जम्मू, राज्य ब्यूरो। लद्दाख संसदीय सीट को फिर से जीतने की प्रदेश भाजपा की मुहिम को महिला मोर्चा बल दे रहा है। महिला मोर्चा लेह में जोरशोर से पार्टी को कामयाब बनाने के लिए प्रचार कर रहा है। लद्दाख सीट पर जीते में लेह की महिलाओं की अहम भूमिका रहेगी। जिले में महिला मतदाताओं की संख्या पुरुष मतदाताओं के बराबर है। ऐसे में महिला मोर्चा के कार्यकर्ता घर घर जाकर महिलाओं का समर्थन हासिल करने के प्रयास कर रही हैं। बुधवार को महिला मोर्चा के कार्यकर्ताओं का उत्साह बढ़ाने के लिए लद्दाख में डेरा डाले प्रदेश अध्यक्ष रविंद्र रैना ने भी डोर टू डोर अभियान में उनके साथ प्रचार किया। उनके साथ लद्दाख के प्रभारी व एमएलसी विक्रम रंधावा, अरूण देव सिंह जम्वाल भी मौजूद थे। रंधावा लद्दाख में डेरा डालकर प्रचार कर रहे हैं। लद्दाख में भाजपा के प्रचार को गति देने के लिए रविंद्र रैना लद्दाख में 4 मई तक डेरा डाले रहेंगे।

लद्दाख में प्रचार चरम पर

अब लद्दाख सीट के लिए प्रचार चरम पर है। वहां पर भी कांग्रेस के उम्मीदवार सपालवार अकेले ही प्रचार कर रहे हैं, जिस तरह से भाजपा के स्टार प्रचारकों ने पूरी ताकत झोंकी है। उसके मुकाबले में कांग्रेस पीछे है। जम्मू व ऊधमपुर सीट से चुनाव लड़ रहे भाजपा उम्मीदवारों के पक्ष में प्रचार के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, राजनाथ सिंह, अमित शाह, पीयूष गोयल, राजू श्रीवास्तव, किरण रिजिजू, राममाधव, अविनाश राय खन्ना आ चुके हैं।

कामयाबी हासिल करेगी भाजपा : रैना

डोर टू डोर अभियान का शुभारंभ करने वाले रविंद्र रैना ने कहा कि लेह व कारगिल में भाजपा कार्यकर्ताओं का हौसला बुलंद है। भाजपा इस संसदीय क्षेत्र से बड़ी कामयाबी हासिल करेगी। मोदी सरकार ने न सिर्फ क्षेत्र में विकास को बढ़ावा दिया अपितु चिकित्सा, शिक्षा क्षेत्र के बुनियादी ढांचे को भी मजबूत किया।

हर घर तक पहुंचाएं मोदी के विकास का संदेश

लेह जिले में महिला, पुरूष मतदाताओं की संख्या बराबर-बराबर है। जिले में पुरूषों की संख्या 42695 और महिलाओं की संख्या 42654 है। इसके साथ जिले के 1481 सर्विस मतदाताओं में भी 41 महिलाएं हैं। ऐसे में भाजपा महिला मोर्चा की जिम्मेदारी बढ़ जाती है। उस पर पार्टी हाईकमान के भी निर्देश हैं कि अधिक से अधिक महिलाओं को भाजपा के साथ जोड़ा जाए। ऐसे में लेह महिला मोर्चा की प्रधान डॉ. येंगचैन डोलमा ने महिला कार्यकर्ताओं को निर्देश दिए हैं कि भाजपा उम्मीदवार जामियांग सीरिंग नाम्गयाल की जीत यकीनी बनाने के लिए वे लेह व नोबरा में हर घर का दरवाजा खटखटाएं। लेह में महिला मोर्चा के डोर टू डोर की शुरुआत करते हुए मोर्चा प्रधान ने जोर दिया कि हर घर तक प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी का तेज विकास का संदेश पहुंचे। जब तक लद्दाख में लक्ष्य हासिल न हो, महिला मोर्चा अपने अभियान को जारी रखें।

प्रदेश कांग्रेस को खल रही पार्टी के दिग्गज नेताओं की कमी

ऐसा लगता है कि कांग्रेस हाईकमान ने जम्मू कश्मीर में पार्टी के उम्मीदवारों को उनके हाल पर ही छोड़ दिया है। राज्य में चुनाव प्रचार के लिए पार्टी का कोई दिग्गज या स्टार प्रचारक नहीं आया। उम्मीदवारों ने स्वयं प्रचार किया। जम्मू कश्मीर की कुल छह संसदीय सीटों में से चार के चुनाव हो चुके हैं। अनंतनाग संसदीय सीट के पहले चरण में अनंतनाग जिले के लिए बुधवार को मतदान हुआ। अनंतनाग सीट के लिए दो चरण अभी बाकी है। वहीं लद्दाख सीट के लिए छह मई को चुनाव होना है। कांग्रेस की तरफ से अकेले राज्यसभा में विपक्ष के नेता और पूर्व मुख्यमंत्री गुलाम नबी आजाद ने ही प्रचार किया। उन्होंने हर क्षेत्र को कवर करने की कोशिश की।

जम्मू पुंछ सीट के उम्मीदवार रमण भल्ला भी स्थानीय नेताओं के साथ प्रचार करते रहे। ऊधमपुर-डोडा सीट के उम्मीदवार विक्रमादित्य सिंह के पक्ष में उनके पिता व पूर्व सदर-ए-रियासत डा. कर्ण सिंह ने प्रचार किया। नजदीकी रिश्तेदार होने के कारण ज्योतिरादित्य सिंधिया जरूर आए। अनंतनाग सीट के लिए पार्टी के उम्मीदवार और प्रदेश प्रधान जीए मीर भी पिछले कई दिनों से अकेले ही प्रचार कर रहे हैं। अभी अनंतनाग सीट के लिए दो चरण के मतदान बाकी है। हैरानगी की बात यह भी है कि पार्टी की जम्मू कश्मीर मामलों की प्रभारी अम्बिका सोनी भी नजर नहीं आई।

 

Posted By: Rahul Sharma