नई दिल्ली, एएनआइ। दिल्ली में प्रदूषण के मुद्दे पर शहरी विकास मंत्रालय की संसदीय स्टैंडिंग कमेटी (Parliamentary Standing Committee of Urban Development) की बैठक बुधवार को होगी। मीटिंग में केंद्रीय आवास और शहरी मंत्रालय, पर्यावरण मंत्रालय, तीनों नगर निगमों के प्रतिनिधि शामिल होंगे। इसके अलावा बैठक में शहरी विकास मंत्रालय की संसदीय स्टैंडिंग कमेटी के अन्य सदस्य भी शामिल होंगे।

इससे पहले 15 नवंबर को प्रदूषण के मुद्दे पर शहरी विकास मंत्रालय की संसदीय स्टैंडिंग कमेटी की बैठक होनी थी। इस मीटिंग में पूर्वी दिल्ली से भाजपा सांसद गौतम गंभीर समेत कई अधिकारी नहीं पहुंचे थे। कमेटी के 30 में से सिर्फ चार सदस्यों के पहुंचने की वजह से बैठक को रद करना पड़ा था।

इस बैठक में शामिल नहीं होने पर आम आदमी पार्टी ने गौतम गंभीर की कड़ी आलोचना की थी। आप ने गंभीर पर प्रदूषण के मुद्दे को गंभीरतापूर्वक नहीं लेने का आरोप लगाया था और कहा था कि सांसद के पास अपने क्षेत्र की जनता के पास समय नहीं है। इसके अलावा दिल्ली के आरटीओ इलाके में अज्ञात लोगों ने गंभीर का लापता होने का पोस्टर भी पेड़ पर चिपकाया था।

मेरे जलेबी खाने से प्रदूषण बढ़ रहा है तो छोड़ दूंगा : गंभीर

प्रदूषण को लेकर केंद्र सरकार की समिति की होने वाली बैठक में हिस्सा न लेने पर घिरे पूर्वी दिल्ली के सांसद गौतम गंभीर ने ट्वीट कर कहा है कि अगर मेरे जलेबी नहीं खाने से प्रदूषण घट सकता है, तो मैं पूरी जिंदगी जलेबी खाना छोड़ सकता हूं। कमेंट्री मेरी मजबूरी है। जलेबी खाने के मामले में गंभीर को आम आदमी पार्टी ने निशाने पर लिया है। पूर्वी दिल्ली में कई जगहों पर ‘गंभीर लापता हैं’ लिखे पोस्टर मिले थे।

बता दें कि इससे पहले जब बैठक थी तो उस समय गंभीर इंदौर में भारत-बांग्लादेश के बीच खेले जा रहे टेस्ट मैच में कमेंट्री कर रहे थे। पूर्व क्रिकेटर वीवीएस लक्ष्मण के साथ जलेबी खाते हुए सोशल मीडिया पर गौतम गंभीर की तस्वीरें वायरल हुई थी। इसके बाद विरोधी दल गौतम गंभीर की आलोचना करने लगे थे।

दिल्ली के ITO इलाके में लगा भाजपा सांसद गौतम गंभीर का लापता होने का पोस्टर

मीटिंग में शामिल नहीं होने पर AAP ने घेरा तो गौतम गंभीर ने कुछ इस अंदाज में दिया जवाब

 दिल्ली-एनसीआर की ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां पर करें क्लिक

Posted By: Mangal Yadav

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप