Move to Jagran APP

Lok Sabha Election 2024: बंगाल में जिस सीट से भाजपा ने खोला खाता, वहां 20 साल से जीत को तरसी, क्या इस बार होगी वापसी?

West Bengal Lok Sabha Election 2024 लोकसभा चुनावों के हवालों से देखें तो बंगाल में भाजपा का पुनर्जन्म 2009 में हुआ। तब लोकसभा चुनाव में बंगाल की दार्जिलिंग सीट से भाजपा के दिग्गज नेता जसवंत सिंह सांसद निर्वाचित हुए। इस तरह पश्चिम बंगाल से कुछ वर्षों के निर्वासन के बाद पुनः 2009 में यहां भाजपा को उम्मीद की एक लौ मिली।

By Jagran News Edited By: Sachin Pandey Published: Tue, 28 May 2024 05:03 PM (IST)Updated: Tue, 28 May 2024 05:03 PM (IST)
Lok Sabha Election 2024: भाजपा का कमल बंगाल में सर्वप्रथम 1998 में दमदम से खिला था।

चुनाव डेस्क, सिलीगुड़ी। भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) का कमल बंगाल में सर्वप्रथम 1998 में दमदम से खिला था। उस वर्ष के लोकसभा चुनाव में दमदम से सांसद निर्वाचित हो कर तपन सिकदर बंगाल के पहले भाजपाई सांसद बने थे। वही फिर दोबारा 1999 के लोकसभा चुनाव में भी दमदम से ही सांसद निर्वाचित हुए।

उपरोक्त क्रमशः 12वीं और 13वीं लोकसभा का चुनाव था, जिसमें बंगाल से भाजपा के मात्र एक सांसद ही लोकसभा पहुंचे। मगर, 2004 में दमदम लोकसभा सीट भाजपा के हाथ से निकल गई जो अब तक वापस नहीं आ पाई है। इतना नहीं, उसके बाद वह बंगाल से एक तरह से निर्वासित ही हो गई।

2009 में हुआ पुनर्जन्म

लोकसभा चुनावों के हवालों से देखें तो बंगाल में भाजपा का पुनर्जन्म 2009 में हुआ। तब, लोकसभा चुनाव में बंगाल की दार्जिलिंग सीट से भाजपा के दिग्गज नेता जसवंत सिंह सांसद निर्वाचित हुए। इस तरह, पश्चिम बंगाल से कुछ वर्षों के निर्वासन के बाद पुनः 2009 में यहां भाजपा को उम्मीद की एक लौ मिली। वह एकमात्र लौ जो थी वह दार्जीलिंग लोकसभा सीट ही थी।

उस चुनाव में यही इकलौती सीट जीत कर लगभग दशक भर के अंतराल के बाद भाजपा बंगाल में अपना खाता खोल पाने में कामयाब हो पाई थी। हालांकि, वह अकेले अपने भाजपा के बलबूते नहीं हुआ बल्कि तब दार्जिलिंग पर्वतीय क्षेत्र के सर्वेसर्वा बिमल गुरुंग के समर्थन से ही संभव हो पाया। फिर, 2014 में दार्जिलिंग के साथ ही साथ आसनसोल जीत कर भाजपा बंगाल में एक से दो हो गई।

2019 में अप्रत्याशित परिणाम

उसके बाद, 2019 के लोकसभा चुनाव में तो वह बंगाल में 2 से बढ़ कर 18 हो उठी। इस दौरान गोरखा जनमुक्ति मोर्चा के समर्थन की बदौलत दार्जिलिंग में अपनी जीत की हैट्ट्रिक भी लगा ली। अब लोकसभा चुनाव 2024 में भी भाजपा बंगाल में पूरे दम-खम से ताल ठोके हुए है। भाजपा के चाणक्य अमित शाह ने तो इस बार बंगाल में भाजपा को कम से कम 30 सीटें मिलने का दावा किया है।

ये भी पढ़ें- 'पूरा पूर्वांचल और एक मोदी', यहां चलता है एक और एक जमा 11 का गणित; सातवें चरण में पीएम के भरोसे मैदान में हैं इतने प्रत्‍याशी

मगर, हकीकत तो वक्त ही बताएगा जो कि आगामी 4 जून है। इस लोकसभा चुनाव 2024 में दमदम लोकसभा सीट से तृणमूल कांग्रेस ने इसी सीट के गत लगातार तीन बार के अपने सांसद सौगत राय को पुनः चौथी बार भी मैदान में उतारा है। उनके जवाब में भाजपा ने शीलभद्र दत्त को खड़ा किया है। वहीं, कांग्रेस और वाममोर्चा गठबंधन की ओर से माकपा उम्मीदवार सुजन चक्रवर्ती भी ताल ठोके हुए हैं।

अन्य दलों व संगठनों से कुल मिला कर 14 उम्मीदवार दमदम सीट के लिए चुनावी मैदान में हैं। इस सीट के लिए लोकसभा चुनाव 2024 के सातवें व अंतिम चरण के तहत आगामी 1 जून को मतदान होना है। उसके बाद 4 जून को मतगणना संग जनादेश सामने आएगा।

ये भी पढ़ें- Lok Sabha Election 2024: उस सीट की सियासत जहां से वाममोर्चा को पटखनी देकर उभरीं ममता बनर्जी; 29 साल की उम्र में किया था 'खेला'


This website uses cookies or similar technologies to enhance your browsing experience and provide personalized recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.