पटना, राज्य ब्यूरो: जदयू संसदीय बोर्ड के अध्यक्ष उपेंद्र कुशवाहा के बागी तेवर पर मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने मंगलवार को कहा कि उनके लिए जदयू मे काफी इज्जत है। उनके मन में क्या है यह तो वही बताएंगे। बाहर बोलते हैं, पर हमसे बात नहीं करते। उनसे बात होगी तभी हम जान सकेंगे कि उनके मन में क्या बात है। हमसे तो कोई बात नहीं कर रहे। एक कार्यक्रम से लौटने के क्रम में पत्रकारों से बातचीत के दौरान सीएम नीतीश ने यह बात कही।

नीतीश कुमार ने कहा कि वह तो कई बार पार्टी छोड़कर आए और गए। इस बार भी 2021 में आए। बराबर बात करते थे, पर इधर बात नहीं हुई है। क्या इच्छा है वही बताएंगे, जिसे जो मन मे आए बोलें, बोलते रहें कोई मतलब नहीं है। जदयू में उनके लिए क्या रास्ता बंद हो गया? इस सवाल पर मुख्यमंत्री ने कहा कि यह तो वही बता सकते हैं।

कार्यक्रम के दौरान सीएम ने इशारों में साधा निशाना 

मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने मंगलवार को बिना किसी का नाम लिए इशारे-इशारे में आरसीपी सिंह व उपेंद्र कुशवाहा पर निशाना साधा। राजधानी स्थित बापू सभागार में जदयू द्वारा आयोजित कर्पूरी जयंती के मौके पर अपने संबोधन के क्रम में उन्होंने कहा कि जिसे आगे बढ़ा देते हैं, वह भाग जाता है। उनका इशारा जदयू के पूर्व राष्ट्रीय अध्यक्ष आरसीपी सिंह पर था। नीतीश कुमार ने उन्हें राज्यसभा सदस्य बनाया और बाद में राष्ट्रीय अध्यक्ष का भी पद दिया। बाद मे वह पार्टी छोड़कर चले गए।

वहीं, उपेंद्र कुशवाहा का नाम लिए बगैर मुख्यमंत्री ने अपने संबोधन में यह कहा कि कुछ लोग आ जाते हैं और फिर भागने की कोशिश करते हैं। पार्टी को इससे कोई फर्क नहीं पड़ता, जिसे जो मन में आए करे। पार्टी में तो सभी लोग मिलकर काम करते हैं। कोई दायें-बायें नहीं करता। मुख्यमंत्री ने कहा कि मेरा कोई स्वार्थ नहीं है। मेरी एक ही इच्छा है कि बिहार आगे बढ़े और जननायक कर्पूरी ठाकुर के सपनों को साकार करें। राष्ट्रपिता महात्मा गांधी की बातों को याद रखें, इन्हें कभी भूलना नहीं है।

यह भी पढ़ें- Liqour Death: नीतीश पर बरसे नेता प्रतिपक्ष, सिन्हा बोले- CM नीतीश के अहंकारी रवैये के कारण लागू हुई शराबबंदी

Edited By: Prateek Jain

जागरण फॉलो करें और रहे हर खबर से अपडेट