रांची, जासं। Lok Sabha Election 2019 - लोकसभा चुनावों को लेकर विपक्षी महागठबंधन की धुरी बने चारा घोटाले के चार मामलों के सजायाफ्ता राजद सुप्रीमो लालू प्रसाद यादव के चुनाव प्रभावित करने की सूचना पर रांची के रिम्‍स में उनके वार्ड को एक बार फिर खंगाला गया है। मंगलवार को झारखंड पुलिस ने दल-बल के साथ उनके पेइंग वार्ड  ए 11 में घंटेभर छापेमारी की।

इस बार बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार द्वारा जेल से लालू प्रसाद यादव द्वारा चुनाव को प्रभावित करने के आरोप के बाद झारखंड पुलिस रेस हुई। जानकारी मिलने के बाद आनन-फानन में सिटी एसपी, जेल अधीक्षक और सदर डीएसपी की अगुआई में पुलिस बल ने रिम्‍स में लालू के पेइंग वार्ड की घंटेभर गहन तलाशी ली। राजद सुप्रीमो लालू प्रसाद यादव चारा घोटाले में सजायाफ्ता हैं और बीमार होने के बाद रिम्स में इलाजरत हैं।

नीतीश कुमार के बयान के बाद रिम्स में जेल की अभिरक्षा में इलाजरत बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री राजद सुप्रीमो लालू प्रसाद यादव के पेइंग वार्ड का निरीक्षण किया गया। निरीक्षण करने झारखंड पुलिस के एसपी  सुजाता वीणापाणि, सदर डीएसपी दीपक कुमार पांडेय, जेल अधीक्षक अशोक कुमार चौधरी, बरियातू थानेदार संजीव कुमार सहित अन्य पहुंचे थे। पूरे वार्ड को खंगाला गया। कोने-कोने की  गहनता से तलाशी ली गई। लेकिन कहीं से न मोबाइल मिला, न कोई आपत्तिजनक सामान ही बरामद किया गया। 

बीते दिन लालू प्रसाद यादव के वार्ड में छापेमारी को पहुंची झारखंड पुलिस।

बता दें कि बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने कहा था कि लालू प्रसाद यादव रिम्स मेें जेल की अभिरक्षा में रहते हुए मोबाइल फोन का इस्तेमाल कर राजनीति कर रहे हैं। उनके इस बयान के बाद हरकत में आई पुलिस ने पूरे वार्ड को खंगाल लिया, लेकिन खाली हाथ लौटना पड़ा। हालांकि, लालू की सुरक्षा में तैनात अधिकारियों को अलर्ट किया गया है। बिना जेल अधीक्षक की अनुमति के किसी को नहीं मिलने देने का सख्‍ती से पालन करने को कहा गया है। मालूम हो कि लालू प्रसाद यादव चारा घोटाला के मामले में रांची के बिरसा मुंडा केंद्रीय जेल में सजा काट रहे हैं। वहां से उन्‍हें गंभीर बीमारियों के इलाज के लिए रांची के रिम्‍स में भर्ती कराया गया है। लालू प्रसाद यादव पहली बार लोकसभा चुनाव के प्रचार से दूर हैं। 

अफवाह भी खूब फैलाई जा रही हैं। मंगलवार को आधे घंटे तक लालू प्रसाद यादव का वार्ड खंगाला गया। वहां न मोबाइल मिला और न ही कोई आपत्तिजनक वस्तु मिली।- वीरेंद्र भूषण, आइजी, जेल।  

नीतीश बगैर आधार कह रहे लालू मोबाइल से दे रहे निर्देश : तेजस्वी
इधर लालू प्रसाद यादव के बेटे, बिहार में नेता प्रतिपक्ष और पूर्व उपमुख्‍यमंत्री तेजस्वी प्रसाद यादव ने कहा कि बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार बगैर आधार के उनके पिता लालू प्रसाद यादव के बारे में वक्तव्य दे रहे हैैं। नीतीश कुमार ने कहा है कि लालू प्रसाद यादव जेल से मोबाइल फोन पर चुनाव के बारे में संबंधित लोगों से बात कर रहे हैैं। तेजस्वी यादव ने कहा कि यह निराधार बात है। तलाशी में कोई आपत्तिजनक सामान नहीं मिला है।

झारखंड के जेल आइजी ने साफ कहा है कि लालू प्रसाद यादव के पास जांच के दौरान कोई मोबाइल नहीं मिला। ऐसे में किन सबूतों के आधार पर नीतीश कुमार ऐसी बात कह रहे हैैं। असल में यह प्लाॅट प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के लिए तैयार किया गया। तय था कि अपनी गया की चुनावी सभा में इस पर कुछ बोलेंगे।

पहले भी हुई तलाशी, चुनाव प्रभावित करने का आरोप
रांची के रिम्‍स में अपनी गंभीर बीमारियों का इलाज करा रहे लालू प्रसाद यादव पर पहले भी लोकसभा चुनाव को लेकर रणनीति बनाने और जेल से ही नेताओं को निर्देश देने के आरोप लगे हैं। इससे पहले भी शनिवार को सदर डीएसपी दीपक पांडेय की अगुआई में पुलिस टीम ने उनके पेइंग वार्ड के कमरे ए 11 की गहन जांच की थी।

रांची के रिम्‍स में भर्ती लालू प्रसाद यादव के वार्ड की जांच करती झारखंड पुलिस।

लालू को चेस्‍ट इन्‍फेक्‍शन
रांची के रिम्‍स में गंभीर बीमारियों से जूझ रहे लालू प्रसाद यादव की देखरेख कर रहे डॉक्‍टर उमेश प्रसाद ने बताया कि लालू ब्रोंकाइटिस और चेस्‍ट इन्‍फेक्‍शन से पीडि़त हैं। उन्‍हें सांस लेने में दिक्‍कत हो रही है। कफ की भी शिकायत है। सुरक्षा कारणों से उनका एक्‍स-रे नहीं कराया गया है। एंटीबायोटिक के साथ जरूरी दवाएं दी जा रही हैं। चिकित्‍सक ने बताया कि लालू प्रसाद के शुगर में उतार-चढ़ाव हो रहा है। हालांकि, वे पहले की अपेक्षा अब स्‍वस्‍थ हैं। बताया गया है कि लालू प्रसाद की इको जांच व कार्डियक संबंधी परेशानी के बारे में बिरसा मुंडा जेल के सुपरिंटेंडेंट को चिट्ठी लिखी गई है। सुरक्षा एहतियात को देखते हुए जल्‍द ही उनकी आवश्‍यक जांच कराई जाएगी।

ये भी पढ़ें- बागी हुए लालू के लाल तेज प्रताप: पत्‍नी से चाहते तलाक, अब ससुर को भी देंगे टक्कर

ये भी पढ़ें- लालू का नाम ले अमित शाह ने डराया, कहा- महागठबंधन जीता तो बिहार में फिर जंगलराज

चुनाव की विस्तृत जानकारी के लिए यहाँ क्लिक करें

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप

budget2021