Move to Jagran APP

Delhi Water Crisis: दिल्ली में जल संकट के बीच अब भाजपा ने AAP पर लगाया 'पानी चोरी' करने का आरोप

राजधानी में जल सकंट (Delhi Water Crisis) पर दिल्ली और हरियाणा आमने-सामने हैं। इस बीच प्रदेश अध्यक्ष वीरेंद्र सचदेवा ने आम आदमी पार्टी पर टैंकरों से पानी चोरी करने का गंभीर आरोप लगाया है। इससे पहले जल मंत्री आतिशी ने हरियाणा की नायब सैनी सरकार को घेरते हुए कहा कि पिछले कई दिनों से हरियाणा सरकार मुनक नहर में पानी कम छोड़ रही है।

By Santosh Kumar Singh Edited By: Monu Kumar Jha Published: Tue, 11 Jun 2024 08:58 PM (IST)Updated: Tue, 11 Jun 2024 09:20 PM (IST)
Delhi News: दिल्ली सरकार के संरक्षण में हो रही है पानी की चोरी: सचदेवा।

राज्य ब्यूरो, नई दिल्ली। (Delhi Water Crisis Hindi News) दिल्ली प्रदेश भाजपा अध्यक्ष वीरेंद्र सचदेवा (Virendra Sachdeva) ने दिल्ली सरकार के संरक्षण में पानी की चोरी होने का आरोप लगाया है। उन्होंने कहा, दिल्ली सरकार के मंत्री बार-बार झूठ बोल रहे हैं कि हरियाणा (Haryana News) से दिल्ली को पूरा पानी नहीं मिल रहा है। इस कारण दिल्ली में पानी की समस्या हो रही है। सच्चाई यह है कि दिल्ली सरकार द्वारा उत्पन्न किया हुआ यह जल संकट है।

हरियाणा से दिल्ली को मिल रहा अधिक पानी-सचदेवा

प्रेसवार्ता में उन्होंने कहा, नौ जून को दिल्ली और हरियाणा के अधिकारियों ने मुनक नहर उससे दिल्ली तक आने वाले पानी निरीक्षण किया था। अधिकारियों ने यह माना था कि हरियाणा से दिल्ली (Delhi Jal Sankat) को अधिक पानी मिल रहा है। मुनक से काकोरी आते-आते 20 प्रतिशत पानी बर्बाद या चोरी हो रहा है। उन्होंने सड़क पर खड़े टैंकरों की तस्वीर जारी की।

अवैध रूप से खड़े टैंकर से होती है पानी की चोरी-भाजपा नेता

दावा किया कि तस्वरी काकोरी से पहले की है और अवैध रूप से खड़े टैंकर से पानी की चोरी होती है। जल मंत्री आतिशी को इस बारे में स्थिति स्पष्ट करनी चाहिए कि जल बोर्ड के अधिकारियों की तैनाती के बाद भी कैसे पानी चोरी की जा रही है।

उन्होंने एक वीडियो क्लिप जारी कर दावा किया किया बीआरटी कोरिडोर के नजदीक से लगभग साढ़े तीन किलोमीटर के हिस्से में 80 स्थानों पर रिसाव होने से पानी की बर्बादी हो रही है।

पानी की चोरी व बर्बादी से दिल्ली में जल संकट-भाजपा

पानी की चोरी व बर्बादी से दिल्ली में जल संकट है। उन्होंने कहा, हिमाचल प्रदेश से अतिरिक्त जल मिलने के बाद भी समस्या का समाधान नहीं होगा क्योंकि, न तो दिल्ली जल बोर्ड (Delhi Jal Board) के पास इसे शोधित करने की व्यवस्था है और न संग्रहण की।

यह भी पढ़ें: Delhi Water Crisis: जल संकट पर दिल्ली-हरियाणा के बीच महासंग्राम, आतिशी ने सैनी सरकार पर अब लगाए ये गंभीर आरोप


This website uses cookies or similar technologies to enhance your browsing experience and provide personalized recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.