नई दिल्ली, जागरण संवाददाता। 7 लाख रुपये के इनामी गैंगस्टर काला जठेड़ी की गिरफ्तारी के बाद दिल्ली पुलिस को एक और कामयाबी हाथ लगी है। ताजा घटनाक्रम में कुछ घंटों के भीतर दिल्ली पुलिस स्पेशल सेल ने  कुख्यात गैंगस्टर काला जठेड़ी की गर्लफ्रेंड लेडी डॉन अनुराध चौधरी को भी गिरफ्तार कर लिया है। उसकी पहचान राजस्थान की डॉन अनुराग उर्फ अनुराधा चौधरी उर्फ मैडम मिंज के रूप में हुई है। अनुराधा पूर्व में राजस्थान के डॉन आनंदपाल सिंह की सहयोगी रही है। 

लेडी डॉन अनुराधा चौधरी पर राजस्थान पुलिस ने 10 हजार रुपये का इनाम रखा था। अनुराधा पर फिरौती, अपहरण व हत्या की साजिश जैसे गंभीर मुकद्दमे दर्ज हैं। वहीं, दिल्ली पुलिस स्पेशल सेल काला जठेड़ी को शनिवार को कोर्ट में पेश कर पूछताछ के लिए रिमांड पर लेने की तैयारी कर रही है। 

काला जठेड़ी के बैंकाक में होने की बात कही जा रही थी, लेकिन वह देश में ही छिपकर रह रहा था। उसे शुक्रवार रात को उत्तर प्रदेश के सहारनपुर से गिरफ्तार किया गया है। 

यह भी खुलासा हुा है कि आनंद पाल के एनकाउंटर के दौरान अनुराधा राजस्थान पुलिस की गिरफ्त से फरार हो गई थी। इसके बपाद फरारी के दौरान लारेंस विश्नोई की मदद से अनुराधा की मुलाकात काला जठेड़ी से हुई। पिछले 9 महीनों से काला जठेड़ी और अनुराधा लिव इन में रह रहे थे।

 

पिछले 10 साल के दौरान काला जठेड़ी के गिरोह ने दिल्ली, यूपी, हरियाणा और राजस्थान में राज्यों में 25 से अधिक हत्याओं को अंजाम दिया है। पुलिस की मानें तो काला जठेड़ी का गैंग अभी एनसीआर का सबसे बड़ा गैंग है। करीब 200 से अधिक बदमाश इस गैंग से जुड़े हैं। इस गिरोह पर हत्या, हत्या के प्रयास, रंगदारी, लूट और डकैती के दर्जनों मामलों को अंजाम देने के आरोप हैं।

फरारी के दौरान विदेश नहीं गया था जठेड़ी

काला जठेड़ी साल 2020 में फरीदाबाद पुलिस की गिरफ्त से फरार होने के बाद एक बार सिर्फ नेपाल गया था, किसी और देश नहीं गया। काला जठेड़ी, अनुराधा के साथ उत्तराखंड में छिपा हुआ था और वहां से जब दोनों सहारनपुर आए तो पकड़े गए। काला जठेड़ी के पास से एक पिस्टल भी बरामद हुई है। फरारी के दौरान काला जठेड़ी विदेश में नहीं बल्कि हरियाणा, पंजाब, उत्तर प्रदेश, उत्तराखंड, बिहार, महाराष्ट्र के मुंबई, राजस्थान, एमपी में छिपा था।

Lady Don Anuradha: जानिये- पढ़ाई में बेहद तेज अनुराधा आखिर कैसे बन गई लेडी डॉन, एके 47 चलाने व अपहरण करने में है माहिर

 

Edited By: Jp Yadav