सीतापुर, जेएनएन। 17वीं लोकसभा चुनाव 2019 के परिणाम गुरुवार को घोषित हुए। सीतापुर लोकसभा सीट पर भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) प्रत्याशी राजेश वर्मा ने 5,14,528 वोट पाकर 1,00,833 मतों के अंतर से जीत दर्ज कराई। गठबंधन से बसपा प्रत्याशी नकुल दुबे 4,13,695 मतों से दूसरे नंबर पर रहे। कांग्रेस की कैसर जहां 96,018 मतों से तीसरे नंबर पर रहीं।

दूसरी तरफ, मिश्रिख संसदीय सीट से बीजेपी प्रत्याशी अशोक कुमार रावत ने 5,34429 वोट पाकर 100672 मतों के अंतर से जीत दर्ज कराई। गठबंधन से बसपा प्रत्याशी डा. नीलू सत्यार्थी को 433757 मतों से दूसरे नंबर पर रहे। कांग्रेस की मंजरी राही 26505 मतों के साथ्‍ा तीसरे नंबर पर रहीं।

#सीतापुर लोकसभा सीट

लोकसभा चुनाव 2019: एक नजर 

  1. जीते: राजेश वर्मा (बीजेपी): 5,14,528  वोट 
  2. नकुल दुबे (गठबंधन): 4,13,695 वोट 
  3. कैसर जहां(कांग्रेस) : 96,018 वोट 

लोकसभा चुनाव 2014: एक नजर 

  1. जीते: राजेश वर्मा (बीजेपी): 4,17,546 वोट 
  2. कैसर जहां (बसपा): 3,66,519 वोट 
  3. भारत त्रिपाठी (सपा): 1,56,170 वोट 

#मिश्रिख संसदीय सीट

लोकसभा चुनाव 2019: एक नजर 

  1. जीते: अशोक कुमार रावत (बीजेपी): 5,34429 वोट 
  2. डा. नीलू सत्यार्थी(गठबंधन): 4,33,757 वोट 
  3. मंजरी राही(कांग्रेस) : 26,505 वोट 

लोकसभा चुनाव 2014: एक नजर 

  1. जीते: अंजू बाला (बीजेपी): 4,12,575 वोट 
  2. अशोक कुमार रावत (बसपा): 3,25,212 वोट 
  3. जय प्रकाश(सपा): 1,94,759 वोट 
  4. ओम प्रकाश (कांग्रेस) : 33,075 वोट 

प्रेक्षक की मौजूदगी में हुआ प्रशिक्षण

मतगणना में लगे कार्मिकों व माइक्रो आब्जर्वर का दूसरा प्रशिक्षण बुधवार को संपन्न होगा। लोकसभा सीतापुर प्रेक्षक विद्युत भट्टाचार्य, सिधौली प्रेक्षक अन्ना साहेब शिंदे व मिश्रिख क्षेत्र के प्रेक्षक संजीव एस जाधव ने कार्मिकों को मतगणना के संबंध में जानकारी दी। मतों की गिनती करके उन्हें निर्धारित प्रारूप पर उम्मीदवार के सामने लिखा जाएगा। पोस्टल बैलेट मतों की गिनती व मतों के खारिज होने के बारे में भी बताया गया। कार्मिकों का तीसरा रेंडमाइजेशन शाम को होगा।

सीतापुर (प्रमुख प्रत्याशी)

राजेश वर्मा

  • पार्टी - भाजपा
  • उम्र - 58 वर्ष
  • शिक्षा- एमए
  • तीन बार सांसद
  • प्रोफाइल : भाजपा नेता राजेश वर्मा 2014 में 16वीं लोक सभा के लिए सीतापुर क्षेत्र से सांसद हैं। वह इससे पहले तीन बार सांसद रह चुके हैं। 1996 में बसपा के टिकट पर विधानसभा चुनाव लड़कर राजनीतिक सफर शुरू करने वाले राजेश 1999 में पहली बार 13वीं लोकसभा के लिए सांसद चुने गए। बसपा में रहते हुए उन्‍होंने पार्टी के कई प्रमुख पदों की जिम्मेदारी निभाई। 2013 में राजेश ने बसपा छोड़कर भाजपा का दामन थाम लिया। 2014 में वह भाजपा की टिकट पर चुनाव लड़े और विजेता बने। 14 अगस्त 2014 से प्राक्कलन समिति के सदस्य हैं। 1 सितम्‍बर 2014 से पेट्रोलियम ओर प्राकृतिक गैस संबंधी स्थायी समिति, परामर्शदात्री समिति, कोयला मंत्रालय के सदस्‍य हैं। 3 जुलाई 2015 से प्राक्‍कलन समिति की उपसमिति-II के सदस्‍य हैं। 

नकुल दूबे - सीतापुर

  • पार्टी - बसपा
  • उम्र- 53 वर्ष
  • शिक्षा- बीए, एलएलबी
  • प्रोफाइल : बसपा सरकार में कैबिनेट मंत्री रहे नकुल दुबे को सीतापुर का लोकसभा प्रभारी बनाया गया है। 2014 के लोकसभा चुनाव में नकुल दुबे लखनऊ से मैदान में उतरे थे। यहां पर भाजपा के राजनाथ सिंह ने जीत दर्ज की थी। कांग्रेस से रीता बहुगुणा जोशी दूसरे नंबर पर रहीं थी। बसपा के नकुल दुबे 64449 वोट लेकर तीसरे और सपा के अभिषेक मिश्रा 56771 वोट के साथ चौथे स्थान पर रहे थे। नकुल दुबे को बसपा ने 2017 के विधानसभा चुनाव में लखनऊ के बक्शी का तालाब से मैदान में उतारा था। वह दूसरे नंबर पर रहे।

कैसरजहां 

  • पार्टी - कांग्रेस
  • उम्र-45 वर्ष
  • शिक्षा- जूनियर हाईस्कूल
  • एक बार सांसद
  • प्रोफाइल : कैसर जहां वर्ष 2009 के लोक सभा चुनाव में बसपा के टिकट पर सीतापुर से संसद रह चुकी है लेकिन 2014 में हुए लोक सभा चुनाव में कैसर जहां को भाजपा के राजेश वर्मा से हार का मुंह देखना पड़ा था। वही इस बार लोक सभा चुनाव से पूर्व बसपा ने पूर्व सांसद रही कैसर जहां और उनके पति पूर्व विधायक जासमीर अंसारी को पार्टी से बाहर कर दिया गया था। जिसके बाद कैसर जहाँ ने कांग्रेस का हाथ थाम लिया।

मिश्रिख क्षेत्र से कुल 13 प्रत्याशी

  •  गठबंधन से बसपा से डा. नीलू सत्यार्थी, 
  • भाजपा से अशोक रावत, 
  • कांग्रेस की मंजरी राही,
  • प्रगतिशाल समाजवादी पार्टी लोहिया की अरूणा कुमारी कोरी,
  • राष्ट्रवादी श्रमजीवी पार्टी के नागेंद्र,
  • हिन्दुस्थान निर्माण दल के वीरेंद्र कनौजिया,
  • भारतीय कृषक दल के राहुल कुमार, 
  • निर्दलीय अर्पित, अरविंद कुमार, आकाश नीरज, राजू वर्मा, रामपाल और श्रीपाल वर्मा

मिश्रिख लोक सभा

  • भाजपा प्रत्याशी अशोक रावत : भाजपा प्रत्याशी अशोक रावत मिश्रिख लोक सभा सीट से ही बसपा से 2004 आैर 2009 में सांसद रहे। चुनाव के पहले वह भाजपा में शामिल हुए थे आैर टिकट पाई थी। उनके चाचा पूर्व मंत्री व बालामऊ से विधायक रामपाल वर्मा हैं आैर चचेरे भाई प्रभाष कुमार सांडी से भाजपा विधायक हैं। 
  • गठबंधन से बसपा प्रत्याशी डा. नीलू सत्यार्थी बालामऊ विधान सभा से बसपा की टिकट पर २०१७ चुनाव लड़ी थी लेकिन हार गई थीं। 
  • कांग्रेस से प्रत्याशी मंजरी राही पूर्व केंद्रीय गृह मंत्री रामलाल राही की बहू हैं। उनके पति रमेश राही सीतापुर जिले से विधायक रहे हैं। 
  • अरुणा कोरी, प्रगतिशील समाजवादी पार्टी प्रत्याशी अरुणा कोरी, सपा की सरकार में मंत्री रहीं आैर बिल्हौर से विधायक भी रही हैं।

 

लोकसभा चुनाव और क्रिकेट से संबंधित अपडेट पाने के लिए डाउनलोड करें जागरण एप

Posted By: Divyansh Rastogi

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस