समस्तीपुर। यात्री सुविधाओं के साथ ही अन्य व्यवस्थाओं को बेहतर बनाने के लिए रेलवे सुरक्षा बल ने अब आरपीएफ मित्र का सहारा लेने का निर्णय लिया है। इसके लिए प्रत्येक रेल खंड पर पांच-पांच आरपीएफ मित्र की तैनाती करनी है। इनके माध्यम से मिलने वाले फीडबैक के आधार पर सुधारात्मक कार्रवाई की जाएगी। उक्त बातें बुधवार को मंडल रेल प्रबंधक कार्यालय स्थित मंथन सभागार में आरपीएफ अपराध गोष्ठी के दौरान मंडल सुरक्षा आयुक्त अंशुमान त्रिपाठी ने कही। कमांडेंट ने कहा कि यात्रियों को होने वाली परेशानी से निजात दिलाने और उन पर त्वरित कार्रवाई करने के लिए आरपीएफ मित्र योजना शुरू की गई है। इसके माध्यम से रेलवे में घटित होने वाले किसी प्रकार के अपराध, दुर्घटना, रेल हित में रेल यात्री की सुरक्षा के बारे में जानकारी दी जाएगी। इसके लिए सभी आरपीएफ पोस्ट के इंस्पेक्टर को आरपीएफ मित्र बनाते हुए मोबाइल नंबर उपलब्ध कराने को कहा। मौके पर सहायक मंडल सुरक्षा आयुक्त अजीत कुमार शाही, सीआईबी इंस्पेक्टर राम उदार मिश्रा, आरपीएफ इंस्पेक्टर आलम अंसारी, विनोद कुमार विश्वकर्मा आदि उपस्थित रहे। लंबित मामलों के निपटारा को बनाया टीम

कमांडेंट ने कहा कि मंडल के सभी आरपीएफ पोस्ट में छह महीने से अधिक के सभी लंबित मामलों का निपटारा कराया जाना है। ऐसा नहीं करने वालों के विरुद्ध सख्त कार्रवाई की जाएगी। रेलवे एक्ट के लंबित मामलों का निपटारा के लिए स्पेशल टीम बनाया गया है। टीम सभी आरपीएफ पोस्ट पर जाकर मामलों के अनुसंधान में मदद करते हुए निपटारा कराएगी। इसके अलावा अवैध वेंडरिग, चेन पुलिग, आपराधिक घटना की रोकथाम, एसएलआर और लीज की चेकिग, यात्री सामान की सुरक्षा को लेकर आवश्यक निर्देश दिया। सिक्योरिटी प्लान पर हुई चर्चा

कमांडेंट ने समस्तीपुर जंक्शन का सिक्योरिटी प्लान पर भी चर्चा की। साथ ही दरभंगा को नया प्लान तैयार कराने को कहा। सिक्योरिटी प्लान फाइनल होते ही स्टेशन में अनाधिकृत प्रवेश पर रोक लग सकेगी। लोकसभा चुनाव और हाई अलर्ट के मद्देनजर रेलवे स्टेशन और ट्रेनों में सुरक्षा व्यवस्था दुरुस्त रखने को कहा। बुलेट प्रुफ जैकेट व हेलमेट उपलब्धता की जानी स्थिति

कमांडेंट ने आरपीएफ के लिए बुलेट प्रुफ जैकेट और हेलमेट की उपलब्धता की स्थिति, लंबित कोर्ट केस के मामलों का विवरण, सभी आरपीएफ पोस्ट का इम्प्रेस्ट का विवरण, बैरक निर्माण कार्य की स्थिति, अपराध, रेल सामग्री एवं बुक प्रेषण और लंबित मामलों के विवरण की जांच की।

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप