मुंबई, पीटीआइ। देश में 25 मार्च से लॉकडाउन अब भी लागू है और यही वजह है कि रिजर्व बैंक बैंकिंग लेनदेन के लिए डिजिटल माध्यमों का इस्तेमाल करने पर जोर दे रहा है। केंद्रीय बैंक ने बुधवार को भी यह बात एक फिर दोहराई। राष्ट्रीय आपदा प्रबंधन प्राधिकरण (NDMA) ने कोरोना वायरस संक्रमण को फैलने से रोकने के लिए लॉकडाउन के चौथे चरण की हाल में घोषणा की है, जो 31 मई तक चलेगा। राष्ट्रव्यापी लॉकडाउन के इस समय में डिजिटल भुगतान माध्यमों का इस्तेमाल अधिक महत्वपूर्ण हो गया है।  

(यह भी पढ़ेंः PMVVY: Union Cabinet का बड़ा फैसला, अब 31 मार्च 2023 तक उठा सकेंगे इस पेंशन योजना का लाभ)

केंद्रीय बैंक ने माइक्रोब्लॉगिंग वेबसाइट पर एक अभियान लांच करके कहा है कि डिजिटल भुगतान माध्यमों का इस्तेमाल करते हुए लोग घर पर सुरक्षित रहते हुए किसी भी समय बैंकिंग लेनदेन कर सकते हैं। आरबीआइ के अभियान में जोर देकर कहा गया है, ''आपके सुरक्षित घर से सेफ डिजिटल लेनदेन हो सकता है।'' 

NEFT, IMPS और UPI जैसे डिजिटल भुगतान विकल्प का इस्तेमाल किसी भी समय बैंकिंग लेनदेन के लिए किया जा सकता है। 

 (यह भी पढ़ेंः कोरोना का असर: Ola 1,400 कर्मचारियों की करेगी छंटनी, आमदनी 95 फीसद घटी)

आरबीआइ गवर्नर शक्तिकांत दास ने इससे पहले लोगों से सोशल डिस्टेंसिंग कायम रखने के लिए डिजिटल बैंकिंग सहित सभी तरह के एहतियाती कदम उठाने की अपील की थी। हालांकि, आरबीआइ ने अपने ग्राहकों से डिजिटल लेनदेन करते समय सतर्क रहने को कहा है और किसी भी तरह की धोखाधड़ी होने पर बैंक को सूचित करने को कहा है।

Posted By: Ankit Kumar

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस