नई दिल्ली (बिजनेस डेस्क)। सरकार नौ छोटी बचत योजनाओं का संचालन करती है, जिनमें से 8 सात फीसद या फिर इससे ज्यादा ब्याज दर ग्राहकों को उपलब्ध करवाती है। इन योजनाओं में पांच वर्षीय रेकरिंग डिपॉजिट, टाइम डिपॉजिट (टीडी), मंथली इनकम स्कीम, सीनियर सिटिजन सेविंग स्कीम (एससीएसएस), पब्लिक प्रोविडेंट फंड (पीपीएफ), नेशनल सेविंग सर्टिफिकेट्स, किसान विकास पत्र और सुकन्या समृद्धि योजना शामिल। ये सभी योजनाएं बैंक एवं पोस्ट ऑफिस की ओर से उपलब्ध करवाई जाती हैं।

जानकारी के लिए आपको बता दें कि इन सभी बचत योजनाओं पर मिलने वाले ब्याज में सरकार तिमाही आधार पर संशोधन करती रहती है। आपको उन सभी बचत योजनाओं के बारे में जानकारी होनी चाहिए जो कि 7 फीसद या उससे ऊपर का ब्याज उपलब्ध करवाती हैं।

पांच वर्षीय रेकरिंग डिपॉजिट: इस छोटी बचत योजना पर वर्तमान समय में 7.3 फीसद की दर से ब्याज दिया जा रहा है। मैच्योरिटी पूरी होने पर 10 रुपये प्रति महीने का रेकरिंग डिपॉजिट 725.05 रुपए का रिटर्न देता है। पोस्ट ऑफिस के पांच वर्षीय रेकरिंग डिपॉजिट को सालाना आधार पर अगले पांच वर्षों के लिए बढ़ाया जा सकता है।

टाइम डिपॉजिट स्कीम: टाइम डिपॉजिट स्कीम में एक वर्ष, दो वर्ष या तीन वर्ष की मैच्योरिटी वाली योजना संचालित होती है। ये तीनों 7 फीसद का ब्याज देती हैं। वहीं पोस्ट ऑफिस की पांच वर्षीय मैच्योरिटी वाली टाइम डिपाजिट स्कीम में 7.8 फीसद की दर से ब्याज दिया जाता है। इस योजना में ब्याज का भुगतान सालाना आधार पर किया जाता है लेकिन इसकी गणना सालाना आधार पर होती है।

मंथली इनकम स्कीम: मंथली इनकम स्कीम यानी एमआईएस 7.3 फीसद के आधार पर ब्याज मुहैया करवाती है। पोस्ट ऑफिस में संचालित होने वाली मंथली इनकम स्कीम में ब्याज का भुगतान मासिक आधार पर किया जाता है। इस खाते को खोलने के लिए न्यूनतम 1500 रुपये का निवेश जरूरी है। वहीं इसमें अधिकतम 4.5 लाख रुपये का निवेश किया जा सकता है। खाता खुलवाने के पहले या बाद आप नॉमिनेशन करवा सकते हैं। इस खाते को ट्रांसफर भी करवाया जा सकता है।

सीनियर सिटिजन सेविंग स्कीम: 60 साल या उससे ऊपर का व्यक्ति इसमें अकाउंट खोल सकते हैं। 55 साल से 60 साल की उम्र के बीच में रिटायर होने वाले या वीआरएस (स्वैच्छिक सेवानिवृत्ति) लेने वाले व्यक्ति भी रिटायरमेंट के तीन माह पहले तक यह खाता खोल सकते हैं। इस खाते को आप न्यूनतम 1000 रुपये या फिर इसके गुणांकों में खुलवा सकते हैं। इस खाते में अधिकतम 15 लाख रुपये तक जमा करवाए जा सकते हैं जिस पर सालाना आधार पर 8.7 फीसद का ब्याज मिलता है।

15 वर्षीय पब्लिक प्रोविडेंट फंड अकाउंट: यह खाता महज 100 रुपये में खोला जा सकता है। खाताधारकों को इस खाते में पूरे वित्त वर्ष में न्यूनतम 500 रुपये एवं अधिकतम 1.50 लाख जमा करवाने होते हैं। इस खाते का मैच्योरिटी पीरियड 15 साल का है। इसमें आप ज्वाइंट अकाउंट भी खुलवा सकते हैं। इसमें भी नॉमिनेशन की सुविधा मिलती है। इस योजना में 8 फीसद की दर से ब्याज मिल रहा है।

नेशनल सेविंग सर्टिफिकेट: नेशनल सेविंग सर्टिफिकेट स्कीम में 8 फीसद की दर से ब्याज दिया जा रहा है। इस स्कीम के तहत किया जाने वाला निवेश आयकर की धारा 80C के अंतर्गत टैक्स कटौती का क्लेम करने योग्य होता है। इस पर ब्याज गणना चक्रवृद्धि आधार पर सालाना होती है लेकिन इसका भुगतान मैच्योरिटी के वक्त होता है। यह खाता मात्र 100 रुपये में खोला जा सकता है और ये 100 रुपये 5 वर्ष बाद मैच्योरिटी पर 146.93 रुपये हो जाते हैं।

किसान विकास पत्र: किसान विकास पत्र योजना पर 7.7 फीसद के आधार पर ब्याज दिया जाता है। इस स्कीम में निवेश 112 महीनों (9 साल 4 महीने) तक किया जाता है। मात्र 1000 रुपये के निवेश के साथ इस खाते को पोस्ट ऑफिस में खोला जा सकता है।

सुकन्या समृद्धि योजना: इस खाते को पोस्ट ऑफिस में खोला जा सकता है। इस स्कीम में एक वित्त वर्ष के दौरान न्यूनतम 1,000 रुपये और अधिकतम 1,50,000 रुपयों का निवेश करना होता है। इसमें लंप-संप निवेश किया जा सकता है। एक महीने में या वित्तीय वर्ष में जमा की संख्या पर कोई सीमा नहीं है। एक वैधानिक अभिभावक या मूल अभिभावक लड़की के नाम पर अकाउंट खुलवा सकते हैं। यह खाता लड़की के पैदा होने के अगले 10 वर्षों के भीतर खुलवाया जा सकता है। इस खाते पर 8.5 फीसद की दर से ब्याज मिलता है। लड़की के 21 साल पूरे होने पर यह खाता बंद हो जाता है।

यह भी पढ़ें: Happy New Year 2019: नए साल में निवेश पर कौन-सी सरकारी स्कीम देगी बेहतर रिटर्न, किसमें होगा फायदा

पोस्ट ऑफिस के इन सेविंग स्कीम में मिलता है टैक्स का लाभ, जानिए इसकी खासियत

Posted By: Praveen Dwivedi

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप