नई दिल्ली, जागरण संवाददाता। दिल्ली नगर निगम चुनाव (Delhi MCD Election 2022) में मतदान के मामले में दिल्ली के लोगों ने जहां राजनीतिक दलों को निराश किया है। वहीं, बख्तावरपुर वार्ड पांच के मतदाताओं ने उसे लोकतंत्र के पर्व के तौर पर लेकर घर में कैद रहे मतदाताओं को आईना दिखाया है। इस वार्ड में दिल्ली में सर्वाधिक 66.74 प्रतिशत मतदान हुआ है।

एंड्रयूजगंज वार्ड संख्या 145 में सबसे कम 33.74 प्रतिशत ही वोट पड़े। नई दिल्ली जिले की बात करें तो यहां के 13 वार्डों में सबसे अधिक वोट पटेल नगर में 53.18 प्रतिशत पड़े। ग्रेटर कैलाश जो कि उच्च वर्गीय लोगों के निवासियों की कालोनी मानी जाती है। वहां भी लोग मताधिकार के प्रति जागरूक दिखाई नहीं दिए।

यहां तीन केंद्रों पर नहीं पड़े वोट

वार्ड नंबर 31 नांगल ठाकरान मे 3 मतदान केंद्रों 17, 18 और 19 पर मतदाताओं ने वोट नहीं डाले। यहां मतदाताओं का बहिष्कार करने की वजह राजनीतिक दलों द्वारा उनके क्षेत्र में कोई विकास कार्य की गतिविधि नहीं करना है।

कानून व्यवस्था को लेकर 10 मामले दर्ज

230 काल कंट्रोल रूम को आचार संहिता के उल्लंघन की मिलीं कोई भी अप्रत्याशित घटना नहीं हुई 566 लीटर देशी तो 266 लीटर विदेशी शराब मतदान के दिन जब्त की गई, इसमें तीन एफआइआर दर्ज की गई हैं और तीन लोगों को गिरफ्तार किया गया। 10 मामले पुलिस ने कानून व्यवस्था बनाए रखने के लिए दर्ज किए।

Also Read- 

Delhi MCD Election 2022: एमसीडी चुनाव में कम वोटिंग के क्या मायने, AAP या BJP... किसे मिल सकती है जीत?

Edited By: Abhishek Tiwari

जागरण फॉलो करें और रहे हर खबर से अपडेट