नई दिल्ली, ऑनलाइन डेस्क। अपनी खूबसूरत कविताओं-शायरियों से देश-दुनिया के लाखों दिलों  पर राज करने वाले मशहूर कवि कुमार विश्वास इन दिनों खूब मुड में हैं। पिछले 24 से 48 घंटों के दौरान कभी अव्यवस्था को लेकर नाराज हुए तो कभी अपनी शानदार शायरी से लोगों को दीवाना बनाया। अलग-अलग मूड और मिजाज की शायरी-कविता के जरिये कुमार विश्वास ने दो ताजा ट्वीट से अपने चाहने वालों का दिल जीत लिया। राजनीतिक और सामाजिक मुद्दों पर प्रतिक्रिया देने वाले कुमार विश्वास ने एक ट्वीट में भारतीय रिजर्व बैंक के उस फैसले की आलोचना की है, जिसमें बैंकों को मुफ्त मासिक सीमा से ज्यादा बार एटीएम से लेन-देन करने वाले ग्राहकों से ज्यादा शुल्क लेने की अनुमति दे दी है। वहीं, दूसरे ट्वीट यानी अपनी ताजा रोमांटिक - शायरी में लिखा है- '..तो जानेमन मैं तेरे नाम ये भोपाल लिखता हूं।' कुमार विश्वास ने अपने ट्वीटर हैंडल पर शायरी लोगों के लिए साझा की है, जो इस तरह है।

'नदी पर्वत से उतरे तो मैं तेरी चाल लिखता हूं,

तेरे होठों की लरजिश पर हर इक सुर-ताल लिखता हूं,

तेरी आंखों की झीलों में है मेरे इश्क के आंसू,

तो जानेमन मैं तेरे नाम ये भोपाल लिखता हूं...!'

वहीं, ताजा फैसले में भारतीय रिजर्व बैंक (RBI) ने बैंकों को मुफ्त मासिक सीमा से ज्यादा बार एटीएम से लेन-देन  करने वाले ग्राहकों से ज्यादा शुल्क लेने की अनुमति दे दी है, इस पर कवि कुमार विश्वास ने नाराजगी भरा ट्वीट किया है- सांस लेने पर ही लगा दो ना। झंझट ही ख़त्म करो एक बार में। क्यूं रोज़-रोज़ ज़लील करती हो भाई? लोगों ने ख़ून-पसीने से कमा कर चार पैसे कमाए तो कोई राजद्रोह का अपराध कर दिया हुज़ूर।'

बता दें कि आने वालों दिनों में तय सीमा के बाद एटीएम ट्रांजेक्शन के लिए अब लोगों को अपनी जेबें ढीली करनी पड़ेंगी, क्योंकि RBI ने बैंकों को मुफ्त मासिक सीमा से ज्यादा बार एटीएम से लेन-देन करने वाले ग्राहकों से ज्यादा शुल्क लेने की अनुमति दे दी है। इसके बाद 1 जनवरी 2022 से एटीएम से मुफ्त ट्रांजेक्शन की सीमा से अधिक नकद निकासी पर शुल्क 20 रुपये से बढ़ाकर 21 रुपये प्रति लेन-देन कर सकते हैं।

इसके तहत मेट्रो सिटी में यानी महानगरों में अन्य बैंकों के एटीएम से तीन बार मुफ्त लेन-देन किया जा सकता है, जबकि छोटे शहरों में दूसरी बैंकों से महीने में पांच बार मुफ्त लेन-देन किया जा सकता है। फिलहाल अगर उपभोक्ता इस सीमा से अधिक बार पैसा निकालता है तो उसे शुल्क के तौर पर 20 रुपये प्रति लेनदेन देने पड़ते हैं। अब आरबीआइ ने कहा कि  उच्च इंटरचेंज शुल्क (high interchange fee) को लेकर बैंकों को क्षतिपूर्ति करने के लिए और लागत में सामान्य वृद्धि को देखते हुए, उन्हें उपभोक्ता शुल्क को प्रति लेनदेन 21 रुपये तक बढ़ाने की अनुमति दी गई है।  यह इजाफा 1 जनवरी, 2022 से प्रभावी होगा।

इसे भी पढ़ेंः प्यार में बदल गई दो लड़कियों की दोस्ती, रिश्ते-नाते तोड़ रचा ली शादी; पढ़े- अजब प्रेम की गजब कहानी

ये भी पढ़ेंः पांच वर्ष से कम उम्र के बच्चों को मास्क पहनने की जरूरत नहीं? पढ़ें- क्या कहते हैं डॉक्टर

 

Delhi Metro Lockdown News: दिल्ली-एनसीआर की लाइफलाइन Delhi Metro को 4000 करोड़ से अधिक का घाटा

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप