नई दिल्‍ली, बिजनेस डेस्‍क। पेंशन बुढ़ापे का एक बड़ा सहारा है। इसे देखते हुए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने प्रधानमंत्री वय वंदना योजना (Pradhan Mantri Vaya Vandana Yojana) लॉन्‍च की थी। इस योजना के तहत तय दर के अनुसार गारंटीड पेंशन मिलती है। इसके ग्राहक भारतीय जीवन बीमा निगम यानी LIC को एकमुश्‍त रकम देकर हर महीने एक तय राशि पेंशन के तौर पर प्राप्‍त कर सकते हैं। बुधवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की अध्‍यक्षता में हुई केंद्रीय कैबिनेट की बैठक में य‍ह फैसला लिया गया कि इसकी अवधि 31 मार्च 2020 से बढ़ाकर 31 मार्च 2023 कर दिया जाए। 

प्रधानमंत्री वय वंदना योजना की प्रात्रता

प्रधानमंत्री वय वंदना योजना (Pradhan Mantri Vaya Vandana Yojana) यानी PMVVY में न्‍यूनतम 60 साल के वरिष्‍ठ नागरिक ही निवेश कर सकते हैं। आपको बता दें कि इस पेंशन स्‍कीम में निवेश के लिए अधिकतम उम्र की कोई सीमा नहीं है। इस योजना में ग्राहक अधिकतम 15 लाख रुपये तक का निवेश कर सकते हैं। 

यह भी पढ़ें : EPF में कर्मचारी जमा कर सकते हैं 10% से अधिक राशि, सरकार ने किया स्पष्ट

Pradhan Mantri Vaya Vandana Yojana के लिए आवेदन करने का तरीका

प्रधानमंत्री वय वंदना योजना में आवेदन के लिए आपको (भारतीय जीवन बीमा निगम) LIC के कार्यालय से संपर्क करना होगा। उम्‍मीद है कि पहले की तरह ही थोड़े दिनों में ऑनलाइन भी आप इस योजना का लाभ उठा पाएंगे। 31 मार्च 2020 सकी अंतिम तारीख होने की वजह से फिलहाल आप इसके लिए ऑनलाइन अप्‍लाई नहीं कर सकते हैं। आप LIC के कार्यालय से योजना का फॉर्म लेकर, उसके साथ अपने जरूरी दस्‍तावेज लगाकर किसी भी ऑफिस में जाकर जमा करवा सकते हैं। 

यह भी पढ़ें : PM Kisan: ऐसे जानें सरकार ने आपके अकाउंट में 2,000 रुपये भेजे हैं या नहीं, स्टेप-बाय-स्टेप प्रोसेस

PMVVY योजना में निवेश के लिए ग्राहकों को निम्न दस्‍तावेज जमा करवाने होते हैं :

  1. एड्रेस प्रूफ की कॉपी
  2. पैन कार्ड की कॉपी
  3. चेक की कॉपी या बैंक पासबुक के पहले पेज की कॉपी

इतनी मिलती है पेंशन

इस योजना के अंतर्गत कम से कम 1,000 रुपये और अधिकतम 10,000 रुपये तक पेंशन का लाभ आप उठा सकते हैं। ग्राहक अगर 1,000 रुपये प्रति माह की पेंशन चाहते हैं, तो उन्हें 1,50,000 रुपये जमा करवाने होंगे। वहीं, अगर वे 10,000 रुपये प्रति माह की पेंशन पाना चाहते हैं, तो उन्हें इसके लिए 15,00,000 रुपये जमा करवाने होंगे। आपको बता दें कि ये गणना 31 मार्च 2020 को समाप्‍त हुई योजना के आधार पर की गई है। 

Posted By: Manish Mishra

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस