नई दिल्ली, जागरण संवाददाता। Chhath pooja 2021: छठ  महापर्व के आयोजन को लेकर अभी भी समितियों को सरकारी निर्देशों का इंतजार है। हालांकि घाट पर लोगों की भीड़ इकट्ठा न हो, इसके लिए निर्देश जारी नहीं हुए है। ऐसे में इस पूजा की सांस्कृतिक महत्ता और लोगों में अटूट श्रद्धा को देखते हुए क्षेत्र की विभिन्न छठ समितियों का कहना है कि कोरोना गाइडलाइन के अंतर्गत भी पूजा की व्यवस्था की जा सकती है और इस पर विचार किया जाना चाहिए। इस सिलसिले में कोरोना निर्देश का पालन करते हुए घाट पर पूजा करने की अनुमति के लिए विभिन्न समितियों ने पुलिस, प्रशासन व सरकार को पत्र लिखकर मांग की है।

पढ़िए दिल्ली के इस अस्पताल में इलाज कराने के लिए आने वाली गर्भवती व अन्य महिला मरीज किस बात को लेकर टेंशन में हैं

रोहिणी सेक्टर तीन के बिहार लोक चेतना मंच के कोषाध्यक्ष नित्यानंद झा का कहना है कि स्वास्थ्य सबसे पहले है लेकिन लोगों की आस्था को देखते हुए सरकार को पूजा के आयोजन में सहयोग करना चाहिए। प्रत्येक वर्ष स्थानीय पार्कों में पांच-छह छोटे कुंड-तालाब बनाकर पूजा की तैयारी की जाती थी। इसमें हजारों लोग हिस्सा लेते थे।

  • छठ व्रती के साथ केवल दो लोगों को आने की अनुमति मिले तो भीड़ कम इकट्ठा होगी और पूजा भी पूरी होगी। अनुमति के लिए क्षेत्र के विधायक व दिल्ली सरकार को पत्र लिखा है। सरकार को क्षेत्र के मूनक नहर को भी पूजा के लिए तैयार करना चाहिए। -अमोद झा, अध्यक्ष, इंद्रप्रस्थ मैथिली मंच, रोहिणी सेक्टर 16
  • हम अभी तक सरकार के निर्देशों का इंतजार कर रहे हैं। महामारी के बीच स्वास्थ्य चुनौतियों को देखते हुए निर्देशों के तहत ही पूजा आयोजित होगी। इसे लेकर कुछ छूट मिलनी चाहिए ताकि लोग आस्था के पर्व को ठीक से मना सकें। इसके लिए समुचित व्यवस्था करने की जरूरत है ताकि व्रतियों को असुविधा न हो। इसे लेकर मुख्यमंत्री से मुलाकात करेंगे। श्रवण झा, अध्यक्ष, मिथिला संस्कृति व कला मंच, बुध विहार।
  • सरकार द्वारा कोरोना गाइडलाइन का पालन करते हुए हम छठ पूजा मनाने का कार्य करेंगे हमने संकल्प लिया है। भीड़ से बचने के लिए छोटे-छोटे समूह में पूजा स्थल करने की अपील की है। पूजा स्थल पर साफ-सफाई का कार्य चल रहा है। पूर्वांचल और मिथिला की परंपरा के अनुसार छठ पूजा का आयोजन होगा। इसके तहत पर्यावरण को बचाने का संदेश भी दिया जाएगा। प्रणव झा, अध्यक्ष, विद्यापति मिथिला विकास समिति, किराड़ी

Edited By: Pradeep Chauhan