नई दिल्ली [जेएनएन]। दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल के खिलाफ किए गए मानहानि मामले में मंगलवार को वित्त मंत्री अरुण जेटली ने हाई कोर्ट में अपने बयान दर्ज कराए और सबूत पेश किए। मामले की अगली सुनवाई के लिए 6 व 7 मार्च 2017 की तारीख तय की गई है। इसी दिन मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल व आम आदमी पार्टी के अन्य आरोपी नेता कुमार विश्र्वास, आशुतोष, राघव चड्ढ़ा, संजय सिंह, दीपक बाजपेयी वित मंत्री की अर्जी के संबंध में उनसे जिरह करेंगे।

हाई कोर्ट के संयुक्त रजिस्ट्रार के समक्ष जेटली मंगलवार दोपहर करीब 2 बजे अपने वकीलों के साथ पहुंचे। उन्होंने अदालत के समक्ष जमा कराए गए अपने दस्तावेजों की पुष्टि की। करीब डेढ़ घंटे तक चली कार्रवाई के दौरान जेटली के वकीलों ने रजिस्ट्रार के समक्ष सभी दस्तावेजों की असल कॉपी दिखाकर उन्हें सत्यापित किया। बीते वर्ष दिसंबर में अरविंद केजरीवाल व अन्य आप नेताओं पर 10 करोड़ रुपये की मानहानि का दीवानी मुकदमा करने के बाद यह पहली बार था जब अरुण जेटली दिल्ली हाई कोर्ट के समक्ष पेश हुए।

जेटली मानहानि मामले में केजरीवाल को नहीं मिली राहत, HC ने खारिज की याचिका

बता दें कि केजरीवाल और आम आदमी पार्टी के पांच अन्य नेताओं के खिलाफ यह मामला वित्त मंत्री अरुण जेटली ने दायर किया है। अरुण जेटली ने केजरीवाल और उनके साथियों के खिलाफ दिल्ली जिला क्रिकेट एसोसिएशन (डीडीसीए) विवाद के सिलसिले में कथित मानहानि का आरोप लगाया है। इस सिलसिले में 10 करोड़ रुपये की क्षतिपूर्ति का दावा करते हुए जेटली ने दिल्ली हाईकोर्ट में एक दीवानी मानहानि का मुकदमा दायर किया हुआ है।

Posted By: Amit Mishra

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस