मोदी सरकार - 2.0 के 100 दिन

लाहौर। पाकिस्तान टीम के टेस्ट कप्तान मिस्बाह उल हक ने अपने अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट से संन्यास लेने से पहले भारत के खिलाफ खेलने की इच्छा जताई है। बुधवार को पाकिस्तान के टेस्ट कप्तान मिस्बाह उल हक को आइसीसी गदा थामने का सौभाग्य मिला। लाहौर में इंटरनेशनल क्रिकेट काउंसिल (आइसीसी) के सीईओ डेव रिचर्ड्सन ने मिस्बाह को आईसीसी गदा सौंपी।

इसके बाद मिस्बाह ने पत्रकारों से कहा, 'क्रिकेट को अलविदा कहने से पहले भारत के खिलाफ खेलना मेरी इच्छा है क्योंकि दोनों देशों में क्रिकेट को लेकर खासा उत्साह है। पिछले साल हमने भारत के खिलाफ क्रिकेट खेला था और फिर उसके बाद संन्यास लेने की मेरी इच्छा थी।'

भारत और पाकिस्तान के बीच नवंबर 2008 में हुए मुंबई हमले के बाद से द्विपक्षीय सीरीज नहीं हुई है। दोनों देशों के बीच 2007 में आखिरी बार टेस्ट सीरीज हुई थी जिसमें भारत के कप्तान अनिल कुंबले थे तो पाकिस्तान की कमान शोएब मलिक के हाथों में थी। इस सीरीज़ में भारत ने पाकिस्तानी टीम को तीन मैचों की टेस्ट में 1-0 से हराया था।

पिछले साल के आखिर में भी दोनों देशों के बीच सीरीज होने की उम्मीद थी लेकिन विभिन्न कारणों से वह भी नहीं हो पाई थी। नंबर एक टेस्ट टीम के कप्तान मिस्बाह ने कहा, ' दोनों देशों के क्रिकेट फैंस में क्रिकेट के प्रति प्यार और जुनून को देखकर लगता है कि भारत और पाकिस्तान को एक-दूसरे के खिलाफ खेलना चाहिए।' पाकिस्तान की टीम पहली बार आइसीसी टेस्ट रैंकिंग में नंबर वन बनी थी और आइसीसी ने पाकिस्तान के कप्तान मिस्बाह उल हक को टेस्ट चैंपियनशिप गदा सौंपी थी।

क्रिकेट की खबरों के लिए यहां क्लिक करें

अन्य खेलों की खबरों के लिए यहां क्लिक करें

Posted By: Pradeep Sehgal

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप