नई दिल्ली, जागरण डिजिटल डेस्क। राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली में ठंड का कहर लगातार बढ़ते ही जा रहा है। शुक्रवार की सुबह दिल्ली में घना कोहरा छाया रहा। गुरुवार को शहर के न्यूनतम तापमान में एक डिग्री सेल्सियस की गिरावट दर्ज हुई थी। मौसम विश्लेषकों के मुताबिक दिल्ली में कम से कम एक और सप्ताह यही स्थिति बनी रहेगी। 

पश्चिमी डिस्टरबेंस कमजोर होने के कारण नहीं हुआ बड़ा परिवर्तन 

इससे पहले, मौसम विश्लेषकों ने हिमालय पर एक मध्यम पश्चिमी डिस्टरबेंस की भविष्यवाणी की थी, जिससे पहाड़ों की ऊपरी चोटियों पर बर्फबारी होने की बात कही गई थी। इस बर्फबारी का सीधा असर 10 दिसंबर के आसपास दिल्ली में अधिकतम और न्यूनतम तापमान पर पड़ने वाला था। हालांकि, इसे लेकर अब अधिकारियों ने कहा है कि पश्चिमी डिस्टरबेंस के फिर से कमजोर होने के कारण तापमान में कोई बड़ा महत्वपूर्ण परिवर्तन नहीं हुआ है।

यह भी पढ़ें- Delhi Air Pollution: 13 दिन बाद दिल्ली वालों को मिली थोड़ी राहत, हवा हुई साफ; खराब श्रेणी में पहुंची हवा

दिल्ली की हवा अब कम जहरीली

दिल्ली में प्रदूषण का स्तर भी बीते कुछ दिनों से लगातार कम आंका जा रहा है। सिस्टम ऑफ एयर क्वालिटी एंड वेदर फोरकास्टिंग एंड रिसर्च (SAFAR) के अनुसार दिल्ली में शुक्रवार को AQI 259 दर्ज किया है। यह AQI खराब श्रेणी में आता है। बता दें कि कुछ दिनों पहले ही दिल्ली की हवा में प्रदूषण का स्तर बहुत खराब श्रेणी और गंभीर स्थिति में पहुंच गया था, जिसके बाद प्रशासन की ओर से निर्माण कार्यों और तोड़फोड़ पर रोक लगाई गई थी। जैसे प्रदूषण के स्तर पर कमी दर्ज की गई वैसे ही सभी प्रकार के प्रतिबंधों को हटा लिया गया। हालांकि, जानकारों का कहना है कि प्रदूषण के बढ़ते ही लोगों को बाहर निकलने से बचना चाहिए।  

यह भी पढ़ें- Delhi Air Pollution: दिल्ली-NCR की AQI में सुधार होते ही हटाए गए GRAP-3 के प्रतिबंध, अब नहीं है निर्माण पर रोक

Edited By: Abhi Malviya

जागरण फॉलो करें और रहे हर खबर से अपडेट