फीरोजाबाद, जासं। सपा के गढ़ में हुई सैफई परिवार के चाचा-भतीजे की जंग में गुमनामी से निकले सियासी सूरमा डॉ.चंद्रसेन जादौन सुल्तान बन गए। इसके साथ ही 21 सालों से लोकसभा सीट पर भाजपा की वापसी हो गई। सादगी की पहचान वाले डॉ.चंद्रसेन जादौन महागठबंधन से नजदीकी मुकाबला करते हुए जीत के पायदान पर पहुंच गए। इसके बाद भाजपाइयों ने जमकर जश्न मनाया। पांच में से चार विधानसभा जीती भाजपा ने लोकसभा भी जीत ली। इसके साथ सुहागनगरी पर सपा का रंग उतरकर भगवा रंग चढ़ गया। 

 सपा का गढ़ माने जाने वाले फीरोजाबाद में सपा-बसपा गठबंधन ने अक्षय यादव को दूसरी बार मैदान में उतारा था। वोटों के गणित से अक्षय सबसे मजबूत दावेदार माने जा रहे थे। इसी बीच प्रसपा बनाकर मैदान में आए उनके चाचा शिवपाल यादव ने दावेदारी ठोक दी। भाजपा ने पार्टी के पुराने वफादार सिरसागंज के डॉक्टर चंद्रसेन जादौन में प्रत्याशी घोषित किया तो पार्टी कार्यकर्ता भी चौंक गए। 1999 से फीरोजाबाद सीट (2009 के उपचुनाव को छोड़) पर लगातार सपा जीत रही थी। इसके बाद भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह ने सबसे पहले फीरोजाबाद में रैली कर कार्यकर्ताओं में जोश भर दिया। 

 गुरुवार सुबह साढ़े आठ बजे से हुई मतगणना में पहले सात राउंड तक डॉ.चंद्रसेन जादौन गठबंधन प्रत्याशी अक्षय यादव से आगे रहे और कार्यकर्ताओं में जोश भर गया। इसके बाद दोनों के बीच कांटे का मुकाबला शुरू हो गया। शिवपाल ङ्क्षसह यादव लगातार तीसरे स्थान पर रहे, लेकिन अपनी पुरानी पार्टी और भतीजे के लिए वोट कटवा की भूमिका निभाते रहे। 14 वें राउंड में एक साथ 25 हजार से ज्यादा वोट पाकर डॉ.जादौन ने फिर से मजबूत बढ़त बना ली और आखिरी तक मजबूती दिखाते रहे। इसके साथ ही उन्होंने फाइनल राउंड में जीत हासिल कर ली। इसके साथ ही भाजपाई जश्न में डूब गए। डीएम सेल्वा कुमारी जे ने उन्हें जीत का प्रमाण पत्र दिया। 

सेवा और समर्पण को मिला सम्मान

सिरसागंज निवासी भाजपा प्रत्याशी डॉ. चंद्रसेन जादौन जनसंघ के समय से भाजपा के सक्रिय कार्यकर्ता रहे और पार्टी ने उनके समर्पित भाव को सम्मान देते हुए प्रत्याशी बनाया था। जिले में भाजपा के पुराने सिपाहियों में से एक डॉ. जादौन 1991 में मदनपुर मण्डल के युवा अध्यक्ष बने। 1995 में पार्टी के मदनपुर मण्डल अध्यक्ष बने। इसके अगले वर्ष 1996 में उन्होंने घिरोर विधानसभा से प्रत्याशी बनाया गया, मगर साढ़े 28 हजार वोट पाकर तीसरे स्थान पर रहे। वर्ष 2000 में उन्हें जिला मंत्री बनाया गया। वर्तमान में भाजपा के ब्रज क्षेत्र के चिकित्सा प्रकोष्ठ के संयोजक के रूप में पार्टी में कार्य कर रहे थे। अब सांसद उनकी पहचान बनी है।  

फीरोजाबाद लोकसभा सीट-2019

डा. चंद्रसेन जादौन, भाजपा- 486077 (जीते)

अक्षय यादव, सपा- 461086

शिवपाल यादव, प्रसपा- 91054

भाजपा जीती- 24991 वोट से

कुल पड़े वोट-1071948

टूंडला से निकला भाजपा की जीत का रास्ता

21 साल का वनवास काट चुकी भाजपा के लिए जीत की संजीवनी टूंडला से निकली। पिछले विस चुनाव से पहले बसपा का गढ रहे टूंडला ने गठबंधन को तगड़ा झटका दिया और भाजपा की जीत तय कर दी। इस विधानसभा से भाजपा को जीत वाले वोट ज्यादा हासिल हुए। हालांकि सपा के गढ़ मानी जाने वाली सिरसागंज और शिकोहाबाद विस में बागियों के बावजूद सपा जीतकर आगे आई। शहर सीट से भी भाजपा को संजीवनी हासिल हुई। 

  विधानसभा क्षेत्र

- फीरोजाबाद, टूंडला, जसराना, शिकोहाबाद

वर्ष 2014 का चुनाव

कुल वोटर- 1633817

कुल पड़े वोट- 41.0 फीसद

जीते- अक्षय यादव जीते-534583( सपा)

हारे- प्रो.एसपी सिंह बघेल हारे-420524( भाजपा)

लोकसभा चुनाव 2019 के आंकड़े

कुल वोटर- 17,85,577

कुल मतदान- 10,71,948

कुल प्रत्याशी- छह

 

लोकसभा चुनाव और क्रिकेट से संबंधित अपडेट पाने के लिए डाउनलोड करें जागरण एप

Posted By: Prateek Gupta