लखनऊ, जेएनएन। चुनाव से पहले आवाजाही के क्रम में जहां पूर्व भाजपा सांसद सहित कई पार्टियों के नेताओं ने मंगलवार को सपा का दामन थामा, वहीं सुहेलदेव जनता पार्टी और सोनांचल संघर्ष वाहिनी ने लोकसभा चुनाव में सपा को समर्थन और सहयोग करने का निर्णय लिया है।

सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव की मौजूदगी में लालगंज से भाजपा के पूर्व सांसद दरोगा प्रसाद सरोज, प्रमोद कुमार यादव, अजीत यादव, उन्नाव के पूर्व विधायक नत्थू सिंह के पुत्र जयबिंद सिंह, पूर्व मंत्री सच्चिदानंद वाजपेयी के पुत्र सुभेंद्र वाजपेयी और फर्रुखाबाद से प्रसपा के जिलाध्यक्ष डॉ. जितेंद्र सिंह ने सपा की सदस्यता ग्रहण की। इसके अलावा सपा प्रदेश अध्यक्ष नरेश उत्तम पटेल की उपस्थिति में अशोक सिंह कुशवाहा के नेतृृत्व में देवरिया के पूर्व प्रत्याशी पुष्पेंद्र वर्मा पंकज और निषाद पार्टी के मो.मैनुद्दीन चांद व मेराज अहमद आजाद भी पार्टी में शामिल हुए।

भाजपा की उड़ी नींद : अखिलेश

सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव ने मंगलवार को ट्वीट के जरिये हमला करते हुए कहा कि भाजपा ने पांच साल युवाओं, महिलाओं और किसानों की नींद उड़ाई पर अब उनकी ही नींद उड़ गई है। एक तरफ शहीदों के नाम पर बेशर्मी से वोट मांगा गया तो दूसरी तरफ रात के अंधेरों में साजिशें रची जा रही हैं। अखिलेश ने कहा कि ऐसी घड़ी में हम सब को सावधान रहना चाहिए, क्योंकि जीतने के लिए यह कुछ भी कर सकते हैं।

किससे मांगें इंसाफ : डिंपल

कन्नौज से सपा प्रत्याशी डिंपल यादव ने भी ट्वीट कर मेरठ की छात्रा का मामला उठाया। उन्होंने कहा कि मेरठ की जिस छात्रा से बदसलूकी हुई, कालेज ने भी उसी को सस्पेंड कर दिया। सराब को ऐब बताने वालों के समर्थक शराब के नशे में 'बेटी बचाओ' का नारा भूल गए और अपनी असलियत दिखा बैठे। डिंपल ने पूछा कि जब संस्थाएं भी अपनी विश्वसनीयता खो दें तो इंसाफ की मांग किससे की जाए।

Posted By: Umesh Tiwari

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप