नई दिल्ली, बिजनेस डेस्क। केंद्र सरकार ने शनिवार को कहा कि भारत इस वित्त वर्ष में 100 बिलियन डॉलर का विदेशी निवेश आकर्षित कर सकता है। यह देश में बड़े पैमाने पर सरकार की ओर से व्यापार को आसान बनाने के कारण संभव हो पाएगा।

वाणिज्य और उद्योग मंत्रालय ने बयान जारी कर कहा कि देश के 31 राज्यों और 57 सेक्टरों में 101 से अधिक देशों से विदेशी निवेश (FDI) आता है। हाल ही में अहम आर्थिक बदलावों और व्यापार को आसान बनाने के नियमों के चलते भारत चालू वित्त वर्ष में एफडीआई में 100 बिलियन डॉलर के आंकड़े को छू सकता है।

सरकार ने नियमों को आसान बनाया

मंत्रालय की ओर से कहा गया कि विदेशी निवेश को आकर्षित करने के लिए सरकार ने पिछले कुछ समय में अपनी नीतियों को पारदर्शी और उदार बनाया है। इसके साथ ही सरकार ने अधिकतर सेक्टरों में एफडीआई के लिए ऑटोमेटिक रूट खोले हैं।

इसके साथ ही आगे कहा गया कि दिशानिर्देशों और विनियमों के उदारीकरण के कारण कंपनियों पर अनावश्यक अनुपालन बोझ को कम हुआ है और भारत में व्यापार करना आसान हो पाया है।

इक्विटी एफडीआई में गिरावट

इस वित्त वर्ष की पहली तिमाही यानी अप्रैल- जून के बीच इक्विटी एफडीआई गिरकर 16.6 बिलियन डॉलर रह गया है, जो कि पिछले वित्त वर्ष के मुकाबले समान अवधि में 6 प्रतिशत कम है।

खिलौनों के आयात में हुईं बड़ी गिरावट

देश में खिलौनों के आयात में वित्त वर्ष 2021-22 में 70 फीसदी प्रतिशत की गिरावट हुई है। यह गिरकर 877 करोड़ रुपये पर आ गया है। दूसरी तरफ खिलौना निर्यात में 61 प्रतिशत का उछाल आया है और यह बढ़कर 326 बिलियन डॉलर पर पहुंच गया है।

ये भी पढ़ें-

Moonlighting से आखिर क्यों घबराई हैं आईटी कंपनियां, जानिए क्या है पूरा प्रकरण

Byju's ने आकाश एजुकेशनल के अधिग्रहण की बकाया राशि का किया भुगतान, ब्लैकस्टोन को मिले 1900 करोड़ रुपये

Edited By: Abhinav Shalya

जागरण फॉलो करें और रहे हर खबर से अपडेट