी वोट मांगने के लिए सुबह ही घर छोडऩा पड़ता है। परिवार के अन्य सदस्य भी चुनाव में ही जुटे हैं। 

लखनऊ संसदीय सीट पर प्रमुख तीन उम्मीदवारों के प्रचार का जिम्मा परिवार वालों ने भी उठा रखा है। विभिन्न संगठनों के अलावा आवासीय समितियों के साथ जनसंपर्क किया जा रहा है। सपा-बसपा गठबंधन की सपा उम्मीदवार पूनम सिन्हा का नामांकन कराने के बाद उनके पति शत्रुघ्न सिन्हा पटना साहिब संसदीय सीट से अपना चुनाव लडऩे चले गए हैं, लेकिन वहां से वह पत्नी का प्रचार मैनेज कर रहे हैं। वह यहां फिर आएंगे और पांच चुनावी सभाओं के साथ ही प्रचार भी करेंगे। पूनम सिन्हा के दो बेटे लव और कुश हैं।

कुश मम्मी का प्रचार संभाले हैं और सोशल मीडिया के माध्यम से हर मतदाता तक पहुंच रहे हैं। वह पूनम के हर जनसंपर्क में साथ रहते हैं और खुद ही फोटो खींचने के साथ ही वीडियो बनाते हैं। उनके साथ एक टीम भी रहती है जो कैमरे से लैस रहती है। कुछ कॉलोनियों में भी बैठक में वह शामिल होकर मम्मी के लिए वोट मांग रहे हैं। वहीं लव मम्मी का नामांकन दाखिल कराने के बाद अब पापा का प्रचार करने पटना साहिब में सक्रिय हैं। वहीं कांग्रेस उम्मीदवार आचार्य प्रमोद कृष्णम तो प्रचार कर ही रहे हैं तो उनके भाई संजीव त्यागी ने भी संभल से यहां आकर डेरा जमा लिया है। उनके साथ एक टीम भी है, जो शहर में विभिन्न संगठनों के बीच जाकर कांग्रेस उम्मीवार के लिए वोट मांग रही है। 

Posted By: Divyansh Rastogi

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप