नई दिल्ली, जागरण संवाददाता। बल्लीमारान विधानसभा क्षेत्र चांदनी चौक संसदीय क्षेत्र में आता है। इसमें पुरानी दिल्ली के कई इलाके भी आते हैं। कभी दिल्ली का दिल कहे जाने वाली दिल्ली-6 के तहत पड़ने वाली इस सीट के वाशिंदे आज भी बुनियादी सुविधाओं के लिए जूझ रहे हैं। संकरी गलियों में बिजली के लटकते तारों का जाल इस तरह बिछा हुआ है कि गली में खड़े होकर आसमान देख पाना भी मुश्किल होता है। साफ-सफाई से लेकर पानी जैसे विधानसभा क्षेत्र के कई अहम मुद्दे हैं। इन्हीं मुद्दों पर प्रमुख दलों के प्रत्याशियों से बात की गई, आइए जानते हैं क्या कहते हैं प्रमुख दलों के प्रत्याशी :

बल्लीमारान विस क्षेत्र के प्रत्याशी 

लता सोढ़ी, भाजपा

हारून यूसुफ, कांग्रेस

इमरान हुसैन, आप

आम आदमी पार्टी के उम्मीदवार इमरान हुसैन का वादा

  • पानी की सुविधा हो जाएगी, जहां दिक्कत है, वहां बोरवेल कराए जा रहे हैं। बल्लीमारान क्षेत्र में 80-90 फीसद तक पानी की समस्या का समाधान हो चुका है, जो भी काम बचा है, वह भी जल्द पूरा होगा।
  • सड़कों पर लगने वाले जाम की समस्या के लिए यातायात पुलिस के साथ एक योजना पर कार्य चल रहा है। लोगों के सुझाव और यातायात पुलिस के साथ मिलकर अतिक्रमण और जाम की समस्या पर कार्य किया जाएगा।
  • पुरानी इमारतों का संरक्षण भारतीय पुरातत्व सर्वेक्षण विभाग का है। विभाग कार्य कर रहा है, जो भी संभव होगा। उसके लिए कदम उठाए जाएंगे। इनका संरक्षण किया जाएगा।
  • सफाई का कार्य निगम पार्षदों के जिम्मे है। नगर निगमों के रवैये से कई बार सफाई कर्मी हड़ताल भी कर चुके हैं। फिर भी इसके लिए भी मिलकर कार्य करेंगे। जहां भी जरूरत होगी, स्थानीय निकाय से बात की जाएगी।
  • क्षेत्र से ही बिजली के तारों का जाल खत्म करने की शुरुआत होने जा रही है। कई कार्यो का एस्टीमेट बन गया है और कुछ के कार्यादेश भी जारी हो गए है। अन्य जगहों पर इससे जुड़ी समस्याएं खत्म की जाएंगी।

कांग्रेस उम्मीदवार हारून यूसुफ का वादा

  • पिछले पांच सालों में कोई काम नहीं किया गया। सीवर बह रहे हैं। सरकार चाहती है कि फ्री बिजली और पानी की बात करें। चाहे स्कूलों की हालत कितनी भी खराब हो। हमने बोरिंग कराकर पानी उपलब्ध कराया था और समान रूप से वितरण किया था।
  • क्षेत्र में अनधिकृत निर्माण को रोकने के लिए दिल्ली सरकार और नगर निगम द्वारा कोई ध्यान नहीं दिया गया। हम आएंगे तो इस पर रोक लगाने के साथ क्षेत्र में सभी को नियोजित करेंगे। क्षेत्रवासियों की समस्याओं को खत्म करने पर भी ध्यान दिया जाएगा।
  • विधायक रहते हुए मैंने हिंदुस्तानी दवाखाना बनवाया था। निगम के हेरिटेज विभाग की जिम्मेदारी है कि इनका संरक्षण करे। विधायक बना तो इस पर गंभीरता से कार्य कराएंगे। पुरानी इमारतों का संरक्षण किया जाएगा।
  • फराशखाने, नबी करीम में गंदगी की हालत है कि वह देखी नहीं जा सकती। बरसात के बाद तो यह हालत हो जाती है कि हमको इसे देखकर शर्म आ जाए कि यह दिल्ली-6 का इलाका है। इस पर अधिक ध्यान देने की जरूरत है। सफाई व्यवस्था बेहतर हो।
  • बिजली के तारों का हाल ये है कि 200 यूनिट में सब कुछ बर्दाश्त करना होगा। अनाज मंडी में 45 लोगों की जान चली गई। बिजली की कंपनियां ने बुनियादी ढांचे को सुधारने पर बजट खर्च करना बंद कर दिया। जिससे क्षेत्र में समस्या बढ़ी है।

भाजपा उम्मीदवार लता सोढ़ी का वादा

  • केजरीवाल सरकार ने मुफ्त बिजली-पानी का लालच तो दे दिया। लेकिन, जब क्षेत्र में पानी आएगा नहीं तो फिर कैसा फ्री पानी। प्रेम नगर रविदास बस्ती। अमर पुरी जैसे इलाकों में पानी की समस्या है।
  • अधिकत इलाकों में अतिक्रमण की समस्या बहुत हैं। वजह सरकार द्वारा टाउन वेडिंग कमेटी का गठन देरी से करना है। इससे लोग अनियोजित तरह से बैठते हैं। इन्हें नियोजित किया जा सकता है। इससे जाम से भी निजात मिलेगी।
  • पुरानी इमारतें पुरानी दिल्ली की पहचान हैं। उन्हें उसी तरह से रखा जाएगा। जिनका संरक्षण करने के लिए विभिन्न विभागों से समन्वय किया जाएगा। इसका पूरा ध्यान रखा जाएगा कि ये बरकरार रहें। 
  • निगम यहां पर अच्छी तरह से कार्य करता है, लेकिन उस पर दिल्ली सरकार द्वारा सीवर की साफ-सफाई पर्याप्त न करने की वजह से पानी फिर जाता है। जगह- जगह सीवर ओवर फ्लो होते हैं, जिससे गंदगी होती है। 
  • तारों से इतनी बुरी हालत है कि कभी भी कोई हादसा हो सकता है। इसमें मासूमों की जान चली जाती है। चुनाव जीतते ही मेरा सबसे पहला कार्य इन तारों के जाल को खत्म कराने का होगा।

 Delhi Assembly Elections 2020 : कस्तूरबा नगर सीट पर कांग्रेस ने युवा चेहरे पर लगाया दांव

 

Posted By: Mangal Yadav

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस