चाईबासा, सुधीर पांडेय । Lok  Sabha Election 2019 नक्सल प्रभावित सिंहभूम में चुनाव को कराना पुलिस महकमे के लिए चुनौतीपूर्ण नजर आ रहा है। नक्सली संगठन ने जिस तरह पश्चिमी सिंहभूम जिला अंतर्गत गोइलकेरा में तीन-तीन सरकारी भवनों को उड़ा दिया और पोसैता स्टेशन क्षेत्र में पोस्टर साट कर वोट बहिष्कार करने की चेतावनी दी है, उससे नक्सलियों ने अपनी मंशा सरकार को जता दी है। नक्सली इस क्षेत्र में घटनाओं का अंजाम देकर लोकसभा चुनाव को प्रभावित करने की तैयारी में हैं और अपनी उपस्थिति दर्ज करा रहे हैं। यह एक तरह से पुलिस फोर्स को सीधी चुनौती है।

सूत्रों की मानें तो सारंडा जंगल क्षेत्र में कांडे होनहागा का दस्ता एक बार फिर सक्रिय हो गया है। गोइलकेरा मार्ग की ओर जाने वाली जंगल इलाके में इस दस्ते को भ्रमण करते देखा जा रहा है। यह दस्ता क्षेत्र में बड़ी घटना को अंजाम देने की फिराक में है। हालांकि पिछले एक साल में जिला पुलिस ने जिस मुस्तैदी के साथ नक्सलियों के खिलाफ अभियान चला रखा है, उससे इतना तो स्पष्ट है कि एक समय सारंडा पर राज करने वाले नक्सल वर्तमान समय में बैकफुट पर हैं। नक्सली भी यह समझ रहे हैं। यही वजह है कि सारंडा क्षेत्र में अपनी उपस्थिति दर्ज कराने के लिए ये लोग पिछले एक माह से नक्सल गतिविधियों को तेज किए हुए हैं। पिछले दिनों चाईबासा शहर में डीसी आफिस के पास नक्सली पोस्टर साटना और अब गोइलकेरा में भवन उड़ाना इसी का हिस्सा है।

एक साल में 72 नक्सली चढ़े पुलिस के हत्थे, 14 ने किया सरेंडर 

पुलिस रिकार्ड पर गौर करें तो बीते वर्ष 2018 में जिस तरह चाईबासा पुलिस द्वारा सीआरपीएफ जवानों के साथ नक्सलियों के विरुद्ध साझा कार्रवाई की गई और ताबड़तोड़ अभियान चलाए गए में चाईबासा पुलिस को बेहतर सफलता मिली। जिले में पिछले एक वर्ष के आकड़े बताते हैं कि जिले के विभिन्न थाना क्षेत्रों से 70 नक्सलियों को गिरफ्तार कर जेल भेजा गया तथा पुलिस दबिश के कारण 14 नक्सलियों ने सरेंडर भी किया।

ये कहते आरक्षी अधीक्षक

लोकसभा चुनाव के दौरान नक्सली गतिविधियों के मद्देनजर पश्चिमी सिंहभूम के सभी थानों को सतर्क रहने का आदेश दिया गया है। साथ ही साथ सारंडा क्षेत्र में पुलिस फोर्स को नक्सलियों के विरुद्ध सर्च आपरेशन तेज करने के लिए कहा गया है। भय मुक्त माहौल में मतदान कराने के लिए पुलिस-प्रशासन तैयार है।

-चंदन कुमार झा, पुलिस अधीक्षक, पश्चिमी सिंहभूम

 

Posted By: Rakesh Ranjan