नई दिल्ली, एएनआइ/ ऑन लाइन डेस्क। गुरु नानक देवजी का 550वां प्रकाश पर्व परंपरा और हर्ष-उल्लास के साथ मनाया जा रहा है। गुरु पर्व के अवसर पर दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल गुरुद्वारा रकब गंज साहिब पहुंचे। यहां पर उन्होंने मत्था टेका। इस मौके पर केजरीवाल के साथ योग गुरु बाबा रामदेव और शिरोमणि अकाली दल विधायक मनजिंदर सिंह सिरसा समेत कई लोग मौजूद रहे।

इस मौके पर केजरीवाल ने कहा कि दिल्ली के जो भी बुजुर्ग गुरुद्वारा दरबार साहिब करतारपुर जाना चाहेंगे उनको दिल्ली सरकार मुफ्त में यात्रा कराएगी।

उधर, उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया भी बंगला साहिब गुरुद्वारा पहुंचे और गुरुनानक जी से अरदास की। 

मनीष सिसोदिया ने गुरुद्वारा श्री बंगला साहिब में मत्था टेक 'सरबत के भले' की अरदास के साथ हाजिरी दी और सेवा भी की। इस मौके पर आम आदमी पार्टी के विधायक जनरैल सिंह, जगदीप सिंह और अवतार सिंह कालका भी मौजूद रहे।

वहीं, मंगलवार को दिल्ली के कई इलाकों में नगर कीर्तन निकाला गया। विवेक विहार में निकल रहे नगर कीर्तन में पंज प्यारे ने करतब दिखाया।

उधर, गुरु नानक देव के 550वें प्रकाश पर्व के अवसर पर गिरि नगर स्थित गुरुद्वारा श्री गुरु सिंह सभा की ओर से मंगलवार सुबह नगर कीर्तन निकाला गया। यह कीर्तन गुरुद्वारे से शुरू होकर अमीरचंद खंड, तिलक खंड, सुभाष खंड, मीराबाई मंदिर से गुजरते हुए बाल मुकुंद खंड से फिर गुरुद्वारे में प्रवेश किया।

गुरु नानक देव के 550वें प्रकाश पर्व के उपलक्ष्य में दिल्ली की सड़कों पर श्रद्धा का समुंदर उमड़ गया। दिल्ली सिख गुरुद्वारा प्रबंधक कमेटी की ओर से पर्व पर गुरुद्वारा शीशगंज साहिब से गुरुद्वारा नानक प्याऊ तक विशाल नगर कीर्तन सजाया गया। सुबह 10 बजे गुरुद्वारा शीशगंज साहिब में अरदास के बाद शुरू हुआ नगर कीर्तन कौड़िया पुल, पुरानी दिल्ली रेलवे स्टेशन, खारी बावली, लाहौरी गेट, कुतुब रोड, आजाद मार्केट, रोशनारा रोड, सब्जी मंडी घंटाघर से होते हुए देर रात गुरुद्वारा नानक प्याऊ साहिब पर समाप्त हुआ।

नगर कीर्तन के स्वागत में सड़कों पर हजारों लोग उमड़े। गुरुनानक का संदेश सही रूप में सड़कों पर साकार दिख रहा था। हर धर्म के लोग नगर कीर्तन के स्वागत में खड़े थे तथा गले मिलकर बधाइयां दे रहे थे। खास तौर पर खारी बावली, कुतुब रोड व सदर बाजार में बड़ी संख्या में व्यापारी भी नगर कीर्तन के स्वागत में बाहर निकले और पुष्प से कीर्तन का स्वागत किया।

वहीं, जगह-जगह लंगर लगाए गए थे, जिसमें लोग छककर प्रसाद ग्रहण कर रहे थे। इस बार संगतों की ओर से विशेष तौर पर तैयार की गई झांकियों में गुरु के सिखों को किरत करते, नाम जपते और वंड छकते हुए दिखाया गया था। इसी तरह महिलाओं का सम्मान करने की शिक्षा देते हुए और पर्यावरण को बचाने के लिए पेड़ लगाने की प्रेरणा देते हुए झांकी भी नगर कीर्तन में विशेष रूप से शामिल थी, जो लोगों के आकर्षण के केंद्र में थी।

यह भी पढ़ेंः दिल्ली में अब गैर PNG इकाइयों पर लगेगा ताला, सिर्फ कुछ इलाकों में ही मिलेगी छूट

AAP ने भाजपा-कांग्रेस और बसपा में लगाई सेंध, पूर्व मेजर समेत कई नेता पार्टी में शामिल 

  दिल्ली-एनसीआर की ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां पर करें क्लिक

 

Posted By: Mangal Yadav

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप