रांची, राज्य ब्यूरो। Lok Sabha Election 2019 झारखंड महागठबंधन की राज्यस्तरीय समन्वय समिति की घोषणा के साथ ही समिति ने चुनावी अभियान तेज कर दिया है। यह समन्वय समिति लोकसभा चुनाव को लेकर बनी है। 18 अप्रैल की सुबह ही झामुमो के प्रवक्ता विनोद पांडेय के आवास पर प्रमुख चारों दल कांग्रेस, झामुमो, झाविमो व राजद के मनोनीत सदस्य जुटे। यहां आयोजित महागठबंधन के इस राज्यस्तरीय समन्वय समिति की बैठक में कई निर्णय हुए।

राज्यस्तरीय समन्वय समिति की तरह  गठबंधन दलों के बीच ऐसा ही सामंजस्य राज्य स्तर के अलावा जिला, प्रखंड, पंचायत व बूथ स्तर तक स्थापित हो, इस पर चर्चा हुई। समिति ने जिला से लेकर बूथ स्तर तक ऐसी ही समन्वय समिति गठित करने की बात कही। साथ ही महागठबंधन के प्रमुख व वरिष्ठ नेताओं की उपयोगिता व मांग के हिसाब से सभी क्षेत्रों में सभा कराना भी सुनिश्चित हुआ।

बैठक में और कई एजेंडे तय हुए तो कई चुनावी रणनीति पर भी गहन चर्चा हुई। भाजपा को कैसे चुनावी मैदान में पटकनी दी जा सके और महागठबंधन राज्य के सभी 14 सीटों पर परचम लहरा सके, इस पर खासी रणनीति बनाई गई। समन्वय समिति के नेताओं का कहना है कि उनका लक्ष्य सभी 14 सीटें जीतना है। किसी लोकसभा क्षेत्र में थोड़ी भी चूक का मौका वे नहीं देने वाले हैं।

पूरे राज्य में भाजपा के प्रति आम जनता में आक्रोश है। इसी आक्रोश को वोट में तब्दील करना महागठबंधन में शामिल दलों का प्रमुख लक्ष्य है। बैठक के दौरान समन्वय समिति में झामुमो से विनोद पांडेय व सुप्रियो भट्टाचार्य, कांग्रेस से रविंद्र सिंह, झाविमो से योगेंद्र प्रताप सिंह व डा के के पोद्दार और राजद से मनोज कुमार व डा. मनोज मौजूद थे। 

इंडियन टी20 लीग

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस