नई दिल्ली, एएनआइ। RFL funds misappropriation case: रैनबैक्सी के पूर्व प्रमोटरों मलविंदर सिंह, शिविंदर सिंह और पूर्व चेयरमैन सुनील गोधवानी को दिल्ली की एक कोर्ट ने दो दिन के लिए पुलिस कस्टडी में भेज दिया है। इसके अलावा पूर्व सीईओ कवि अरोड़ा और पूर्व फाइनेंस चीफ अनिल सक्सेना को भी दो दिन के लिए न्यायिक हिरासत में भेजा गया है।

न्यायिक हिरासत खत्म होन के बाद मंगलवार को इन सभी आरोपितों को कोर्ट में पेश किया गया। जिसके बाद अदालत ने इन्हें न्यायिक हिरासत में भेजा। 

अभी हाल में हुए थे गिरफ्तार

बता दें कि अभी हाल में ही दिल्ली पुलिस की आर्थिक अपराध शाखा ने 740 करोड़ की हेराफेरी के आरोप में रैनबैक्सी के पूर्व प्रमोटर शिविंदर सिंह और मलविंदर सिंह समेत पांच लोगों को गिरफ्तार किया गया था। आरोप है कि उन्होंने सार्वजनिक धन का गलत तरीके से अपनी कंपनियों में निवेश किया। रेलिगेयर फिनवेस्ट के अधिकारी ने मालविंदर सिंह और शिविंदर सिंह समेत अन्य पर मामला दर्ज करवाया था।

आरएलएफ में इनका 85 फीसद शेयर बताया जाता है। वहीं अगस्त में मलविंदर सिंह और शिविंदर सिंह के ठिकानों पर ईडी ने छापेमारी की थी। दोनों भाइयों के खिलाफ ये कार्रवाई मनी लॉड्रिंग कानून के तहत मामला दर्ज होने के बाद की गई थी।

दिवाली से पहले हजारों लोगों को तोहफा, 'सेवा सर्विस' नाम से 10 नई पैसेंजर ट्रेन शुरू

INX Media Case: पी चिदंबरम से तिहाड़ जेल में कल पूछताछ करेगी ईडी, कोर्ट ने दी इजाजत

दिल्ली-NCR की ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां पर करें क्लिक

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस