औरंगाबाद [जेएनएन]। भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह बिहार के औरंगाबाद में चुनावी सभा का संबोधित कर रहे हैं। उन्‍होंने राहुल गांधी से लेकर लालू प्रसाद यादव पर कटाक्ष किया। उन्‍होंने कहा कि जनता ने तय कर लिया है कि देश में नरेंद्र मोदी को दोबारा प्रधानमंत्री बनाना है। उन्‍होंने कटाक्ष करते हुए कहा कि लालू यादव की सरकार को लोगों ने देखा है। लूट मची हुई थी। यदि जनता महागठबंधन को चुनेगी तो बिहार में फिर से जंगलराज आ जाएगा।

अतिम शाह पूरे तेवर में थे। उन्होंने कहा कि सवाल भारत को दुनिया में महाशक्तिशाली बनाने का है। यह तभी होगा, जब नरेंद्र मोदी देश के प्रधानमंत्री बने रहेंगे। उन्होंने कहा कि महागठबंधन में जो शामिल हैं, उनसे जनता अच्छी तरह वाकिफ है। ये सत्ता में आए तो जंगलराज का कहर टूटने लगेगा। 

अमित शाह ने कहा कि राजग के नेता नरेंद्र मोदी हैं, लेकिन महागठबंधन को यह पता ही नहीं है कि उनका नेता कौन है। राहुल बाबा को उनके दल के नेता ही अपना नेता मानने को तैयार नहीं हैं। लालू जी के पुत्र (तेजस्वी यादव) भी उन्हें नेता मानने से इन्कार कर चुके हैं। बकौल शाह, राजग की सरकार ने देशहित में सिद्धांतों पर कार्य किया है, लेकिन महागठबंधन का कोई सिद्धांत नहीं है।

भारत और पाकिस्तान के बीच उत्पन्न तनाव पर चर्चा करते हुए कहा कि भारतीय सेना बहादुरी से जवाब दे रही है। पुलवामा में 40 जवानों की शहादत के बाद पूरे देश में उबाल था। लोगों को यह लग रहा था कि अब क्या होगा, लेकिन भारत ने पाकिस्तान में घुसकर जो किया, उसे सभी ने देखा। पाकिस्तान को यह मालूम नहीं था कि देश का प्रधानमंत्री अब कोई मनमोहन सिंह नहीं हैं, बल्कि नरेंद्र मोदी हैं। भारत ने एयर स्ट्राइक कर आतंकियों के शिविर को तबाह करते हुए शहीदों के परिजनों के कलेजे को ठंडक पहुंचाई। पहले इस तरह की कार्रवाई सिर्फ अमेरिका करता था, पर प्रधानमंत्री मोदी के नेतृत्व में यह हमने भी किया। भारत ने आतंकियों को मुंहतोड़ जवाब दिया और दूसरी तरफ महागठबंधन के नेता नेता सबूत मांग रहे हैं। 

अंतरिक्ष में गढ़े गए कीर्तिमान की चर्चा करते हुए कहा कि अब भारत दुनिया का चौथा महाशक्तिशाली देश बन चुका है। यह गौरव नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में हासिल हुआ। बिहार से लेकर देश के अन्य राज्यों में बना महागठबंधन विकास तो नहीं करेगा, विनाश जरूर कर सकता है। उन्होंने बिहार के हर मतदाता से वोट की अपील की, ताकि सभी 40 सीटों पर राजग विजयी हो सके। 

बकौल शाह, औरंगाबाद के सांसद सुशील कुमार सिंह ने घर-घर सिलेंडर और बिजली पहुंचाई, यह हर कोई देख रहा है। राजग सरकार ने गांव-गांव तक विकास की रणनीति बनाई। प्रधानमंत्री द्वारा चलाई जा रही कल्याणकारी योजनाओं का जिक्र करते हुए कि संप्रग सरकार में गरीब पैसे के बिना बीमारी से मर जाते थे। प्रधानमंत्री मोदी ने आयुष्मान भारत योजना का शुभारंभ कर गरीबों को पांच लाख तक के इलाज की सुविधा दी। शौचालय निर्माण, पाइपलाइन से गैस पहुंचाने के अलावा अन्य कई योजनाएं भी गिनार्इं। उन्होंने कहा कि सात करोड़ से अधिक गरीबों को गैस सिलेंडर दिया जा चुका है। दो करोड़ 35 लाख घरों में बिजली पहुंचाई गई। हर घर में बिजली पहुंचाई गई। गरीब सवर्णों को भी अलग से दस प्रतिशत आरक्षण देकर ऐतिहासिक कार्य किया। संप्रग की सरकार ने पिछड़ों व अतिपछड़ों को ठगने का काम किया, लेकिन मोदी ने अतिपिछड़ों के लिए पिछड़ा आयोग को संवैधानिक दर्जा दिया। 

गांधी मैदान में हुई सभा में जनसैलाब उमड़ पड़ा था। सभा को सांसद सुशील कुमार सिंह, काराकाट के पूर्व सांसद महाबली सिंह, गया के सांसद हरि मांझी आदि ने संबोधित किया। भाजपा के प्रदेश प्रभारी भूपेंद्र यादव, प्रदेश अध्यक्ष नित्यानंद राय, सासाराम के सांसद छेदी पासवान, सांसद गोपाल नारायण सिंह आदि मौजूद थे।

बता दें कि आैरंगाबाद से एनडीए की ओर से बीजेपी ने सुशील कुमार सिंह को अपना उम्‍मीदवार बनाया है और यहां पहले चरण में 11 अप्रैल को वोटिंग है। इसके पहले अमित शाह का गया एयरपोर्ट पर स्‍वागत किया गया। स्‍वागत के लिए गया एयरपोर्ट पर बिहार के मंत्री डॉ प्रेम कुमार, विधान पार्षद कृष्ण कुमार सिंह, पूर्व विधायक श्यामदेव पासवान और जिलाध्यक्ष धनराज शर्मा को अनुमति मिली। ये सभी टर्मिनल के अंदर पहुंचे। राष्ट्रीय अध्यक्ष का स्वागत के लिए भाजपा कार्यालय से 16 लोगों की लिस्ट एयरपोर्ट ऑथरिटी को दी गई थी, लेकिन आचार संहिता का हवाला देते हुए चार लोगों को ही अनुमति दी गई।

 

Posted By: Rajesh Thakur