श्रीनगर, राज्य ब्यूरो। अनंतनाग-पुलवामा संसदीय क्षेत्र से चुनाव लड़ रहे प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष जीए मीर ने कहा कि सत्ता में रहते हुए जिस तरह से पीडीपी ने लोगों की मुसीबतों को अनदेखा किया है, उसी तरह अब आम लोग इस चुनाव में उसे भुला देंगे। लोग पीडीपी को सबक सिखाने के लिए तैयार हैं। अनंतनाग के शांगस इलाके में चुनावी जनसभा को संबोधित करते हुए जीए मीर ने कहा कि रियासत में भाजपा और आरएसएस को लाने के लिए लोग पीडीपी को माफ नहीं करेंगे।

सिर्फ कांग्रेस ही कश्मीर और कश्मीरियों के हक में

मीर ने कहा कि दक्षिण कश्मीर में लोग पूरी तरह पीडीपी के खिलाफ हैं। पीडीपी-भाजपा गठबंधन सरकार में सबसे ज्यादा मुश्किल व बुरा वक्त दक्षिण कश्मीर के लोगों ने ही देखा है। यहां बेरोजगारी बढ़ गई,आतंकवाद फिर से पैदा हो गया। उन्होंने कहा कि सिर्फ कांग्रेस ही कश्मीर और कश्मीरियों के हक में है। कांग्रेस यहां धारा 370 को मजबूत बनाने के साथ ही कश्मीरियों की उम्मीदों को ध्यान में रखकर कश्मीर मसले के हल की दिशा में भी प्रयास करेगी।

पीडीपी ने गुज्जर-बक्करवाल समुदाय के लिए काम

दक्षिण कश्मीर में जनजातीय समुदायों के अधिकारियों के लिए लड़ रही महिला कार्यकर्ता जबीना शुक्रवार को डेमोक्रेटिक पार्टी (पीडीपी) में शामिल हो गई। पीडीपी अध्यक्ष एवं पूर्व मुख्यमंत्री महबूबा मुफ्ती के निवास पर ट्राईबल राईटस एक्टिविस्ट जबीना औपचारिक रूप से पीडीपी का हिस्सा बनीं। जबीना ने कहा कि पीडीपी ने जिस तरह से अपने कार्यकाल में जम्मू संभाग में गुज्जर और बक्करवाल समुदाय के कल्याण के लिए काम किया है,उससे प्रभावित होकर उसने पीडीपी का हिस्सा बनने का फैसला किया है। इसी दौरान शांगस, अनंतनाग में कांग्रेस के वरिष्ठ नेता खालिद मकबूल और त्रल में भाजपा प्रभारी मंजूर अहमद गनई ने भी पीडीपी का दामन थामा। महबूबा मुफ्ती ने इन सभी लोगों का स्वागत करते हुए कहा कि इससे पीडीपी और मजबूत हुई है। इन लोगों का पीडीपी से जुडऩा साबित करता है कि आम कश्मीरी को आज भी पीडीपी में पूरा यकीन है और वह पीडीपी की नीतियों से पूरी तरह सहमत है। कांग्रेस के वरिष्ठ नेता खालिद मकबूल ने कहा कि वे पीडीपी की नीतियों से प्रभावित होकर पीडीपी में शामिल होने का फैसला किया है। वहीं पीडीपी अध्यक्ष महबूबा मुफ्ती ने कांग्रेस नेता व भाजपा के त्रल प्रभारी मंजूर का पार्टी में स्वागत किया। उन्होंने कहा कि इन नेताओं के पार्टी में शामिल होने से पार्टी का और जनाधार बढ़ेगा।

कश्मीरी पंडितों को मतदान करने से रोकने का आरोप

नेशनल अवामी युनाइटेड पार्टी के चेयरमैन पंकज लंगू ने कश्मीरी पंडितों को मतदान करने से रोकने का आरोप लगाया। उनका का आरोप है कि कई कश्मीरी पंडितों के एम फार्म भरने की बाद भी मतदाता सूची में नाम शामिल नहीं थे। ऐसा लगता है कि जैसे इन लोगों को मतदान से वंचित रखने के लिए किया गया था। लंगू का कहना है कि इस बारे एआरओ से भी संपर्क किया गया, लेकिन उन्होंने भी इस मामले में कुछ करने से इन्कार कर दिया। लंगू ने इस मामले की जांच करने की अपील चुनाव आयुक्त से की है और उन लोगों के खिलाफ कार्रवाई की मांग भी की जिनके कारण लोग अपने मत का प्रयोग करने से वंचित रह गए। 

Posted By: Rahul Sharma

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप