नई दिल्ली, बिजनेस डेस्क। आरबीआई द्वारा आज रेपो रेट में 35 आधार अंक या 0.35 प्रतिशत की वृद्धि की गई है। इस वृद्धि के बाद देश में होम लोन, कर लोन, पर्सनल लोन और अन्य सभी के लोन की ब्याज दर में एक बार फिर से इजाफा देखने को मिल सकता है।

आज हुई बढ़ोतरी को मिलाकर पिछले कुछ महीनों में हुए ब्याज दरों में 2.25 प्रतिशत का इजाफा हो चुका है, जिसका सीधा असर बैंकों की ओर से दिए जाने वाले लोन पर देखने को मिल रहा है। आज हम इस लेख में आपको बताएंगे कि ब्याज दर में बढ़ोतरी के बाद आपकी ब्याज दर में कितना इजाफा हो सकता है।

2.25 प्रतिशत बढ़ी ब्याज दर

आरबीआई ने बढ़ती महंगाई को काबू करने के लिए रेपो रेट को बढ़ाना शुरू किया था। मई में 0.40 प्रतिशत, जून में 0.50 प्रतिशत, अगस्त में 0.50 प्रतिशत सितंबर में 0.50 प्रतिशत और दिसंबर में 0.35 प्रतिशत का इजाफा किया गया है। इस तरह पिछले साल महीनों में ब्याज दर में 2.25 प्रतिशत का इजाफा हुआ है। इस कारण रेपो रेट 4 प्रतिशत से बढ़कर अब 6.25 प्रतिशत हो गया है। 

होम लोन पर बढ़ गई ईएमआई

उदाहरण के लिए आपने एबीसी बैंक से 20,00,000 रुपये का होम लोन 7.00 प्रतिशत की ब्याज पर 15 सालों के लिए अप्रैल 2022 में लिया था। उस समय में ईएमआई 17,977 रुपये बनती थी, लेकिन अगर ब्याज दरों में हुई 2.25 प्रतिशत की बढ़ोतरी को मिला दिया जाए, तो अब आपको 9.25 प्रतिशत की दर पर उसी लोन के लिए अब 20,584 रुपये भरने होंगे।

ये भी पढ़ें-

RBI Repo Rate Hike: इन 10 बिंदुओं में समझें आरबीआई गवर्नर शक्तिकांत दास के संबोधन की प्रमुख बातें

RBI Repo Rate Hike: महंगाई पर आरबीआई का एक और प्रहार, फिर बढ़ा रेपो रेट; महंगा होगा लोन, बढ़ेगी EMI

 

Edited By: Abhinav Shalya

जागरण फॉलो करें और रहे हर खबर से अपडेट