नई दिल्ली, जेएनएन। राजधानी दिल्ली में हर साल गणतंत्र दिवस की परेड के बाद 29 जनवरी की शाम को 'बीटिंग द रिट्रीट' (Beating The Retreat) सेरेमनी का आयोजन किया जाता है। हर साल रायसीना रोड पर राष्ट्रपति भवन के सामने सेना के जवान इसका प्रदर्शन करते हैं। ये प्रदर्शन अपने आप में आकर्षण का केंद्र होता है।

बीटिंग द रिट्रीट को देखने के लिए काफी संख्या में लोग जमा होते हैं। चार दिनों तक चलने वाले गणतंत्र दिवस समारोह का समापन बीटिंग रिट्रीट के साथ ही होता है। 26 जनवरी के गणतंत्र दिवस समारोह की तरह Beating Retreat कार्यक्रम भी देखने लायक होता है। 

क्‍या है ‘बीटिंग द रिट्रीट’ 

‘बीटिंग द रिट्रीट’ का आयोजन गणतंत्र दिवस समारोह के तीसरे दिन यानी 29 जनवरी की शाम को किया जाता है। यह 26 जनवरी को शुरू हुए समारोह के समाप्‍त होने का सूचक है। इसका आयोजन राष्‍ट्रपति भवन के सामने रायसीना हिल्स पर किया जाता है, जिसके चीफ गेस्‍ट राष्‍ट्र‍पति होते हैं। 26 जनवरी से 29 जनवरी के बीच राष्‍ट्रपति भवन समेत सरकारी भवन को रंग बिरंगी लाइटों से सजाया जाता है। इस आयोजन में तीनों सेनाएं (आर्मी, नेवी, एयरफोर्स) एक साथ मिलकर सामूहिक बैंड का कार्यक्रम प्रस्‍तुत करती हैं। साथ ही परेड भी होती है।

साल 2020 में भारतीय धुनों पर था जोर 

साल 2020 में ‘बीटिंग द रिट्रीट’समारोह में भारतीय धुनों पर जोर था। इसी तरह से इस बार भी ऐसे ही किसी खास चीज पर जोर रहेगा। राजधानी में विजय चौक पर होने वाले समारोह में तीनों सेनाओं और सेंट्रल आर्म्ड पुलिस फोर्सेज की ओर से परफॉर्मेंस पेश की जाती है।

इस बार कोरोना की वजह से इस पर भी कुछ प्रभाव पड़ेगा। साल 2020 में इस मौके पर 26 टयून पेश की गई थी, इन 26 में से 25 की ट्यून के कंपोजर भारतीय म्यूजिशन थे। ‘सारे जहां से अच्छा हिंदोस्ता हमारा’ गाने के साथ कार्यक्रम का समापन होता है। 

विजय चौक पर वाहनों की आवाजाही पूरी तरह से हो जाती है बंद 

बीटिंग रिट्रीट समारोह के दौरान विजय चौक पर वाहनों की आवाजाही पूरी तरह बंद रहती है। रफी मार्ग और सुनेहरी मस्जिद चौक के बीच की सड़क पर वाहनों को चलने की इजाजत नहीं होती है। रायसीना रोड पर कृषि भवन चौक से लेकर विजय चौक की तरफ वाहनों को जाना बंद कर दिया जाता है।

दारा शिकोह रोड चौराहा, कृष्णा मेनन मार्ग चौराहा और सुनेहरी मस्जिद चौराहे से विजय चौक की ओर भी ट्रैफिक बंद रहता है। विजय चौक और सी-हेक्सागन के बीच में राजपथ पर वाहन नहीं चलते हैं लेकिन यह रास्ता पैदल यात्रियों के लिए खुला रहेगा। राष्ट्रपति भवन, नॉर्थ ब्लॉक और साउथ ब्लॉक पर रोशनी की जाती है। ये रोशनी देखने के लिए काफी संख्या में लोग पहुंचते हैं मगर इस बार इसमें भी बदलाव रहेगा।

 

Coronavirus: निश्चिंत रहें पूरी तरह सुरक्षित है आपका अखबार, पढ़ें- विशेषज्ञों की राय व देखें- वीडियो

kumbh-mela-2021

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप