पटना, राज्‍य ब्‍यूरो। बिहार बिधानसभा चुनाव की उल्‍टी गिनती शुरू होते ही महागठबंधन के नेताओं में भी गरमाहट आने लगी है। खासकर, राष्‍ट्रीय जनता दल (RJD) के सुप्रीमो लालू प्रसाद यादव (Lalu Prasad Yadav) से मिलकर राष्‍ट्रीय लोक समता पार्टी (RLSP) के राष्‍ट्रीय अध्‍यक्ष उपेंद्र कुशवाहा (Upendra Kushwaha) फ्रेश-फ्रेश हो गए हैं। इतना ही नहीं, वे इतने तरोताजा हो गए हैं कि लालू से मिलने के 24 घंटे के अंदर रविवार को प्रेस कॉन्‍फ्रेंस कर महागठबंधन (Mahagathbandhan) पर बड़ी बात कही। कहा कि महागठबंधन का दायरा बढ़ाया जाएगा। इसके दायरे में कई और दलों को शामिल किया जाएगा।

उपेंद्र कुशवाहा ने कहा है कि बिहार के महागठबंधन का विस्तार होगा। इसमें आने वाले दिनों में वामदलों को भी जोडऩे की कोशिश होगी। उन्होंने कहा कि 12 अक्टूबर को पटना के बापू सभागार में डॉ. राममनोहर लोहिया (Dr Ram Manoha Lohia) की पुण्यतिथि पर महागठबंधन की ओर से सम्मेलन आयोजित किया जा रहा है। इस सम्मेलन में वामदलों को भी न्योता दिया जाएगा।  

इसे भी पढ़ें: सीएम पद के लिए तेजस्‍वी के नाम पर कांग्रेस को एतराज, गोहिल ने कही बड़ी बात

कुशवाहा शनिवार को रांची में थे और उन्होंने वहां राजद प्रमुख लालू प्रसाद से मुलाकात की। कुशवाहा ने कहा कि विधानसभा चुनाव में वामदलों को भी साथ लाने की कोशिश होगी। उनके इस कथन से यह बात के कयास लगाए जा रहे हैं कि लालू से मुलाकात के क्रम में उन्हें इस संबंध में राजद सुप्रीमो की ओर से कोई न कोई सहमति अवश्य दी गई है। कुशवाहा ने कहा कि इस वर्ष होने वाले उपचुनाव हम साथ लड़ेंगे। इस दौरान महागठबंधन के पुराने स्वरूप में कोई बदलाव नहीं होगा। उन्होंने कहा कि हम प्रमुख जीतनराम मांझी महागठबंधन के प्रमुख सहयोगी हैं। 

इसे भी पढ़ें: Ram Jethmalani: चारा घोटाला में लालू के रहे वकील, बेटे तेजप्रताप की शादी में आए थे पटना

प्रदेश के नारों की सियासत से जुड़े एक सवाल पर कुशवाहा ने कहा कि सत्ताधारी दल सचेत हो गया है। इस वजह से नया नारा दिया है। लेकिन सच्चाई यह है कि अचेत अवस्था में ही ज्यादातर लोग सही बात बोलते हैं। उन्होंने कहा कि इसलिए कहा जा सकता है कि जदयू की ओर से पहले जारी किया गया नारा ही सही था।

Posted By: Rajesh Thakur

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप