(वसीम अकरम का कॉलम)

महेंद्र सिंह धौनी और उनकी टीम के लिए वेस्टइंडीज के खिलाफ आगामी सीरीज बेहद अहम है। मुझे लगता है कि विश्व कप की तैयारियों के लिहाज से यह एक दिलचस्प सीरीज साबित होगी। भारतीय चयनकर्ता विश्व कप को ध्यान में रखकर टीम चयन की पहेली सुलझाने का प्रयास कर रहे हैं। जब भी मैं किसी एक खिलाड़ी के बारे में सोचता हूं जिसे तुरंत भारतीय टीम में शामिल करना चाहिए, तो मेरे मन में रॉबिन उथप्पा का नाम आता है। इसलिए नहीं क्योंकि मैं कोलकाता नाइटराइडर्स का कोच हूं, बल्कि एक क्रिकेट समीक्षक के तौर पर मैं यह बात कह रहा हूं। वह सीधे बल्ले से खेलते हैं, उनकी फिटनेस बेहतरीन है और उनकी विकेटकीपिंग में भी सुधार हुआ है, जो किसी भी टीम के लिए बोनस की तरह है।


हमें यह याद रखना होगा कि भारत को जनवरी में ऑस्ट्रेलिया में त्रिकोणीय सीरीज खेलनी है और उसमें लगभग वही 15 खिलाड़ी होंगे जिन्हें विश्व कप के लिए चुना जाएगा। ऐसे में खिलाडिय़ों के पास खुद को साबित करने का यह आखिरी मौका है। विश्व कप में बल्लेबाजी भारत के लिए बेहद अहम रहने वाली है। दो नई गेंद के साथ उछाल भी वहां एक फैक्टर हो सकता है। उपमहाद्वीप के बल्लेबाज ऐसे हालात में संघर्ष करते हैं, लेकिन चार टेस्ट मैच और त्रिकोणीय वनडे सीरीज से टीम इंडिया को हालात से तालमेल बैठाने में मदद मिलेगी।


इस समय मैं एक खिलाड़ी के लिए बहुत खुश हूं और वह हैं कुलदीप यादव। वह मैदान पर अपना सौ प्रतिशत देते हैं और बेहद मेहनती हैं। वह अपनी तरह के इकलौते गेंदबाज हैं। जब सुनील गावस्कर जैसा दिग्गज यह कहे कि कुलदीप को टीम में चुना जाना चाहिए तो उनकी बात सुननी जरूरी है। सुनील क्रिकेट प्रतिभाओं को तलाशने में माहिर हैं और मैं उनकी बात से पूरी तरह सहमत हूं।
वेस्टइंडीज की टीम भारत को चुनौती देगी। सीमित ओवर प्रारूप में विंडीज की टीम के प्रदर्शन का अनुमान लगाना मुश्किल है। विंडीज को क्रिस गेल और सुनील नरेन की कमी भी खलेगी। भारत इस सीरीज में दावेदार के रूप में उतरेगा खासकर यह देखते हुए कि यह सीरीज उसके घरेलू मैदान पर खेली जानी है।

(टीसीएम)

क्रिकेट की अन्य खबरों के लिए यहां क्लिक करें

खेल जगत से जुड़ी अन्य खबरों के लिए यहां क्लिक करें

Posted By: Jagran News Network

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस