जम्मू, राज्य ब्यूरो। लद्दाख संसदीय सीट को फिर से जीतने की मुहिम को बल दे रहे केंद्रीय गृहराज्यमंत्री किरण रिजिजू ने कहा है कि भाजपा ने लद्दाख को राज्य का अलग डिवीजन बनाया है, अब इसी तरह से इसे यूनियन टेरेटरी भी बनाया जाएगा। अपने लद्दाख दौरे के तीसरे दिन लद्दाख में प्रचार करते हुए रिजिजू ने कहा है कि लद्दाख की भोती भाषा को संविधान के- आठवें शेडयूल में शामिल करने की मांग भी केंद्र सरकार के पास विचाराधीन है।

अप्रैल महीने में लद्दाख संसदीय क्षेत्र में प्रचार करने के लिए दूसरी बार आए किरण रिजिजू बुधवार को दिल्ली के लिए रवाना हो जाएंगे। इसी बीच किरण रिजिजू के साथ उत्तरी पूर्वी राज्य मणिपुर से भाजपा के पदाधिकारी भी प्रचार करने के लिए लद्दाख पहुंच गए हैं। लद्दाख संसदीय सीट के लिए प्रचार के लिए अब सिर्फ चार दिन बचे हैं। ऐसे में भाजपा सांसद व जम्मू-पुंछ संसदीय सीट के उम्मीदवार जुगल किशोर शर्मा भी प्रचार को तेजी देने के लिए लेह पहुंच गए हैं।

भाजपा उम्मीदवार के समर्थन में किया प्रचार

किरण रिजिजू ने मंगलवार को लेह की नोबरा वैली के डिस्कित व कारगिल जिले की जंस्कार इलाके में भाजपा उम्मीदवार जामिायंग सीरिंग नामग्याल के समर्थन में प्रचार किया। उनके साथ भाजपा उम्मीदवार, प्रदेश अध्यक्ष रविन्द्र रैना व भाजपा के एमएलसी छीरिंग दोरजे भी मौजूद थे। अपनी रैलियों में किरण रिजिजू ने कांग्रेस पर निशाना साधते हुए कहा कि इस पार्टी ने लद्दाख के साथ धोखा किया है। भाजपा राष्ट्रभक्त लद्दाखियों से इंसाफ कर रही है। वहीं प्रचार कर रहे प्रदेश भाजपा के नेताओं ने लद्दाख में विकास को तेजी देने के लिए भाजपा के प्रयासों का हवाला देते हुए कहा कि सिर्फ यही पार्टी उनके भविष्य को बेहतर बनाने के लिए समर्पित है।

चुनाव प्रचार में भाजपा ने झोंकी ताकत

लद्दाख संसदीय क्षेत्र में व्यापक प्रचार के जरिये राजनीतिक लक्ष्य हासिल करने के लिए प्रदेश भाजपा क्षेत्र में पंद्रह घंटे से भी अधिक प्रचार कर रही है। हाईकमान के स्पष्ट निर्देश हैं कि पिछली बार की तरह इस बार भी लद्दाख में जीत को यकीनी बनाकर राज्य में मजबूत होने का संदेश दिया जाए। ऐसे में लद्दाख में डेरा डाले बैठे प्रदेश भाजपा नेता इन दिनों सुबह डोर टू डोर अभियान व रात को मोहल्लों बैठकों के जरिये अधिक से अधिक लोगों से संपर्क साध रहे हैं। प्रचार को पंख लगाने की मुहिम में हाईकमान भी पूरा सहयोग दे रही है। ऐसे में चार मई तक लद्दाख में या तो प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी या फिर अमित शाह के आने के पूरे आसार हैं। देश में प्रचार की व्यस्तता के कारण अभी तक इन दिग्गजों में से किसी एक के लद्दाख में आने की अधिकारिक पुष्टि नहीं हुई है। इसी बीच लद्दाख के दूर दराज इलाकों में भाजपा नेता, ब्लाक स्तरीय इकाइयों के पदाधिकारियों के साथ मिलकर अधिक से अधिक लोगों से मिल रहे हैं। तय शेडयूल के अनुसार दिन को डोर टू डोर अभियान, दोपहर को चुनावी कार्यक्रम व रात के समय मोहल्लों बैठकें कर पार्टी के उम्मीदवार के समर्थन में प्रचार कर रहे हैं। इस व्यापक प्रचार अभियान का मकसद कम से कम समय में अधिक से अधिक लोगों तक भाजपा का संदेश पहुंचाना है। लद्दाख के प्रभारी व एमएलसी विक्रम रंधावा का कहना है कि प्रचार में नेता, कार्यकर्ता पूरा समय दे रहे हैं। सुबह सात बजे से लेकर रात के ग्यारह बजे प्रचार आम बात हैं। ऐसे में दिन में औसतन पंद्रह घंटे प्रचार कर नेता व कार्यकर्ता चुनावी लक्ष्य को हासिल करने के लिए जोर लगा रहे हैं।

कांग्रेस के कमजोर प्रचार को भी भाजपा बना रही चुनावी मुद्दा

जम्मू, लद्दाख संसदीय क्षेत्र में कांग्रेस का कमजोर चुनाव प्रचार भी भाजपा के लिए चुनावी मुद्दा बन गया है। कांग्रेस ने इस संसदीय क्षेत्र में प्रचार करने के लिए अपना एक भी स्टार प्रचारक नहीं भेजा है। वहीं भाजपा ने स्टार प्रचारकों की एक पूरी टीम लद्दाख में प्रचार करने के लिए लगाई है। ऐसे हालात में लद्दाख में प्रचार कर रहे भाजपा नेता कांग्रेस को घेर रहे हैं कि लद्दाख कांग्रेस के लिए महत्व नहीं रखता है। यही कारण है कि कांग्रेस हाईकमान लद्दाख में प्रचार करने को अहमियत नहीं दे रहा है। मंगलवार को लेह में प्रचार के दौरान सांसद जुगल किशोर शर्मा ने भी इस मुद्दे पर कांग्रेस को घेरा। उन्होंने कहा कि राष्ट्रवादी तत्वों को खुश करने वाली कांग्रेस के लिए लद्दाख व यहां के लोगों के लिए समय नहीं है।

अभी तक कांग्रेस के दिग्गजों के आने का कार्यक्रम नहीं

कांग्रेस प्रचार के मामले में इस समय भाजपा के सामने कुछ भी नहीं है। प्रचार प्रबंधन के मामले में न तो पार्टी हाईकमान और न ही प्रदेश नेतृत्व ने ही अब तक लद्दाख संसदीय सीट को कोई अहमियत दी है। प्रचार खत्म होने में चार दिन बाकी रहे गए हैं व अब तक किसी भी दिग्गज के आने का कार्यक्रम नहीं है। इन हालात में कांग्रेस की लेह जिला इकाई में कोई उत्साह नहीं हैं। लद्दाख में कांग्रेस के प्रचार की कमान कांग्रेस के पूर्व मंत्री रिगजिन जोरा व कांग्रेस के उम्मीदवार सपालवार संभाल रहे हैं।

भाजपा ने लद्दाख को केंद्र शासित प्रदेश का दर्जा नहीं दिया : कांग्रेस

प्रदेश कांग्रेस कमेटी के मुख्य प्रवक्ता रविन्द्र शर्मा ने कहा कि भाजपा नेतृत्व लद्दाख के लोगों की आकंक्षाओं को पूरा करने में विफल रहा, इसी का नतीजा रहा कि भाजपा के सांसद थुप्सन छिवांग ने इस्तीफा दे दिया। इससे भाजपा का असली चेहरा लोगों के सामने आ गया। उन्होंने कहा कि कांग्रेस ने हमेशा ही लद्दाख के विकास की तरफ ध्यान दिया है। पहाड़ी विकास स्वायत्त विकास काउंसिलों का गठन करके लद्दाख को सशक्त बनाया था। मोदी सरकार की नाकामी यह है कि कश्मीर में हालात खराब होते चले गए।

देश विरोधी तत्वों को खुश कर रही कांग्रेस : जुगल किशोर

जम्मू पुंछ के सांसद जुगल किशोर शर्मा ने लेह के नीमो बाजगो व ने में भाजपा उम्मीदवार के समर्थन में प्रचार करते हुए कांग्रेस को घेरा। उन्होंने कहा कि कांग्रेस यहां देशविरोधी तत्वों को खुश कर रही है तो भाजपा राष्ट्रवादी तत्वों को मजबूत बनाकर देश को सशक्त बना रही है। उनके साथ प्रचार करने के लिए मणिपुर भाजपा के उपाध्यक्ष मोइरांगथम असनीकुमार सिंह व इंफाल के विधायक सुसिंदरों मतई भी मौजूद थे। उन्होंने कहा कि देश व लद्दाख को सशक्त बनाने के लिए जरूरी है कि भ्रष्टाचार को शह देने वाली ताकतें कमजोर हों।

Posted By: Rahul Sharma

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप