पटना [जेएनएन]। पटना नोट्रेडेम की छात्रा मरियम रजा खान के घर में आज खुशियां ही खुशियां हैं। हर कोई उसे मिठाई खिला रहा है। बधाई देने वालों का तांता लगा हुआ है। दअरसल मरियम ने सीबीएसई 12वीं में बिहार टॉपर बन गयी है। उसे उम्मीद थी कि वह अच्छे अंक से पास करेगी। लेकिन यह उम्मीद नहीं थी कि टॉप कर जाएगी। मरियम ने दैनिक जागरण से बात करते हुए अपनी सफलता का राज बताया और उसने यह भी बताया कि वह क्या बनना चाहती है। 

किताबों का अध्‍ययन बहुत जरूरी

सीबीएसई 12वीं में 489 अंक लाकर 97.8 परसेंटाइल प्राप्त करनेवाली मरियम रजा खान आइआइटियन बनना चाहती है। उसने जेईई मेन की परीक्षा भी दी है। मरियम ने बातचीत में बताया कि सीबीएसई की परीक्षा में बेहतर करने के लिए एनसीईआरटी की किताबों पर विशेष ध्यान देने की जरूरत है। इन किताबों का गंभीरता से अध्ययन करने के बाद बार-बार रिवीजन भी बहुत जरूरी है। 

 इसे भी पढें - CBSE Class 12th result 2019: बिहार टॉपर बनी पटना की मरियम, टॉप थ्री में 12 बच्‍चे शामिल

स्‍कूल भी समय पर व नियमित जाएं 

नियमित क्लास करने वाली मरियम के अनुसार छात्रों को भ्रम रहता है कि स्कूल कम जाने से बेहतर तैयारी होती है। परीक्षा में बेहतर प्रदर्शन करने के लिए छात्र एनसीईआरटी की किताबों का अध्ययन करने के अलावा जरूरत पडऩे पर रेफरेंस बुक की मदद ले सकते हैं। पूर्व के वर्षों के सवालों को बनाने से भी परीक्षा के बारे में काफी जानकारी मिलती है। 

इसे भी पढ़ें - CBSE Class 12th result 2019: बिहार के सेकंड टॉपर राघव व जुनैद की सफलता का राज, जानें

घूमना-फिरना भी पसंद है मरियम को 

मरियम क्लास वन से लेकर 12वीं तक नोट्रेडेम की छात्रा रही है। उसकी माता डॉ. शाहिना खान एवं पिता तारिक रजा खान अपने निजी स्कूल के संचालक हैं। मरियम का एक भाई एवं एक बहन है। मां के अनुसार उनकी बेटी पढ़ाई के प्रति गंभीर रही है। किताब पढऩे का शौक शुरू से रहा है। किताब पढऩे के अलावा उसे घूमना-फिरना भी काफी पसंद है।

Posted By: Rajesh Thakur

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस