हाथरस (जेएनएन)। जनपद में कश्मीरी पंडित हैं या नहीं, इसका कोई आंकड़ा प्रशासन के पास नहीं है, लेकिन कश्मीर से विस्थापित हुए कश्मीरी पंडितों व अन्य के लिए मतदान को लेकर विशेष व्यवस्था की गई है। ऐसे लोग अपने क्षेत्र के प्रत्याशी के लिए पोस्टल बैलेट के माध्यम से मतदान कर सकेंगे।

ऐसे करेंगे कश्मीरी पंडित मतदान
एडीएम उपजिला निर्वाचन अधिकारी डॉ.अशोक कुमार शुक्ला ने बताया कि जम्मू-कश्मीर से विस्थापित जिन मतदाता का नाम जम्मू-कश्मीर के संसदीय क्षेत्रों की निर्वाचक नामावली में वर्तमान में दर्ज है और वे भारत में अन्य किसी स्थान पर निवासरत हैं, तो ऐसे मतदाता अपने मताधिकार का उपयोग पोस्टल बैलेट के माध्यम से या आयोग द्वारा निर्धारित स्थान जम्मू, उधमपुर, दिल्ली में बनाए गए मतदान केंद्रों पर मतदान कर सकेंगे। इसके लिए मतदाता को अपने आवश्यक प्रपत्र जमा करने होंगे।

मतदाता सूची से होगा मिलान
 कश्मीर के विस्थापित मतदाताओं को एम फार्म अथवा 12-सी फार्म भरकर स्वयं उपस्थित होकर निर्वाचन निबंधन पदाधिकारी को उपलब्ध कराएंगे। निर्वाचन निबंधन पदाधिकारी उनके आवेदन और पते की जांच करेंगे तथा संबंधित मतदाता के आवेदन को कश्मीर की मतदाता सूची (जहां उसका नाम दर्ज है) से मिलान करेंगे। आवासीय आयुक्त द्वारा जारी आवासीय प्रमाण पत्र का भी सत्यापन होगा। सत्यापन के बाद विस्थापित मतदाताओं के आवेदन फॉर्म संबंधित निर्वाचन पंजीकरण पदाधिकारी को भेज देंगे। जम्मू कश्मीर के निर्वाचन निबंधन पदाधिकारी संबंधित आवेदक को निर्धारित मतदान केंद्र पर मतदान करने की अनुमति देंगे या 12-सी के आलोक में पोस्टल बैलेट भेजेंगे, जिससे मतदाता मतदान कर सकेंगे।

Posted By: Mukesh Chaturvedi

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस