नई दिल्‍ली, जेएनएन। लोकसभा चुनाव 2019 के परिणामों के रुझाने काफी चौंकाने वाले हैं। सबसे चौंकाने वाला रुझान उत्‍तर प्रदेश की वाआइपी सीट अमेठी से आ रहे हैं। यहां से कांग्रेस अध्‍यक्ष राहुल गांधी पीछे चल रहे हैं। भाजपा की स्‍मृति ईरानी यहां, आगे चल रही हैं। वहीं, कांग्रेस के वरिष्‍ठ नेता दिग्विजय सिंह और ज्‍योतिरादित्‍य सिंधिया भी पीछे चल रहे हैं। रुझानों में एनडीए ने बहुमत के आंकड़े को पार कर लिया है। साल 2014 में नरेंद्र मोदी की अगुवाई वाली भारतीय जनता पार्टी ने लोकसभा की 543 में से 282 सीटों पर जीत हासिल की थी। बहुमत के आंकड़े 272 है।

गांधी परिवार की परंपरागत सीट अमेठी से राहुल गांधी लगभग 5 हजार वोटों से पीछे चल रहे हैं। भाजपा की स्‍मृति ईरानी जहां, 46 हजार से ज्‍यादा वोटों के साथ बढ़त बनाए हुई हैं, वहीं राहुल गांधी के खाते में अभी तक सिर्फ 41 हजार के आसपास मत आए हैं। उधर, ज्‍योतिरादित्‍य सिंधिया गुना सीट से लगभग 55,000 वोटों से पीछे चल रहे हैं। भाजपा के प्रत्‍याशी को जहां अभी तक 2 लाख 50 हजार से ज्‍यादा वोट मिल चुके हैं। वहीं सिंधिया को 1 लाख 90 हजार वोट ही अभी तक मिल पाए हैं। 

राहुल गांधी इस बार अमेठी के साथ-साथ केरल की वायनाड सीट से भी चुनाव लड़ रहे हैं। रुझानों को देखकर ऐसा प्रतीत हो रहा है कि राहुल गांधी को शायद इस बात का अंदेशा था कि अमेठी में कोई बड़ा उलटफेर हो सकता है। स्‍मृति ईरानी ने 2014 के लोकसभा चुनाव में राहुल गांधी को कड़ी चक्‍कर दी थी। हालांकि, वह जीत दर्ज नहीं कर पाई थीं, लेकिन इस बार स्‍मृति रुझानों में राहुल गांधी को पीछे छोड़ती नजर आ रही हैं। खबरों के मुताबिक, स्मृति ने राहुल पर 5 हजार 700 वोटों की बढ़त बना ली है। अगर स्‍मृति ईरानी इस सीट से जीत जाती हैं, तो कांग्रेस के लिए यह बड़ा झटका होगा। उधर, रायबरेली सीट से यूपीए चेरयपर्सन सोनिया गांधी शुरुआत में पीछे चल रही थी, लेकिन अब वह लगभग 7000 वोटों से आगे चल रही हैं। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी वाराणसी सीट से काफी निकल गए हैं।

मध्‍य प्रदेश में कांग्रेस के कई दिग्‍गज पीछे चल रहे हैं। भोपाल से साध्वी प्रज्ञा 3000 वोट से आगे चल रहे हैं और दिग्विजय सिंह पीछे हैं। इधर गुना में ज्योतिरादित्य सिंधिया पीछे हैं। छिंदवाड़ा में कमलनाथ के बेटे नकुल 1000 वोट से पीछे हैं। जबलपुर सीट से बीजेपी के प्रदेश अध्येक्ष राकेश सिंह फिलहाल बढ़त बनाए हुए हैं। अगर ये दिग्‍गज हार जाते हैं, तो कांग्रेस की साख पर बड़ा सवाल खड़ा हो जाएगा। हालांकि, ये अभी रुझान हैं, परिणाम आने में अभी समय लगेगा।

उत्तर प्रदेश में मिले-जुले रुझान सामने आ रहे हैं। हमीरपुर से भाजपा कुंवर पुष्पेंद्र सिंह चंदेल आगे चल रहे हैं। जालौन से भाजपा उम्मीदवार भानु प्रताप सिंह वर्मा आगे बढ़ते दिख रहे हैं। फर्रुखाबाद से बसपा के मनोज अग्रवाल आगे हैं। फिरोजाबाद से पीएसपीएल के शिवपाल सिंह यादव आगे हैं। फतेहपुर सीकरी से कांग्रेस के राजबब्बर पहले राउंड तक पीछे चल रहे थे। अलीगढ़ से भाजपा के सतीश कुमार गौतम और गौतमबुद्ध नगर से भाजपा के महेश शर्मा आगे चल रहे हैं। बहराइच से भाजपा की अक्षयबर लाल और चंदौली से भाजपा के महेंद्र नाथ पांडे आगे चल रहे हैं। कन्नौज में पहले राउंट की वोटिंग के बाद एसपी की डिंपल यादव 1479 वोटों से आगे चल रही हैं। डिंपल को 4029 वोट और बीजेपी के सुब्रत पाठक को 2250 वोट मिले। डुमरियागंज से बीजेपी आगे चल रही हैं, वहीं पीलीभीत से वरुण गांधी को 20711 वोट मिले और वह बढ़त बनाए हुए हैं।

उत्तराखंड में टिहरी गढ़वाल सीट से बसपा उम्मीदवार सत्यपाल रुझानों में आगे चल रहे हैं। उधर, हरिद्वार सीट से भाजपा के रमेश पोखरियाल निशंक बढ़त बनाए हुए हैं। अल्मोड़ा से भाजपा के अजय टमटा और नैनीताल-उधमसिंह नगर से भाजपा के अजय भट्ट आगे चल रहे हैं।

पश्चिम बंगाल के चुनाव परिणाम पर पूरे देश की निगाहें टिकी हुई हैं। यहां आसनसोल में भाजपा प्रत्याशी बाबुल सुप्रियो टीएमसी की मुन मुन सेन से 12081 वोटों से आगे निकल गए हैं। बहरामपुर सीट पर टीएमसी के अपूर्ब सरकार आगे, कांग्रेस के अधीर रंजन चौधरी पीछे हैं। दार्जिलिंग सीट पर बीजेपी के राजू सिंह बिस्ता आगे, टीएमसी के अमर सिंह राय पीछे चल रहे हैं। इसके अलावा डायमंड हार्बर में निलंजन रॉय (बीजेपी), हुगली में लॉकेट चटर्जी (बीजेपी), जंगीपुर में खलीलुर रहमान (टीएमसी), कोलकाता दक्षिण में माला रॉय (टीएमसी), कोलकाता उत्तर में बंदोपाध्याय सुदीप (टीएमसी), मलदहा उत्तर में खागन मुर्मू (बीजेपी), श्रीरामपुर में कल्याण बनर्जी (टीएमसी) और उलुबेरिया में सजदा अहमद (टीएमसी) आगे चल रहे हैं।

हरियाणा में शुरुआती रुझानों के मुताबिक बीजेपी 9 सीटों पर आगे चल रही है। सिरसा से कांग्रेस के अशोक तंवर पीछे चल रहे हैं। गुरुग्राम से बीजेपी के राव इंद्रजीत आगे चल रहे हैं। गुड़गांव से बीजेपी के राव इंद्रजीत सांसद हैं, जबकि सोनीपत से इस बार राज्य के पूर्व मुख्यमंत्री भूपेंद्र सिंह हुड्डा और रोहतक से उनके बेटे दीपेंद्र सिंह हुड्डा उम्मीदवार हैं। दीपेंद्र इस बार अपनी सीट बचाने के लिए भी लड़ रहे हैं।

लोकसभा चुनाव और क्रिकेट से संबंधित अपडेट पाने के लिए डाउनलोड करें जागरण एप

Posted By: Tilak Raj