प्रतापगढ़, जेएनएन। प्रतापगढ़ संसदीय सीट पर भाजपा प्रत्याशी संगम लाल गुप्ता ने विजयश्री हासिल कर ली है। वह पहले चरण से ही प्रतिद्वंदी से आगे चल रहे थे। मतगणना के अंतिम चरण के बाद उनके सिर पर जीत का सेहरा सजा। संगम लाल गुप्ता अपने निकटतम प्रतिद्वंदी सपा बसपा गठबंधन के अशोक त्रिपाठी को 19 हजार मतों से पराजित  किया। अभी तक बीजेपी के संगम लाल को 436491 मत, सपा बसपा गठबंधन के अशोक त्रिपाठी को 316633 मत, कांग्रेस प्रत्याशी राजकुमारी रत्ना सिंह को 76686 मत तथा जनसत्ता दल के अक्षय प्रताप सिंह को 46516 मत मिले हैं।


अपने सांसद की एक झलक पाने को बेताब रहे कार्यकर्ता 
जीत का प्रमाणपत्र डीएम मार्कंडेय शाही से प्राप्त करने के बाद नव निर्वाचित सांसद संगम लाल गुप्ता जब महुली मंडी से निकल रहे थे तो कार्यकर्ता उन्हें बधाई देने को आतुर रहे। जब तक वह महुली मंडी परिसर में रहे मंडी का मुख्य गेट बंद कर दिया गया था। बाहर से कार्यकर्ताओं का हुजूम जमा था। ऐसा लग रहा था कि बंद गेट टूट जाएगा। खुली गाड़ी से मंडी से बाहर निकलते ही उन्हें कार्यकर्ताओं ने फूल मालाओं से लाद दिया गया। जय श्री राम के नारे लगाने के साथ ही हर-हर मोदी के भी नारे लगे।
  

एजेंटों ने किया हंगामा
कुंडा के मतगणना पंडाल में भाजपा उम्मीदवार विनोद सोनकर के पहुंच जाने पर हंगामा हो गया। एजेंटों के बैठने के स्थान पर वह पहुंचे और कुछ देर बाद वहां से उस स्थान पर चले गए, जहां कर्मचारियों को बैठने का स्थान बनाया गया था। इस पर गैर भाजपा दलों के एजेंटों ने कड़ा विरोध किया व हंगामा करने लगे। इस पर अधिकारियों ने उनको आकर समझाया कि आपको यहां नहीं आना चाहिए। मौके की नजाकत को समझते हुए वहां से बाहर निकल गए।

जीत पर छूटे पटाखे, खुली जीप में लोगों का किया अभिवादन
लोकसभा चुनाव में भाजपा को भारी जीत मिलने पर भाजपाइयों व समर्थकों ने जमकर खुशी का इजहार किया। कहीं मिठाई बांटकर, पटाखे फोड़कर खुशी जताई गई तो कहीं एक-दूसरे को गले मिल कर खुशी जताई। इसी प्रकार भाजपा उम्मीदवार संगम लाल की जीत पर निकाले गए जुलूस में कार्यकर्ताओं का उत्साह देखते ही बना। मतगणना स्थल से लेकर शहर होते हुए कटरा आवास पर खुली जीप में सवार होकर संगम ने लोगों का आभार व्यक्त किया। इस दौरान जगह-जगह स्वागत हुआ। सांसद का प्रमाणपत्र उन्होंने मां शीतला के चरणों में समर्पित कर आशीर्वाद मांगा। इस दौरान पूरे रास्ते में जाम लगा रहा। समर्थक अपनी सेल्फी लेते नजर आए।

संगमलाल को रिकार्ड मत मिला
 अब तक हुए चुनाव में सबसे अधिक मत पाकर भाजपा प्रत्याशी संगमलाल गुप्ता ने बसपा-सपा गठबंधन प्रत्याशी अशोक त्रिपाठी को एक लाख 17 हजार 952 मतों से पराजित किया। महुली मंडी परिसर में सुबह सवा आठ बजे से मतगणना शुरू हुई। पहला रुझान नौ बजे के बाद आ गया। इसके बाद फिर राउंड वार मतगणना चलती रही। 25 राउंड से लेकर 31 राउंड तक मतगणना चली। शाम लगभग पांच बजे नतीजा सामने आया तो अब तक के हुए चुनावों में सर्वाधिक मत चार लाख 36 हजार 491 मत पाकर भाजपा प्रत्याशी संगमलाल गुप्ता ने बसपा प्रत्याशी अशोक त्रिपाठी को एक 17 हजार 952 मतों के अंतर से पराजित किया। अशोक त्रिपाठी को तीन लाख 16 हजार 633 मत मिले। 

पोस्टल बैलेट में भी जीते संगमलाल
जिले के 5244 मतदाताओं ने पोस्टल बैलेट से मतदान किया था। संगमलाल ने पोस्टल बैलेट में भी 163 मतों से अशोक त्रिपाठी को हराया। संगमलाल को दो हजार 69 तम और बसपा प्रत्याशी अशोक त्रिपाठी को एक हजार नौ सौ छह मत मिले। कांग्रेस प्रत्याशी राजकुमारी रत्ना ङ्क्षसह को 410 मत, जनसत्ता दल लोकतांत्रिक प्रत्याशी अक्षय प्रताप सिंह को 197 मत मिले।

निरस्त हुए 322 मत
पोस्टल बैलेट से पांच हजार  दो सौ 44 मतदाताओं ने मतदान किया था। इसमें से 322 मतों को निरस्त कर दिया गया।

12 हजार मतदाताओं ने किसी प्रत्याशी को नहीं किया पसंद
छठें चरण में जिले में पोस्टल बैलेट को लेकर कुल नौ लाख 15 हजार 209 मतदाताओं ने मतदान किया था। इसमें से 12 हजार 126 मतदाताओं ने किसी भी प्रत्याशी को पसंद नहीं किया और नोटा का बटन दिया। सबसे अधिक पट्टी विधानसभा क्षेत्र में दो हजार 655 मतदाताओं ने नोटा का बटन दबाया। यह संख्या सबसे कम रानीगंज विधानसभा क्षेत्र में रही। वहां दो हजार 205 लोगों ने किसी प्रत्याशी को पसंद नहीं किया। जबकि सदर में दो हजार 362, रामपुर खास में दो हजार 365, विश्वनाथगंज में दो हजार 494 मतदाताओं ने नोटा का बटन दबाया। सरकारी नौकरी करने वाले 32 मतदाताओं ने भी पोस्टल बैलेट में नोटा को ही टिक किया।


 यहां गठबंधन प्रत्याशी अशोक त्रिपाठी और भाजपा के संगम लाल गुप्ता के बीच मुकाबला था। वहीं जनसत्ता पार्टी से पूर्व सांसद अक्षय प्रताप और कांग्रेस से पूर्व सांसद रत्ना सिंह के मैदान में आने से मुकाबला और रोचक हो गया था। भाजपा प्रत्याशी संगम लाल गुप्ता अपना दल से वर्तमान में विधायक हैं। 

 बेल्हा में बुआ-बबुआ रहे बेसअर
बेल्हा के मतदाताओं ने बुआ और बबुआ दोनों की अपील को नकार दिया। दोनों के संयुक्त प्रत्याशी को संसद नहीं जाने दिया। सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव ने कौशांबी संसदीय क्षेत्र में सभा की थी, जहां उन्होंने इंद्रजीत सरोज और प्रतापगढ़ के गठबंधन प्रत्याशी अशोक त्रिपाठी के लिए वोट मांगे थे। रैली में भीड़ भी उमड़ी थी, दोनों प्रत्याशियों में जोश भी आया था, लेकिन यह भीड़ वोट में नहीं बदल सकी। इसी तरह बसपा सुप्रीमो मायावती ने रामलीला मैदान में जनसभा की अनुमति न मिलने पर प्रत्याशी अशोक त्रिपाठी के स्कूल के पास सभा की थी। वहां उन्होंने प्रधानमंत्री मोदी पर निशाना साधा था। अपने प्रत्याशी को बहादुर और जुझारू जैसे शब्दों से उत्साहित किया था। अपने मतदाताओं को टीचर की तरह पढ़ाया था। वोट देने का तरीका रटाया था, लेकिन यह सब बसपा के पक्ष में वोट नहीं दिला सके।

पीएम मोदी ने शहर में सभा की थी
चार मई को प्रधानमंत्री मोदी ने शहर में सभा की थी। इसमें उन्होंने बहन जी कुछ खास नहीं कहा था, केवल इतना कहा था कि उनको गठबंधन के नाम पर छला गया है। इतनी सी बात का मायावती ने अगले ही दिन काउंटर किया था, लेकिन बुआ और बबुआ की यह कवायद प्रतापगढ़ में कोई असर नहीं दिखा सकी।

चुनाव परिणाम जानने को टीवी से चिपके रहे लोग
चक्रवार गणना के रुझानों को जानने के लिए घरों में लोग टीवी के सामने बैठ गए। लोगों में इस बात की उत्सुकता रही कि आखिर देश में सरकार किसकी बन रही है। कौन कितनी सीटों पर बढ़त बनाएं हुए है। यह क्रम पूरे दिन चलता रहा। प्रतापगढ़ के साथ ही कौशांबी सीट पर होने वाली मतगणना की पल-पल की अपडेट समर्थक मोबाइल के सहारे ले रहे थे। कौन प्रत्याशी कितने मत से आगे है और कौन कितने से पीछे चल रहा है। 

 39-प्रतापगढ़ संसदीय सीट के 2019 के प्रत्याशी

- संगमलाल गुप्ता- भाजपा

- अशोक त्रिपाठी- सपा-बसपा गठबंधन

- रत्ना सिंह-कांगे्रस

- अक्षय प्रताप सिंह- जनसत्ता दल लोकतांत्रिक

- मोहम्मद इरशाद-सर्वोदय भारत पार्टी

- राम बहादुर शर्मा- मौलिक अधिकार पार्टी

- शेषनाथ -एसयूएसआई

- बजरंगी लाल -निर्दलीय

 

2014 के प्रत्याशी व उन्हें मिले मत

प्रत्याशी                पार्टी                  मिले मत 

हरिवंश सिंह          अद भाजपा        375789

आसिफ सिद्दीकी     बसपा               207567 

रत्ना सिंह              कांग्रेस              138620 

प्रमोद पटेल           सपा                 120107 

अशोक सेनानी       आप                 9983 

निर्मला देवी          वंचित पार्टी         2766 

फूलचंद्र                शिवसेना           5859 

बालकृष्ण             जदयू               2160 

राजेंद्र शर्मा           राजप               1571 

रामसेवक            बमुपा               4207 

शेषनाथ             एसयूसीआइ        2458 

संतोष सिंह         टीएमसी              6309 

अजमल खां        निर्दल                3342 

किरन मिश्रा        निर्दल               3002

हरिवंश सिंह        निर्दल               5618 

दस हजार ने दबाया था नोटा का बटन 

 जिले में वर्ष 2014 के लोकसभा चुनाव में 9098 वोटरों ने किसी को वोट नहीं दिया था। इन लोगों ने नोटा इस्तेमाल किया था। इसके अलावा 68 मत अवैध घोषित किए गए थे। 

प्रतापगढ़ अब तक के लोकसभा चुनाव परिणाम

वर्ष                    जीते प्रत्याशी                मिले वोट 

-1952            मुनीश्‍वदत्त उपाध्याय, कांग्रेस-77668

-1957           मुनीश्‍वरदत्‍त उपाध्याय-कांग्रेस-78399

-1962           अजीत प्रताप सिंह-जनसंघ-96483

-1967           दिनेश सिंह-कांग्रेस-102825

-1971-दिनेश सिंह -कांग्रेस-156902

-1977- रूपनाथ-लोकदल-206339

-1980- अजीत प्रताप सिंह-कांग्रेस-94223

-1984- दिनेश सिंह-कांग्रेस-279354

-1989-दिनेश सिंह-कांग्रेस-165870

-1991- अभय प्रताप सिंह-जनता दल-1108310

-1996- रत्ना सिंह-कांग्रेस-139326

-1998- राम विलास वेदांती-भाजपा-232927

1999- रत्ना सिंह-कांग्रेस-202170

-2004- अक्षय प्रताप सिंह-सपा-238137

-2009-रत्ना सिंह- कांग्रेस-169137

-2014-हरिवंश सिंह- अद, भाजपा-375789

वर्ष 2014 में विधानसभा वार प्रमुख प्रत्याशियों के मिले मतों का विवरण

अपना दल-भाजपा गठबंधन-हरिवंश सिंह

सदर-89721

रानीगंज-71350

पट्टी-84392

विश्वनाथगंज-94455

रामपुर खास-35181

योग : 375099

बसपा प्रत्याशी आसिफ सिद्दीकी

सदर-47394

रानीगंज-44315

पट्टी-47896

विश्वनाथगंज-47243

रामपुर खास-20334

योग : 207182

सपा प्रत्याशी प्रमोद पटेल

सदर-16044

रानीगंज-33726

पट्टी-35680

विश्वनाथगंज-25671

रामपुर खास-8810

योग : 119931

कांग्रेस प्रत्याशी रत्ना सिंह

सदर-12256

रानीगंज-7633

पट्टी-13421

विश्वनाथगंज-17327

रामपुर खास-87595

योग : 138232

दिनेश सिंह और रूपनाथ सर्वाधिक मतों से विजयी रहे

प्रतापगढ़ लोकसभा क्षेत्र में अब तक हुए चुनाव में कांग्रेस प्रत्याशी राजा दिनेश सिंह एवं जनता दल प्रत्याशी रूपनाथ सिंह यादव सर्वाधिक मतों से विजयी रहे हैं। वर्ष 1984 में कांग्रेस प्रत्याशी राजा दिनेश सिंह को दो लाख 79 हजार 354 मत मिले थे, जबकि उनके प्रतिद्वंद्वी एलकेडी के रामदेव दुबे को 46 हजार 847 मत मिले थे। इस चुनाव में राजा दिनेश सिंह दो लाख 32 हजार 507 मतों से विजयी रहे। इसी प्रकार वर्ष 1977 के चुनाव में लोकदल के रूपनाथ सिंह यादव को 206339 मत मिले थे, जबकि उनके प्रतिद्वंद्वी राजा दिनेश सिंह को 57019 मत मिले थे। इसमें रूपनाथ सिंह यादव एक लाख 49 हजार 320 मतों से विजयी रहे।

लोकसभा चुनाव और क्रिकेट से संबंधित अपडेट पाने के लिए डाउनलोड करें जागरण एप

Posted By: Brijesh Srivastava

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप