नई दिल्ली। आईपीएल 6 स्पॉट फिक्सिंग में फंसे क्रिकेटर अंकित चव्हाण ने दिल्ली की साकेत कोर्ट में सरेंडर कर दिया है। उसे 18 जून तक न्यायिक हिरासत में भेजा गया है। इससे पहले 15 मई की रात को दिल्ली पुलिस की स्पेशल सेल ने स्पॉट फिक्सिंग के आरोप में उन्हें मुंबई से गिरफ्तार किया। इस खबर को सुन तमाम क्रिकेट प्रशंसक चौंक गए।

पढ़ें : दाऊद के इशारे पर भी काम करता था चव्हाण

अगले ही दिन यानी 16 मई को उन्हें दिल्ली लाया गया, जहां उन्हें पुलिस रिमांड में भेजा गया। पुलिस सूत्रों ने यह बताया कि चव्हाण ने अपनी गलती स्वीकार कर ली है और इसके लिए उन्होंने अपने साथी खिलाड़ी और मामले के अन्य आरोपी अजीत चंदीला को जिम्मेवार ठहराया। जब पुलिस को चव्हाण से अधिक खुलासे की उम्मीद नहीं रही तो अदालत ने उन्हें तिहाड़ जेल भेज दिया। जेल जाते ही उन्हें सेल नंबर 1 का कप्तान बना दिया गया।

पढ़ें : विवादों के बीच प्रेमिका नेहा के हमसफर बने चव्हाण

इसीबीच 2 जून नजदीक आ रही थी। यह वही तारीख थी, जब चव्हाण का उनकी आठ साल पुरानी प्रेमिका नेहा के साथ विवाह होना था। इसका हवाला देकर चव्हाण ने अदालत में जमानत याचिका दायर की। पहली बार तो अदालत ने उनकी याचिका रद्द कर दी। चव्हाण ने दोबारा याचिका दायर की और यह भी कहा कि शादी के कार्ड बंट चुके हैं। उन्हें शादी के लिए जमानत दे दी जाए। इसबार अदालत ने उन्हें निराश नहीं किया और 6 जून तक शादी के लिए सशर्त जमानत दे दी। वे कुछ दिनों के लिए आजाद हो गए।

पढ़ें : तिहाड़ में कप्तान बना चव्हाण, पिटाई की डर से नहीं आई नींद

पढ़ें : आठ साल का प्यार, नेहा ने कभी नहीं छोड़ा अंकित का साथ

जमानत मिलने के बाद चव्हाण मुंबई गए, जहां 2 जून को नेहा के साथ उनका विवाह हुआ। आज 6 जून है, यानी उनके सरेंडर करने का दिन। चव्हाण को आज ही अदालत में खुद को सरेंडर करना है। इसके लिए वे मुंबई से रवाना भी हो चुके हैं। सरेंडर करने के बाद उन्हें फिर तिहाड़ जेल भेज दिया जाएगा। गौरतलब है कि पुलिस ने अन्य आरोपियों के साथ-साथ उनपर भी मकोका लगाया है।

मोबाइल पर ताजा खबरें, फोटो, वीडियो व लाइव स्कोर देखने के लिए जाएं m.jagran.com पर

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप