नई दिल्ली, पीटीआइ। Digital payments and financial services firm Paytm अक्टूबर तक अपना 16,600 करोड़ रुपये का आरंभिक सार्वजनिक निर्गम (IPO) ला सकती है। सूत्रों ने यह जानकारी दी है। कंपनी ने भारतीय प्रतिभूति एवं विनिमय बोर्ड (SEBI) के पास 15 जुलाई को IPO के लिए दस्तावेज जमा कराए हैं। इस पर सेबी की प्रतिक्रिया सितंबर के मध्य तक मिलने की उम्मीद है। इसके बाद कंपनी जल्द से जल्द लिस्टेड होना चाहती है।

मामले से जुड़े एक सूत्र ने बताया कि ऐसा अनुमान लगाया जा रहा है कि सेबी दस्तावेजों पर दो माह में जवाब देगा। दस्तावेज मिलने के बाद पेटीएम आईपीओ के लिए आवेदन करेगी। यह प्रक्रिया नियामकीय मंजूरियों पर निर्भर है, अगर यह तय समयसीमा के हिसाब से चलती है, तो आईपीओ अक्टूबर तक आएगा। हालांकि, इस बारे में पेटीएम ने भेजे गए ई-मेल का जवाब नहीं दिया।

यह भी पढ़ें: आपके Aadhaar का कहीं गलत इस्तेमाल तो नहीं हुआ, घर बैठे ऐसे लगाएं पता

मसौदा दस्तावेज के अनुसार, कंपनी की योजना ताजा इक्विटी जारी करके 8,300 करोड़ रुपये और बिक्री के लिए प्रस्ताव के माध्यम से 8,300 करोड़ रुपये जुटाने की है। पेटीएम के संस्थापक, प्रबंध निदेशक और मुख्य कार्यकारी अधिकारी विजय शेखर शर्मा और अलीबाबा समूह की कंपनियां प्रस्तावित बिक्री के प्रस्ताव में अपनी कुछ हिस्सेदारी को कम करेंगी। कंपनी अपने 16600 करोड़ रुपए के इश्यू में 8300 करोड़ रुपए का फ्रेश इश्यू जारी करेगी। कंपनी का इश्यू 50:50 के अनुपात में बंटा रहेगा। पेटीएम में Berkshire Hathaway Inc, चीन के Ant Group और जापान के SoftBank का निवेश है।

गौरतलब है कि Paytm के आईपीओ लांच करने के लिए पिछले महीने जून की शुरुआत में कंपनी के बोर्ड से मंजूरी मिली थी। पेटीएम के बड़े निवेशकों में चीन की अलीबाबा और एंट ग्रुप है जिसके पास मिलाकर 38 फीसद हिस्सेदारी है। जापान के सॉफ्ट बैंक के पास 18.73 फीसद हिस्सेदारी है।

Edited By: Nitesh