संजीव गुप्ता, नई दिल्ली। लॉकडाउन और मौसम की मेहरबानी से 2020 में दिल्ली को साफ हवा वाले दिन पिछले तीन सालों में सबसे ज्यादा मिले। केंद्रीय पृथ्वी विज्ञान मंत्रालय के अधीन वायु गुणवत्ता निगरानी संस्था संस्था सफर इंडिया के मुताबिक वर्ष 2018 में सिर्फ 55 दिन ही ऐसे रहे थे जब हवा साफ-सुथरी थी। वर्ष 2020 में ऐसे दिनों की संख्या 166 पहुंच गई।

गौरतलब है कि वैसे तो दिल्ली में वायु प्रदूषण पर लगाम लगाने के लिए दिल्ली सरकार, केंद्रीय प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड (सीपीसीबी) और दिल्ली प्रदूषण नियंत्रण समिति (डीपीसीसी) की ओर से लगातार अनेक कदम उठाए जा रहे हैं। इनका असर भी देखने को मिल रहा है। लेकिन लॉकडाउन के चलते सभी तरह की गतिविधियां बंद हो जाने से वर्ष 2020 में साफ हवा वाले दिनों की संख्या सबसे ज्यादा रही। सफर के मुताबिक वर्ष 2018 की तुलना में 2019 में भी सुधार दर्ज किया गया था।

वर्ष 2018 में ऐसे दिन 55 रहे थे, 2019 में इनकी संख्या बढ़कर 81 हो गई। यानी ऐसे 26 दिन बढ़ गए थे। जबकि लॉकडाउन के चलते 2020 में ऐसे दिनों की संख्या में बड़ा इजाफा हुआ और ये वर्ष 2019 की तुलना में लगभग दोगुना होकर 166 दिन पर पहुंच गए।

सफर इंडिया के आंकलन के मुताबिक खासतौर पर मार्च से लेकर सितंबर तक का समय दिल्ली वासियों के लिए सबसे ज्यादा साफ हवा वाला रहा। इस दौरान 31 अगस्त का दिन तो ऐतिहासिक तौर पर साफ रहा जब दिल्ली का एयर इंडेक्स महज 41 दर्ज किया गया था।

हवा की रफ्तार हुई कम तो प्रदूषण से राहत हुई 

तेज हवा चलने से पिछले कई दिनों से प्रदूषण के स्तर में मिल रही राहत बुधवार को'हवा'हो गई। हवा की रफ्तार थमते ही प्रदूषण ने फिर से सिर उठाना शुरू कर दिया है। प्रदूषक कणों की मात्रा में भी तेजी से इजाफा होने लगा है।

सीपीसीबी द्वारा जारी एयर क्वालिटी बुलेटिन के मुताबिक बुधवार को दिल्ली का एयर इंडेक्स 354 रहा। जबकि मंगलवार को यह 293 रहा था। एक दिन के भीतर ही इसमें 61 प्वाइंट का इजाफा हो गया। शाम को पांच बजे हवा में प्रदूषक कण पीएम 10 की मात्रा 198 जबकि पीएम 2.5 कणों की मात्रा 121 माइक्रोग्राम प्रति घन मीटर रही।

एनसीआर के शहरों में फरीदाबाद का एयर इंडेक्स 367, गाजियाबाद का 388, ग्रेटर नोएडा का 398, गुरुग्राम का 276 और नोएडा का एयर इंडेक्स 348 दर्ज हुआ। गुरुग्राम की हवा खराब जबकि अन्य सभी जगहों की खराब बहुत खराब श्रेणी में दर्ज हुई। सफर इंडिया के मुताबिक हवा की दिशा अभी उत्तर पश्चिमी चल रही है। इसकी रफ्तार कम है जबकि साथ में नमी आ रही है। घना कोहरा भी छा रहा है। ऐसे में प्रदूषण का स्तर अगले कई दिनों तक अधिक ही रहने के आसार हैं। 

Coronavirus: निश्चिंत रहें पूरी तरह सुरक्षित है आपका अखबार, पढ़ें- विशेषज्ञों की राय व देखें- वीडियो

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप

budget2021