नई दिल्ली, जागरण संवाददाता। अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान (एम्स) के सीनियर नर्सिग ऑफिसर कंवर सिंह का कहना है कि लोग कोरोना संक्रमण से बचने के लिए लगातार तुलसी, अदरक व काली मिर्च समेत अन्य गर्म मसालों का काढ़ा पी रहे हैं, जो बहुत हद तक लोगों को फायदा पहुंचा रहा है। अगर इन दिनों गिलोय की छाल से बना काढ़ा भी पीएंगे तो वह उनके शरीर के लिए बहुत लाभदायक साबित होगा। उन्होंने कहा कि गिलोय के प्रयोग से लोगों के शरीर की रोग प्रतिरोधक क्षमता दोगुनी तेजी से बढ़ती है। अगर कोई व्यक्ति गिलोय का काढ़ा बनाने में असमर्थ है तो उसे इसके स्थान पर गिलोय की दो गोलियां रोज खा लेनी चाहिए।

 

कंवर सिंह ने कहा कि लोगों को कोरोना के मामले में बिल्कुल भी लापरवाही नहीं बरतनी चाहिए। अगर किसी व्यक्ति को अपने अंदर कोरोना संक्रमण के लक्षण नजर आते हैं तो वह उसे तुरंत अपना टेस्ट करा लेना चाहिए। इससे वह खुद के साथ परिवार के सदस्यों और पड़ोसियों को भी संक्रमण से बचा सकता है। वहीं, अस्पताल या घर में अपना उपचार भी करा सकता है। उन्होंने कहा कि वे लगातार कोरोना काल के दौरान ड्यूटी कर रहे हैं। इस दौरान लगातार पूरी सावधानियां बरत रहे हैं, वहीं एम्स के डॉक्टर कोरोना मरीजों का उपचार करने में सतर्कता बरते हैं, जिससे वे संक्रमण से बचे हुए हैं।

इन दिनों राजधानी के कुछ लोग कोरोना संक्रमण को लेकर लापरवाही बरतने लगे हैं। उन्हें लग रहा है कि देश से बीमारी चली गई है और कोरोना उनका कुछ नहीं कर पाएगा। ऐसे लोग गलत हैं। उन्हें बाहर निकलते वक्त शारीरिक दूरी के नियम का पालन करना चाहिए और अपने चेहरे से एक सेकेंड के लिए भी मास्क नहीं उतारना चाहिए।

कंवर सिंह ने कहा कि घर के बच्चों और बुजुर्गो को विशेष तौर से अपना खयाल रखने की जरूरत है। उन्हें इन दिनों बिल्कुल भी घर से बाहर नहीं निकलना चाहिए। हालांकि अब बच्चे घर से बाहर पार्क में जाकर खेलने लगे हैं। ऐसे में बच्चों को मास्क का प्रयोग करना चाहिए। बाहर से आते ही स्वजनों को स्नान करा देना चाहिए, जिससे वे संक्रमण से बच जाएंगे।

Coronavirus: निश्चिंत रहें पूरी तरह सुरक्षित है आपका अखबार, पढ़ें- विशेषज्ञों की राय व देखें- वीडियो

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप

budget2021