नई दिल्ली, जागरण संवाददाता। दिल्ली सरकार के सबसे बड़े अस्पताल लोकनायक में पिछले एक सप्ताह से भर्ती होने वाले कोरोना के मरीजों का आंकड़ा बढ़ने लगा है। अब यहां प्रतिदिन 100 के करीब मरीज भर्ती हो रहे हैं, जबकि पहले यह संख्या 40-50 तक थी। मंगलवार तक अस्पताल में कोरोना मरीजों के लिए आरक्षित 2000 बेड में से 732 बेड भर चुके थे।

अस्पताल के चिकित्सा निदेशक डॉ. सुरेश कुमार ने बताया कि जब दिल्ली में कोरोना संक्रमितों के नए मामले सामने आने की संख्या घट गई थी तो अस्पताल में अधिकतर बेड खाली हो गए थे। अब पिछले एक हफ्ते से लगातार मरीजों की संख्या बढ़ती जा रही है। अस्पताल का पूरा स्टाफ एक बार फिर कोरोना मरीजों के इलाज के लिए पूरी मुस्तैदी से जुट गया है। सभी मरीजों का पूरा खयाल रखा जा रहा है।

उल्लेखनीय है कि लोकनायक अस्पताल को दिल्ली सरकार ने कोविड अस्पताल बनाकर कोरोना के मरीजों के इलाज के लिए अधिकृत कर रखा है। यह व्यवस्था कोरोना संकट की शुरुआत में ही कर दी गई थी।

बता दें कि दिल्ली में पांच दिन बाद सोमवार को कोरोना के मामले चार हजार से कम आए। इसका कारण यह है कि पिछले दिनों के मुकाबले थोड़े कम सैंपल की जांच हुई। पिछले 24 घंटे में 44,884 सैंपल की जांच की गई। इनमें 3229 सैंपल पॉजिटिव पाए गए। वहीं इस दौरान 3374 मरीज ठीक भी हुए हैं। 26 मरीजों की मौत हो गई। राहत की बात यह है कि दिल्ली में मृत्यु दर घटकर 2.15 फीसद हो गई है। उधर, कोरोना के नए मामले बढ़ने के कारण कंटेनमेंट (सील) जोन की संख्या 1517 पहुंच गई है। 13 सितंबर को कुल 1488 कंटेनमेंट जोन थे। इसके बाद एक दिन में 29 नए कंटेनमेंट जोन बनाए गए हैं।

स्वास्थ्य विभाग की रिपोर्ट के अनुसार, कोरोना के अब तक कुल दो लाख 21 हजार 533 मामले आ चुके हैं। जिसमें से एक लाख 88 हजार 122 मरीज ठीक हो चुके हैं। इस तरह मौजूदा समय में मरीजों के ठीक होने की दर 84.91 फीसद है। वहीं मृतकों की कुल संख्या 4770 हो गई है।

Coronavirus: निश्चिंत रहें पूरी तरह सुरक्षित है आपका अखबार, पढ़ें- विशेषज्ञों की राय व देखें- वीडियो

kumbh-mela-2021

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप