नई दिल्ली [आशीष गुप्ता]। देश के लिए बर्मिंघम कामनवेल्थ गेम्स (Birmingham Commonwealth Games) में कांस्य पदक (Bronze Medal) जीतने वाली पहलवान दिव्या काकरान (Divya Kakran) का दर्द रविवार को ट्विटर पर छलक उठा। साथ ही उन्होंने दिल्ली सरकार पर गंभीर आरोप भी लगाए हैं।

दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल (Delhi CM Arvind Kejriwal) से बधाई मिलने पर दिव्या ने ट्वीट कर तहे दिल से उनका धन्यवाद करते हुए लिखा "मैं पिछले 20 सालों से दिल्ली में रह रही हूं और यहीं कुश्ती का अभ्यास कर रही हूं, पर अब तक मुझे राज्य सरकार से किसी तरह की कोई इनाम राशि नहीं दी गई और न कोई मदद दी गई।" दिव्या के इस ट्वीट का लोगों ने अपने-अपने अंदाज में समर्थन किया।

ये भी पढ़ें- Hapur: गंगा ने दिखाया रौद्र रूप, खतरे के निशान के पास पहुंचा जलस्तर; गाव में पानी घुसने से कई परिवार पर संकट

खुद को सम्मानित करने की मांग की

उत्तर पूर्वी दिल्ली के गोकलपुर विधानसभा क्षेत्र की अमर कालोनी में रहने वाली अर्जुन अवार्ड प्राप्त पहलवान दिव्या काकरान ने सिर्फ इतना ही नहीं, दूसरा ट्वीट कर मुख्यमंत्री से निवेदन किया कि जिस तरह से दूसरे राज्यों से खेलने वाले दिल्ली के खिलाड़ियों को आप सम्मानित करते हैं, वैसे ही मुझे भी सम्मानित किया जाए।

पिता ने भी किया समर्थन

बेटी के ट्वीट का उनके पिता सूरज पहलवान भी समर्थन कर रहे हैं। सूरज ने बताया कि वर्ष 2017 में दिल्ली में आयोजित एशियन रेसलिंग चैंपियनशिप में दिव्या ने रजत पदक जीता था, तब भी उसे प्रोत्साहन राशि नहीं मिली थी। उसके लिए कई पत्र लिखे गए, उसके बावजूद अभी तक वह प्रोत्साहन राशि प्राप्त नहीं हो पाई।

ये भी पढ़ें- Hapur: रक्तदान कर नकुल राज बचा रहे लोगों की जिंदगी, अब तक चार को दे चुके हैं जीवनदान

कौन हैं दिव्या?

दिव्या मूल रूप से मुजफ्फरनगर जिले के पुरबालियान गांव से हैं। वह 68 किलोग्राम वर्ग में खेलती हैं। दिव्या के नाम 60 से ज्यादा पदक है। वर्ष 2018 में दक्षिण अफ्रीका के जोहानसबर्ग में हुए एशियन गेम्स में कांस्य, वर्ष 2018 में ही आस्ट्रेलिया के गोल्ड कोस्ट में आयोजित कामनवेल्थ गेम्स में कांस्य पदक दिलाकर देश का गौरव बढ़ा चुकी हैं। वह भारतीय रेलवे के दिल्ली मंडल में वरिष्ठ टिकट परीक्षक हैं।

Edited By: Geetarjun

जागरण फॉलो करें और रहे हर खबर से अपडेट