सारण। मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने पथ निर्माण विभाग की परियोजनाओं को बेहतर तरीके से मूर्त रुप देने को लेकर सारण के जिलाधिकारी दीपक आनंद को सम्मानित किया है।

बिहार राज्य पथ विकास निगम लिमिटेड पटना के सातवें स्थापना दिवस पर सोमवार को पटना में आयोजित समारोह में मुख्यमंत्री ने सारण के जिलाधिकारी दीपक आनंद को प्रशस्ति पत्र देकर सम्मानित किया है। जिला जनसंपर्क अधिकारी बीके शुक्ला ने बताया कि डीएम दीपक आनंद ने न केवल सारण जिले में पथ निर्माण विभाग की परियोजनाओं को धरातल पर उतारने में सफलता अर्जित की है बल्कि वर्षो से लंबित दीघा-पहलेजा रेल सह सड़क पुल को चालू कराने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई। जिसके वजह से दीघा-पहलेजा रेल पुल चालू हो सका। डीएम ने इस रेल पुल को चालू कराने में रोड़ा बने भरपुरा में अतिक्रमित दो सौ मकानों को शांतिपूर्वक एवं सफलता पूर्वक अतिक्रमण मुक्त कराकर रेलवे को सौंप दिया। जिसके वजह से ही दीघा-पहलेजा रेल सह सड़क पुल चालू हो सका। डीएम दीपक आनंद को सम्मानित करने के दौरान पटना में आयोजित समारोह में उप मुख्यमंत्री तेजस्वी यादव, विकास आयुक्त शिशिर सिन्हा, पथ निर्माण विभाग के परामर्शी सुधीर कुमार एवं पथ निर्माण विभाग के सचिव पंकज कुमार मौजूद थे। सम्मानित होने पर डीएम दीपक आनंद ने अपनी प्रतिक्रिया व्यक्त करते हुए कहा कि इसका श्रेय सारणवासियों को जाता है क्योंकि उनके सहयोग के बिना यह मुकाम पाना मुश्किल था। वहीं डीएम के सम्मानित होने पर जिले के वरीय अधिकारियों ने उन्हें बधाई दी है।