Move to Jagran APP

Bihar Politics: शेखपुरा के 150 गांवों गोद लेने वाले भोला बाबू, क्या बिहार की सियासत में आजमाएंगे हाथ?

अरिस्टो फार्मा कंपनी के प्रबंध निदेशक उमेश शर्मा ने शेखपुरा के 150 गांवों को गोद लिया है। इन गांवों में वह शिक्षा स्वास्थ्य रोड पानी स्कूल के विकास का काम करा रहे हैं। उनका लक्ष्य बिहार में सौ और गांवों को गोद लेकर उसका विकास करना है। रविवार को शेखपुरा के मेहुस गांव में पहुंचे उमेश शर्मा ने राजनीति और चुनाव लड़ने पर पूछे गए सवालों का भी जवाब दिया।

By Mohit Tripathi Edited By: Mohit Tripathi Published: Sun, 10 Mar 2024 04:51 PM (IST)Updated: Sun, 10 Mar 2024 04:51 PM (IST)
शेखपुरा के 150 गांवों गोद लेने वाले भोला बाबू। (जागरण फोटो)

जागरण संवाददाता, शेखपुरा। अरिस्टो फार्मा कंपनी के प्रबंध निदेशक उमेश शर्मा उर्फ भोला बाबू ने शेखपुरा के डेढ़ सौ गांवों को गोद लिया है। यहां पर वह शिक्षा, स्वास्थ्य, संपर्क पथ, पानी, शौचालय, स्कूल इत्यादि क्षेत्र में विकास का काम करा रहे हैं। वह गांवों में सौर ऊर्जा प्लेट लगाने का काम भी करा रहे हैं।

रविवार को जिले के मेहुस गांव में आयोजित समारोह में शामिल होने के लिए आए उमेश शर्मा ने कहा कि उनका उद्देश्य बिहार में सौ और गांवों को गोद लेकर उनका विकास करना है। इसी संकल्प के साथ वे आज शेखपुरा के मेहुस गांव आए हैं।

मेहुस गांव पहुंचने पर ग्रामीणों के द्वारा उनका भव्य स्वागत किया गया। इससे पहले वे बरबीघा में रुके। यहां उन्होंने डॉ श्रीकृष्ण सिंह की प्रतिमा पर माल्यार्पण किया। इस दौरान उन्होंने कहा कि बिहार केसरी ने बिहार के विकास में बड़ी भूमिका रखी थी। उन्होंने सभी समाज के विकास का सतत काम किया।

उमेश शर्मा ने बताया कि कॉरपोरेट सामाजिक जिम्मेदारी (सीएसआर) के तहत मेहुस पंचायत के गांवों को गोद लेकर काम कराया जा रहा। यहां अभी चापाकल, सौर्य प्लेट और सामुदायिक भवन बनाने का काम किया जाएगा।

उमेश शर्मा ने कहा कि गांव में अब बरात को ठहराने में दिक्कत हो रही है। स्कूल में बारात ठहरने में प्रतिबंध लग गया है। इस वजह से उनके द्वारा गांव में सामुदायिक भवन बनाया जा रहा है। जहां बारात के रहने की सभी व्यवस्था की जाएगी। इस गांव में भी जमीन उपलब्ध होगी तो उनके द्वारा सामुदायिक भवन बनाया जाएगा।

राजनीति से मेरे काम का कोई लेना-देना नहीं

इस दौरान मीडिया से वार्ता के क्रम में उन्होंने कहा कि वह राजनीति करने के लिए नहीं आए हैं। इस तरह के कार्यक्रमों का राजनीति से कोई लेना-देना नहीं है। वह गया जैसे सुरक्षित लोकसभा सीट में भी विकास का काम कर रहे हैं। बिहार के डेढ़ सौ गांवों को गोद लेकर विकास किया जा रहा है।

लोकसभा चुनाव लड़ने पर क्या कहा

भोला बाबू ने आगे कहा कि कंपनी के सामाजिक जिम्मेवारी के तहत यह काम किया जा रहा है। चुनाव लड़ने का उनका कोई इरादा नहीं है। केवल विकास के संकल्प के साथ क्षेत्र में काम कर रहे हैं।

ये लोग रहे मौजूद

इस दौरान के साथ शेखपुरा जिला परिषद अध्यक्ष निर्मला देवी, मेहुस मुखिया जय राम सिंह, पुर्व मुखिया चितरंजन सिंह, मुखिया दीपक कुमार, हथियावां निवासी साकेत कुमार इत्यादि लोगों की सहभागिता देखी गई।

यह भी पढ़ें: 'कांग्रेस की गोद में बैठे हैं Lalu Yadav...' OBC सम्मेलन में अमित शाह ने RJD सुप्रीमो पर क्यों कह दी ऐसी बात?

'सुभाष यादव जैसे लोग लालू के लिए मनी लॉन्ड्रिंग मशीन', इधर ED की छापेमारी; उधर भाजपा नेता ने ले लिए दर्जनभर नाम


This website uses cookies or similar technologies to enhance your browsing experience and provide personalized recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.