दौड़भाग भरी जिंदगी में तन-मन दोनों को स्वस्थ रखने और ताजगी के साथ काम करने के लिए योग का बड़ा महत्व है। आज योग यंगस्टर्स की प्रायॉरिटी लिस्ट में है। मन की थकान को दूर करने के लिए भारी संख्या में यंगस्टर्स योगासन और योगक्रियाओं का सहारा ले रहे हैं। इस बार दिल्ली डिजायर ने एक योग एक्सपर्ट की लाइफस्टाइल को जाना और डाइटीशियन की सलाह से जाना खानपान का सही और सेहतमंद तरीका।

दिनचर्या मैं सुबह 4 बजे उठकर तांबे के बर्तन से 1 लीटर पानी पीता हूं। उसके बाद 1 ग्लास गुनगुने पानी में शहद और नीबू मिलाकर पीता हूं। 4.30 बजे योगाभ्यास करता हूं। सूर्यनमस्कार व प्राणायाम करता हूं। फिर 5 बजे मैं योग की क्लास लेने के लिए जाता हूं। 10 बजे तक योगा क्लासेज चलती हैं। उसके बाद मैं जप करता हूं। शाम को फिर 4-8 बजे योग क्लास लेता हूं। मैं सप्ताह में दो बार जल नेति क्रिया / वमन धौति या सूत्र नेति क्रिया करता हूं। जिस दिन ये क्रियाएं करता हूं, कुछ नहीं खाता। इन्हें करने के बाद मैं सिर्फ मूंग की दाल की खिचड़ी खाता हूं।

ब्रेकफस्ट योग करने के लिए हमें खाली पेट रहना होता है। इसलिए सुबह 10 बजे क्लास खत्म होने के बाद मेरे ब्रेकफस्ट में आमतौर पर स्प्राउट्स, 1 ग्लास जूस, 1 कटोरी वेजटेबल्स और पोहा होते हैं।

लंच 1 बजे लंच में 1-2 चपाती, 1 कटोरी उबली हुई सब्जियां, 1 कप छाछ, 1 हरी सब्जी और दाल होते हैं।

कभी-कभार थोड़ा चावल भी ले लेता हूं।

स्नैक्स शाम 4 बजे ग्रीन टी लेता हूं। कभी फल या स्प्राउट्स लेता हूं।

डिनर 8.30 बजे 1-2 चपाती, उबली हुई सब्जियां, और 1 कटोरी दाल लेता हूं। उसके बाद रात 10 बजे तक सो जाता हूं। सोने से पहले 1-2 ग्लास पानी जरूर पीता हूं। योग करने से मुझे थकान, तनाव, डिप्रेशन, घबराहट जैसी समस्याएं नहीं होती। मेरा मेटाबॉलिक सिस्टम दुरुस्त रहता है। मैं स्वस्थ और खुश रहता हूं।

सोनिका शर्मा डाइटीशियन

-योग से लंबे समय तक स्वस्थ और युवा रहा जा सकता है। इसके साथ पौष्टिक और संतुलित डाइट हो तो सोने पर सुहागा हो जाता है।

-गौतम एक योग एक्सपर्ट हैं इसलिए उनका डाइट रुटीन काफी हद तक परफेक्ट है। लेकिन वह जहां योग सिखाते हैं, वही खाना खाते हैं। उन्हें घर का बना खाना खाना चाहिए।

-सप्ताह में दो बार जल नेति क्रिया, सूत्र नेति और वमन धौति क्रिया से शरीर डिटॉक्सीफाई हो जाता है। मेटाबॉलिक सिस्टम को दुरुस्त रखने के लिए योग बहुत उपयोगी है। गौतम को अपने ब्रेकफस्ट में थोड़ा प्रोटीन और कार्ब का कॉम्बिनेशन भी बनाना चाहिए। इसके लिए वह सब्जियों से भरी मल्टी ग्रेन आटे की रोटी भी ले सकते हैं। कभी-कभार दाल भरे परांठे और दही भी ले सकते हैं।

-इसके अलावा उन्हें ब्रेकफस्ट में रातभर भीगे 4 बादाम शहद के साथ लेने चाहिए।

-वह चाहें तो शाम को रोस्टेड चने भी ले सकते हैं।